अभयारिष्ट (Abhyarishta) सिरप – फायदे, घटक द्रव्य एवं निर्माण विधि

अभयारिष्ट Abhyarishta in Hindi :- आयुर्वेद में आसव एवं अरिष्ट कल्पना की औषधियों का अपना एक अलग महत्व है | ये दवाए...

Continue reading

नागफनी / Prickly Pear – आयुर्वेदिक परिचय एवं फायदे

नागफनी - विशेषकर सूखे एवं बंजर प्रदेशों में अधिक पैदा होती है | नागफनी को थूहर या थोर आदि नामों से भी जाना जाता ह...

Continue reading

ग्वारपाठे के लड्डू – गोखरू एवं गोंद मिलाकर बनायें

ग्वारपाठे के लड्डू :- सर्दियों के मौसम में हमारे यहाँ लड्डू, पाक आदि स्वास्थ्य वर्द्धक पकवानों का चलन रहता है | आ...

Continue reading

समीर पन्नग रस के फायदे, बनाने की विधि एवं सावधानियां

समीर पन्नग रस आयुर्वेद की शास्त्रोक्त दवा है | इसे न्युमोनिया, श्वांस, कास, बुखार एवं संधिवात जैसे रोगों में प्रय...

Continue reading

करीर (Caparis Decidua Edgew) आयुर्वेदिक परिचय

Caparidaceae फॅमिली की यह वनस्पति पौधा झाड़ीनुमा होता है | यह कांटेदार, घना, बारीक़ शाखायुक्त 6 से 7 फीट ऊँची वनस्प...

Continue reading

गोदंती भस्म

गोदंती भस्म के उपयोग एवं बनाने की विधि

गोदंती भस्म आयुर्वेद चिकित्सा की महत्वपूर्ण एंटीफीवर दवा है | यह बुखार, जीर्ण ज्वर (पुराना बुखार), मलेरिया आदि मे...

Continue reading

सौभाग्य शुंठी पाक / Saubhagya Sunthi Pak – उपयोग, लाभ एवं नुकसान |

Saubhagya Sunthi Pak एक आयुर्वेदिक औषधि है जो सूतिकारोग, भूख की कमी, आमवात, बुखार एवं खांसी आदि की समस्या में प्र...

Continue reading

सत्यानाशी / स्वर्णक्षीरी / Mexican Prickly Poppy

भारत के प्रत्येक राज्य में सत्यानाशी के पौधे देखने को मिल जाते है | ये खाली पड़ी जमीन, जंगल, बंजर भूमि एवं मैदानों...

Continue reading

नौसादर (ammonium chloride) के उपयोग एवं शोधन की विधि

आयुर्वेद में नौसादर का उपयोग सैंकड़ो सालों से होते आया है | लगभग आठवी शताब्दी से यह द्रव्य चिकित्सार्थ प्रचलन में ...

Continue reading