Indukantham kashayam क्या है ? इसके उपयोग एवं फायदे

Indukantham kashayam in Hindi एक शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक दवा है | यह उदर विकार जैसे भूख की कमी, पेट दर्द, गैस, अपच...

Continue reading

जहर मोहरा पिष्टी के फायदे एवं बनाने की विधि जानें

जहर मोहरा पिष्टी :- एक यूनानी क्लासिकल फार्मूलेशन है जिसका निर्माण जहर मोहरा नामक पत्थर से किया जाता है | यह दवा ...

Continue reading

अभयारिष्ट (Abhyarishta) सिरप – फायदे, घटक द्रव्य एवं निर्माण विधि

अभयारिष्ट Abhyarishta in Hindi :- आयुर्वेद में आसव एवं अरिष्ट कल्पना की औषधियों का अपना एक अलग महत्व है | ये दवाए...

Continue reading

समीर पन्नग रस के फायदे, बनाने की विधि एवं सावधानियां

समीर पन्नग रस आयुर्वेद की शास्त्रोक्त दवा है | इसे न्युमोनिया, श्वांस, कास, बुखार एवं संधिवात जैसे रोगों में प्रय...

Continue reading

करीर (Caparis Decidua Edgew) आयुर्वेदिक परिचय

Caparidaceae फॅमिली की यह वनस्पति पौधा झाड़ीनुमा होता है | यह कांटेदार, घना, बारीक़ शाखायुक्त 6 से 7 फीट ऊँची वनस्प...

Continue reading

गोदंती भस्म

गोदंती भस्म के उपयोग एवं बनाने की विधि

गोदंती भस्म आयुर्वेद चिकित्सा की महत्वपूर्ण एंटीफीवर दवा है | यह बुखार, जीर्ण ज्वर (पुराना बुखार), मलेरिया आदि मे...

Continue reading

सौभाग्य शुंठी पाक / Saubhagya Sunthi Pak – उपयोग, लाभ एवं नुकसान |

Saubhagya Sunthi Pak एक आयुर्वेदिक औषधि है जो सूतिकारोग, भूख की कमी, आमवात, बुखार एवं खांसी आदि की समस्या में प्र...

Continue reading

नौसादर (ammonium chloride) के उपयोग एवं शोधन की विधि

आयुर्वेद में नौसादर का उपयोग सैंकड़ो सालों से होते आया है | लगभग आठवी शताब्दी से यह द्रव्य चिकित्सार्थ प्रचलन में ...

Continue reading

जानें प्रवाल पिष्टी कैसे बनती है ?

प्रवाल पिष्टी प्रवाल अर्थात जिसे मूंगा (Corallium Rubrum) भी कहते से बनने वाली एक आयुर्वेदिक दवा है | यह अत्यंत ठ...

Continue reading

हरताल का शोधन – मारण एवं स्वास्थ्य उपयोग

हरताल जिसे अंग्रेजी में Arsenic Trisulfide कहते है | यह एक धात्विक खनिज पदार्थ है | आयुर्वेद चिकित्सा शास्त्रों म...

Continue reading