Divya Medha Vati Patanjali benefits | पतंजलि मेधा वटी के फायदे

मेधा वटी पतंजलि आयुर्वेद का उत्पाद है | यह स्मरण शक्ति एवं मस्तिष्क विकारों के लिए उपयोग होने वाली औषधि है | यहाँ इस आर्टिकल में हम आपको medha vati patanjali benefits in hindi के बारे में विस्तार से बताएँगे | इसके फायदे एवं नुकसान, दिव्य मेधा वटी के घटक एवं इसकी सामान्य जानकारी आदि के बारे में हमने यहाँ इस आर्टिकल में बताया है |

यह दवा मष्तिष्क विकारों जैसे स्मरण शक्ति की कमी, मिर्गी, तनाव एवं माइग्रेन आदि में प्रयोग करवाई जाती है | इस दवा का उपयोग हमेंशा वैद्य सलाह से ही करना चाहिए | औषधि के बारे में सामान्य जानकारियां आप निचे दी गई टेबल के माध्यम से समझ सकते है |

Medicine NameDivya Medha Vati (मेधा वटी)
MFG CompanyPatanjali Ayurveda
IngredientsBrahmi – ब्राह्मी, Shankhpushpi – शंखपुष्पी, Vacha – वचा, Jatamanshi – जटामांसी and 12 more herbs are used for manufacturing
UsesEpilepsy (मिर्गी), Loss of Memory (कमजोर याददास्त), Migrain (सिरदर्द), Depression (तनाव), etc.
PriceRs. 250
Doses1 to 2 tablets according to Ayurveda Doctor
Availability Online and Offline

Medha vati Patanjali को memory बूस्टर के रूप में जाना जाता है | यह एंटीओक्सिडेंट एवं अडापटोजेनिक गुणों से युक्त होती है | ये गुण इसे मस्तिष्क विकारों में फायदेमंद औषधि बनाते है | अनिद्रा की समस्या हो, मिर्गी रोग, सिरदर्द हो या एंग्जायटी इन सभी में दिव्य मेधा वटी लाभदायक औषधि है |

medha vati patanjali benefits in hindi

चलिए अब आपको इस दवा के निर्माण में उपयोग होने वाली जड़ी – बूटियों से परिचित करवाते है |

मेधा वटी के घटक द्रव्य | Divya Medha Vati Ingredeints in Hindi

  1. शंखपुष्पी – 54.70 mg
  2. ब्राह्मी – 54.70 mg
  3. उस्ताखदूस – 43.70 mg
  4. मीठी वचा – 43.70 mg
  5. अश्वगंधा – 43.70 mg
  6. सौंफ – 19.20 mg
  7. मालकांगनी – 43.70 mg
  8. गोजिह्वा – 17.0 mg
  9. जहर मोहरा पिष्टी – 19.30 mg
  10. प्रवाल पिष्टी – 17.0 mg
  11. जटामांसी – 11.25 mg
  12. मोतीपिष्टी – 11.25 mg
  13. ब्राह्मी एक्सट्रेक्ट – 11.25 mg
  14. शंखपुष्पि एक्सट्रेक्ट – 11.25 mg
  15. मालकांगनी एक्सट्रेक्ट – 43.70 mg
  16. वच एक्सट्रेक्ट – 43.70 mg

Indication of Patanjali Medha vati | चिकित्सकीय उपयोग

  • मिर्गी (Epilapsy)
  • सिरदर्द (Headache)
  • तनाव (Stress)
  • कमजोर स्मरणशक्ति (Loss of memory)
  • अनिद्रा (Sleeplessness)
  • चिंता (Stress)

Medha vati patanjali benefits in hindi | पतंजलि मेधा वटी के फायदे हिंदी में

यहाँ हमने दिव्य मेधा वटी के फायदों के बारे में विस्तार से बताया है | इन सभी रोगों में पतंजलि मेधा वटी का इस्तेमाल किया जाता है | हालाँकि दवा बैगर पर्चे के मिलने वाली आयुर्वेदिक औषधि है लेकिन उपयोग से पहले वैद्य चिकित्सक से परामर्श पश्चात ही इस औषधि का सेवन करना चाहिए |

निम्न फायदों में medha vati patanjali benefits in hindi को समझ सकते है | चलिए जानते है मेधा वटी एक्स्ट्रा पॉवर के फायदे के बारे में

अनिद्रा (Insomania) में मेधा वटी के फायदे – Insomania अर्थात नींद न आने की समस्या में यह दवा काफी फायदेमंद है | इस दवा में ब्राह्मी एवं शंखपुष्पी जैसी जड़ी बूटियां है जो व्यक्ति के मस्तिष्क को शांत करके उसे गहरी एवं अच्छी नींद देती है | साथ ही इसे लम्बे समय तक सेवन करने पर भी इसकी आदत नहीं लगती | अत: मॉडर्न मेडिसिन की तरह इस दवा पर निर्भरता खत्म हो जाती है |

मिर्गी (Epilepsy) के उपचार में – मिर्गी रोग मस्तिष्क विकृति का ही एक परिणाम है | यह दवा Nervous System पर अपना असर छोड़ती है | इसके सेवन से मिर्गी दौरों में कमी आती है | इसके Anti-oxident गुण फ्री रेडिकल्स के कारण नर्वस सिस्टम में हुए नुकसान की भरपाई करने का कार्य करते है | अत: मिर्गी के उपचार में यह औषधि काफी लाभदायक साबित होती है |

सिरदर्द (Migraine) के उपचार में – माइग्रेन एक बहुत ही पीड़ादायी रोग है | नियमित तौर पर इस समस्या में सिरदर्द की स्थिति बनी रहती है | सिरदर्द की समस्या में यह दवा एक प्रभावी दवा के रूप में साबित होती है एवं सेवन करते ही कुच्छ ही समय में अपना असर दिखाती है |

स्मरणशक्ति (Improve memory) बढ़ाने में – पतंजलि मेधा वटी एक बहुत ही प्रभावी ब्रेन टॉनिक है | यह आपकी याददास्त को तेज करने एवं भूलने की बीमारी का उपचार करती है | ब्राह्मी, शंखपुष्पी एवं जटामांसी जड़ी – बूटियां मस्तिष्क को तेज करने का कार्य करती है | एकाग्रता बढ़ाने के लिए भी यह दवा लाभदायक है |

मानसिक तनाव में मेधा वटी के फायदे – डिप्रेशन एक भयंकर समस्या है | नेगेटिव थॉट्स, व्यापार में घाटा, नौकरी की समस्याएँ आदि मनुष्य को डिप्रेशन में ले जाती है | एसी स्थिति में रोगी नकारात्मक विचारों से झुझता रहता है | medha vati patanjali benefits in hindi के रूप में यह दवा तनाव को दूर करने का कार्य करती है | मस्तिष्क को शांत करके नए विचार एवं सकारात्मक सोच को बढाती है |

दिव्य मेधा वटी खुराक एवं सेवन की विधि

अगर रोगी ऊपर वर्णित रोगों से पीड़ित है तो पतंजलि मेधा वटी टेबलेट्स की 1 से 2 गोली प्रतिदिन वैद्य सलाह से सेवन कर सकते है | इस दवा का सेवन एक गिलास दूध के साथ किया जाना चाहिए | इसे सभी उम्र के व्यक्ति सेवन कर सकते है | वयस्क व्यक्तियों एवं बच्चों के लिए यह खुराक निम्न प्रकार है –

5 साल से कम – 1/4 भाग दिन में दो बार

किशोर – 1/2 गोली दिन में दो बार

वयस्क – 2 गोली सुबह – शाम दूध के साथ

मेधा वटी के संभावित नुकसान | Side Effects of Patanjali Medha vati in Hindi

सामान्यत: इस दवा के कोई ज्ञात साइड इफेक्ट्स नहीं है | पतंजलि मेधा वटी पूर्णत: आयुर्वेदिक घटकों अर्थात जड़ी – बूटियों से निर्मित होने वाली औषधि है | लेकिन इसका सेवन वैद्य सलाह से ही करना चाहिए | अगर निर्धारित मात्रा से अधिक सेवन कर ली जाये तो इर्रीटेसन, पेट में जलन जैसे साइड इफेक्ट्स दिखाई दे सकते है |

Patanjali Medha Vati Price – Rs. 195 on Amazon

धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *