Avatar

About स्वदेशी उपचार

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

ग्वारपाठे के लड्डू – गोखरू एवं गोंद मिलाकर बनायें

ग्वारपाठे के लड्डू :- सर्दियों के मौसम में हमारे यहाँ लड्डू, पाक आदि स्वास्थ्य वर्द्धक पकवानों का चलन रहता है | आ...

Continue reading

गोदंती भस्म

गोदंती भस्म के उपयोग एवं बनाने की विधि

गोदंती भस्म आयुर्वेद चिकित्सा की महत्वपूर्ण एंटीफीवर दवा है | यह बुखार, जीर्ण ज्वर (पुराना बुखार), मलेरिया आदि मे...

Continue reading

सत्यानाशी / स्वर्णक्षीरी / Mexican Prickly Poppy

भारत के प्रत्येक राज्य में सत्यानाशी के पौधे देखने को मिल जाते है | ये खाली पड़ी जमीन, जंगल, बंजर भूमि एवं मैदानों...

Continue reading

नौसादर (ammonium chloride) के उपयोग एवं शोधन की विधि

आयुर्वेद में नौसादर का उपयोग सैंकड़ो सालों से होते आया है | लगभग आठवी शताब्दी से यह द्रव्य चिकित्सार्थ प्रचलन में ...

Continue reading

जानें प्रवाल पिष्टी कैसे बनती है ?

प्रवाल पिष्टी प्रवाल अर्थात जिसे मूंगा (Corallium Rubrum) भी कहते से बनने वाली एक आयुर्वेदिक दवा है | यह अत्यंत ठ...

Continue reading

वाराहीकंद / Dioscorea Detail in Hindi

वाराहीकंद जिसे जिमीकंद, डुक्करकंद एवं रतालू आदि नामों से जाना जाता है यह अफ्रीका एवं चीनी क्षेत्रों का देशज पौधा ...

Continue reading

Ashwagandha

अश्वगंधा, शतावरी, कौंच बीज, सफ़ेद मुसली और तालमखाना – 5 बलवृद्धक जड़ी – बूटियाँ

जो शारीरिक एवं यौन रूप से कमजोर है वे आयुर्वेदिक तरीकों से अपनी खोई हुए काम शक्ति को वापस पाना चाहते है | आयुर्वे...

Continue reading

करंज – Karanj Detail | परिचय, फायदे और औषधीय गुण

Karanj in Hindi - वैदिक काल से ही करंज का इस्तेमाल आयुर्वेद चिकित्सा एवं धार्मिक कार्यों में किया जाता रहा है | आ...

Continue reading

वमन कर्म क्या है | जानें इसके फायदे एवं करने की विधि

वमन कर्म - आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति का एक भाग है पंचकर्म | इस पंचकर्म चिकित्सा में मुख्यत: पांच कर्म किये जाते है...

Continue reading