Ayurvedic Medicine Archives - स्वदेशी उपचार

Category: Ayurvedic Medicine

अणु तेल 0

अणु तेल – जानें इसकी निर्माण विधि, फायदे एवं स्वास्थ्य लाभ

अणु तेल / Anu Tailam  आयुर्वेद में उर्ध्वजत्रुगत (गर्दन से ऊपर) रोगों के लिए अणु तेल का उपयोग नस्य के रूप में किया जाता है | सिरदर्द, पुराना जुकाम, नाक की एलर्जी (छींके आना,...

कैशोर गुग्गुलु 0

कैशोर गुग्गुलु – फायदे, स्वास्थ्य लाभ एवं कैसे बनता है ? की सम्पूर्ण जानकारी ||

कैशोर गुग्गुलु / Kaishore Guggulu in Hindi आयुर्वेद चिकित्सा में गुग्गुलु कल्पना के तहत बनाई जाने वाली आयुर्वेदिक दवा है | कैशोर गुग्गुलु का प्रयोग वातरक्त , गठिया , मन्दाग्नि, शोथ एवं शरीर में...

त्रिकटु 0

त्रिकटु चूर्ण – जानें इसके फायदे , घटक द्रव्य एवं घर पर तैयार करने की विधि

त्रिकटु चूर्ण / Trikatu Churna (त्र्युषण) पिप्पली श्रंगवेरं च मरिचं त्र्युष्ण विदु: |  अर्थात शुंठी, कालीमिर्च एवं पिप्पली इन तीनो के मिश्रण को त्रिकटु कहा जाता है | यहाँ त्रिकटु का मतलब तीन कटू...

गोक्षुरादी गुग्गुलु 0

गोक्षुरादि गुग्गुलु / Gokshuradi guggulu – के स्वास्थ्य उपयोग एवं घटक द्रव्य

गोक्षुरादि गुग्गुलु / Gokshuradi Guggulu In Hindi  आयुर्वेद की गुग्गुलु कल्पना के तहत बनाये जाने वाली आयुर्वेदिक दवा है | गोक्षुरादि गुग्गुलु में गोक्षुर (गोखरू) एवं गुग्गुलु प्रधान औषध द्रव्य होते है | गोक्षुर...

चंद्रप्रभा वटी 0

चंद्रप्रभा वटी के घटक द्रव्य एवं बनाने की विधि और जाने इसके फायदे

चन्द्रप्रभा वटी / Chandraprabha vati in Hindi परिचय – आयुर्वेद चिकित्सा में चंद्रप्रभा वटी को उत्तम रसायन औषधि माना जाता है | मूत्र विकारों एवं शुक्रदोषों के लिए यह एक चमत्कारिक आयुर्वेदिक वटी है...

सिंहवाहिनी वटी 0

शुक्र स्तंभक एवं कफज विकारों की अचूक औषधि – सिंहवाहिनी वटी

सिंहवाहिनी वटी – शीघ्रपतन एवं नपुंसकता का अचूक इलाज  जैसा नाम वैसा काम | सिंहवाहिनी वटी के बारे में पढने के बाद आपको पता चलेगा की यह औषधि कितनी कारगर है |   इस औषधि...

पुनर्नवाष्टक क्वाथ 0

पुनर्नवाष्टक क्वाथ के घटक द्रव्य एवं उपयोग

पुनर्नवाष्टक क्वाथ – आयुर्वेद चिकित्सा में क्वाथ औषधियों का उपयोग रोग के शमनार्थ पुरातन समय से ही किया जाता रहा है | क्वाथ रूप में औषधि का सेवन तीव्र स्वास्थ्य लाभ देता है, तभी...

अविपत्तिकर चूर्ण 0

अविपत्तिकर चूर्ण को बनाने की विधि एवं इसके उपयोग / फायदे

अविपत्तिकर चूर्ण – हाइपर एसिडिटी एवं अजीर्ण रोग में आयुर्वेद पद्धति का सबसे विश्वनीय चूर्ण है | अधीक अम्लीय पदार्थो के सेवन एवं आहार में अम्लता की अधिकता के कारण शरीर में हाइपर एसिडिटी...

रास्नासप्तक क्वाथ 0

रास्नासप्तक क्वाथ (Rasnasaptak Kwath) – फायदे एवं घटक द्रव्य ||

रास्नासप्तक क्वाथ परिचय – यह एक आयुर्वेदिक प्रशिद्ध क्वाथ है जिसका उपयोग गंभीर आमवात की समस्या में किया जाता है | आयुर्वेद चिकित्सा में क्वाथ औषधियों का उपयोग प्राचीन समय से ही होता आया...

सिंहनाद गुग्गुलु 0

सिंहनाद गुग्गुलु – जाने इसके फायदे, निर्माण विधि एवं घटक द्रव्य

सिंहनाद गुग्गुलु (Singhnad Guggulu) – आयुर्वेद की यह दवा वातदोषों के उपचारार्थ उपयोग में ली जाती है | इसका प्रयोग आमवात , वातरक्त, रुमाटाइड पेन एवं संधिशूल में किया जाता है | शरीर में...