पूर्ण चंद्रोदय रस (Poorna Chadrodaya Ras) के फायदे एवं उपयोग

आयुर्वेद में पूर्ण चंद्रोदय रस को महा औषधि का दर्जा दिया गया है | चंद्रोदयरस (Poorna Chandrodaya Ras) कामशक्ति को बढाने एवं स्तंभन के लिए सुप्रशिद्ध है | इसमें शुद्ध पारा, गंधक एवं स्वर्ण वर्क जैसी औषधियों का योग है |

पूर्ण चंद्रोदय रस
पूर्ण चंद्रोदय रस

यह एक कुपी सिद्ध (पक्व) रसायन है | पुरुषों में यौन कमजोरियों के लिए यह बहुत ही फायदेमंद औषधि है | यह बल एवं वीर्य की वृद्धि करता है तथा स्तंभन दोष को दूर करने की क्षमता रखता है | इस लेख में हम इस रसायन को बनाने की विधि, घटक द्रव्य एवं इसके उपयोग के बारे में चर्चा करेंगे |

पूर्ण चंद्रोदय रस बनाने की विधि एवं घटक द्रव्य / Preparation of Poorna Chandrodaya Ras in Hindi

यह कूपी सिद्ध रसायन है | इसको बनाने के लिए निम्न घटक (Ingredients) की आवश्यकता होती है :-

  • स्वर्ण वर्क – चार तोला
  • शुद्ध पारा – 32 तोला
  • गंधक (शुद्ध) – 64 तोला
  • कपास के फुल (लाल) एवं ग्वारपाठा का रस – भावना देने के लिए
  • कपूर – 4 तोला
  • जायफल, सफ़ेद मरीच, लौंग – सभी 3 – 3 माशे

बनाने की विधि / Preparation process

पूर्ण चंद्रोदय रस को बनाने के लिए निम्न विधि का उपयोग किया जाता है :-

  • सर्वप्रथम शुद्ध पारा एवं स्वर्ण वर्क को खरल में डाल कर अच्छे से मर्दन करें |
  • इसे तब तक मर्दन करें जब तक स्वर्ण वर्क एवं पारा आपस में अच्छे से विलीन न हो जाएँ |
  • इसके बाद इसमें शुद्ध गंधक को मिलाकर मर्दन करके कज्जली बना लें |
  • अब इस कज्जली को कपूर के फुल एवं ग्वारपाठा के रस की एक एक भावना दें |
  • इसे अब कपड़मिट्टी की हुयी शीशे की बोतलों में डाल लें |
  • इन बोतलों को अब बालुका यन्त्र में रखकर मृदु, मध्यम एवं तीक्ष्ण आंच पर तीन दिन तक पकाएं |
  • जब यह श्वांग शीतल हो जाये तो शीशे को तोड़कर गले पर लगे रस को निकाल लें |
  • अब इसमें अन्य द्रव्यों को मिलाकर अच्छे से खरल कर लें |
  • इस मिश्रण को पान के रस में घोंट कर छोटी छोटी गोलियां बना लें |
  • इस तरह से पूर्ण चंद्रोदय रस तैयार हो जाता है |

पूर्ण चंद्रोदय रस का सेवन एवं अनुपान कैसे करें ?

इस रसायन की एक – दो गोली गर्म दूध के साथ सेवन करें | अगर केवल कूपी सिद्ध रसायन है तो एक रत्ती में 2 रत्ती अनुपान द्रव्यों का चूर्ण मिलाकर पान में रखकर सेवन करें |

पूर्ण चंद्रोदय रस के फायदे एवं उपयोग / Poorna Chandrodaya Ras Benefits in Hindi

यह रसायन बल वर्धक है | इसका वीर्य की कमी एवं स्तंभन दोष को दूर करने के लिए यह एक सुप्रशिद्ध दवा है | यह शरीर की सभी धातुओं को पुष्ट करता है | इसके सेवन से औज एवं स्फूर्ति की प्राप्ति होती है | यह पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को संतुलित करता है | आइये जानते हैं पूर्ण चंद्रोदय रस के फायदे :-

  • यह वीर्य की कमी एवं शुक्रदोष दूर करता है |
  • इसके सेवन से कामशक्ति की वृद्धि होती है |
  • यह वयः स्थापक है |
  • इसके सेवन से दिमाग तंदरुस्त होता है |
  • पूर्ण चंद्रोदय रस कफ़ विकारों जैसे खांसी, आदि में भी बहुत फायदेमंद है |
  • इसमें स्तंभक गुण होते हैं |

नुकसान एवं सावधानियां / Side Effects of Poorna Chandrodaya Ras in Hindi

यूँ तो पूर्ण चंद्रोदय रस बहुत ही फायदेमंद औषधि है | लेकिन इसमें पारा एवं गंधक जैसी धातुएं है, अगर इसका सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाये यो यह बहुत हानिकारक हो सकता है | इसलिए ध्यान रखें हमेशां चिकित्सक के दिशा निर्देशों के अनुसार ही इसका सेवन करें |

धन्यवाद !

आपके लिए लाभकारी लेख :-

One thought on “पूर्ण चंद्रोदय रस (Poorna Chadrodaya Ras) के फायदे एवं उपयोग

  1. Mukesh Kumar says:

    मुझे सेक्स करने में बहुत दिक्कत है, कभी तो मुझे लगता है मेरी सेक्स पावर बिल्कुल खत्म हो गयी है , मुझे ऐसा कुछ बताओ मेरी सेक्स पावर 16 साल जैसे हो जाये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *