स्वास्थ्य
0
गुग्गुल का औषधीय पौधा (Guggul in Hindi)
0

गुग्गुल को गुग्गुलु, कौशिक, गुगल आदि नामों से भी जाना जाता है | आज इस आर्टिकल में हम आपको गुग्गुल का पौधा के औषधीय गुण धर्म गुग्गुल के लाभ, फायदे एवं ...

0
बुखार की 10 बेहतरीन आयुर्वेदिक दवा – Bukhar ki 10 Best Ayurvedic Medicine
0

ज्वर (बुखार) एक सामान्य रोग है | अगर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है तो सर्दी जुखाम एवं बुखार जैसे रोग होने की संभावना भी ज्यादा रहती है | खासकर सर्दियों ...

1
मांसरोहिणी / Mansrohini क्या है ? फायदे एवं नुकसान
1

मांसरोहिणी एक जंगली वृक्ष है जो आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में पुरातन समय से ही उपयोग होते आया है | इसे विभिन्न नामों से पुकारा जाता है जैसे रोहिणी, रोहण आदि | ...

0
इरिमेदादि तेल / Irimedadi Oil in Hindi
0

इरिमेदादि तेल / Irimedadi Oil : - दांतों के रोगों के लिए यह बहुत ही विश्वनीय आयुर्वेदिक तेल है | इसका कुल्ला आदि करने से मसूडों की मवाद, पीव, सडन, दांतों में ...

0
पथ्य अपथ्य (Pathya Apathya in Hindi) की जानकारी |
2

आयुर्वेद एक बहुत ही विस्तृत चिकित्सा पद्धति है | यह पुर्णतः वैज्ञानिक दृष्टिकोण पर तैयार की गयी है | अगर हम आयुर्वेद में वर्णित सिद्धांतो के अनुरूप जीवन यापन ...

0
छुहारा पाक के फायदे और बनाने की विधि
0

छुहारा पाक : आयुर्वेद की शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक दवा है | यह पुरुष यौनकमजोरियों की अचूक औषधि है | इसका निर्माण छुहारे के द्वारा किया जाता है | पुरुषों में होने ...

0
अग्नितुण्डी वटी (Agnitundi Vati in Hindi)
1

अग्नितुण्डी वटी आयुर्वेद की शास्त्रोक्त रस - रसायन प्रकरण की दवा है | रस - रसायन प्रकरण से तात्पर्य है कि इन दवाओं का निर्माण खनिज द्रव्यों, प्राणिज द्रव्यों ...

1
सिद्ध मकरध्वज वटी क्या है ? जानें बनाने की विधि, प्राइस एवं फायदे
-1

सिद्ध मकरध्वज वटी : आयुर्वेद चिकित्सा की सुप्रशिद्ध औषधि है | इसका प्रयोग यौन विकारों के उपचारार्थ किया जाता है | इस औषधि के बारे में कहा गया है कि यह अत्यंत ...

0
खदिरारिष्ट / Khadirarishtam in Hindi – घटक, फायदे एवं सेवन की विधि
0

खदिरारिष्ट आयुर्वेद की क्लासिकल सिरप फॉर्म की मेडिसिन है | यह आसव एवं अरिष्ट कल्पना की दवा है | जो मुख्य रूप से चर्म रोग एवं रक्त विकारों में प्रमुखता से ...

0
कामिनी विद्रावण रस (Kamini Vidrawan Ras) घटक द्रव्य एवं फायदे
2

कामिनी विद्रावण रस आयुर्वेद की क्लासिकल मेडिसिन है | यह दवा वीर्य स्तंभन गुणों से युक्त होती है | इसके सेवन से जल्दी होने वाले वीर्यपात से आराम मिलता है | ...

0
कांकायन वटी (अर्श) क्या है ? घटक द्रव्य, फायदे
1

कांकायन वटी शास्त्रोक्त निर्माण विधि के अनुसार दो प्रकार की होती है | कांकायन वटी अर्श प्रमुख रूप से खुनी एवं बादी दोनों प्रकार की बवासीर के लिए बहुत ही अच्छी ...

0
Vasant Kusumakar Ras in Hindi / वसंत कुसुमाकर रस
0

वसंत कुसुमाकर रस :- आयुर्वेद की रस रसायन प्रकरण की शास्त्रोक्त दवा है | यह टेबलेट फॉर्म में बाजार में धूतपापेश्वर, पतंजलि, बैद्यनाथ आदि कंपनियों की मिल जाती ...

स्वदेशी उपचार
Logo
Open chat
Hello
Can We Help You