अर्द्धनारी नटेश्वर रस : एक बूंद नाक में डालने से बुखार गायब

आयुर्वेद में कुछ ऐसी दवाएं हैं जिनमें अलौकिक शक्तियां देखने को मिलती हैं | अर्द्धनारी नटेश्वर रस भी एक ऐसी ही औषधि है | आयुर्वेद ग्रंथो के अनुसार इस दवा का नस्य देने से भर से बुखार गायब हो जाता है | आइये जानते हैं इस दवा के बारे में :-

अर्द्धनारी नटेश्वर रस क्या है / What is Ardh nari nateshwar ras

यह आयुर्वेद में रस रसायन परिकल्पना की औषधि है | इसका उपयोग मुख्यतः विषम ज्वर में किया जाता है | इसके लिए इसका नस्य बकरी के दूध या अदरक के रस के साथ दिया जाता है | इस औषधि में शुद्ध पारा, गंधक और विष का योग होता है | इसका वर्णन रसेन्द्र सार संग्रह और रस चंडाशु में मिलता है |

अर्द्ध नारी नटेश्वर रस के घटक / ingredients

  • शुद्ध पारा – 1 तोला
  • गंधक (शुद्ध) – 1 तोला
  • शुद्ध विष – 2 तोला
  • शोधित जमालघोटा – 2 तोला
  • काली मिर्च का चूर्ण – 4 तोला
  • त्रिफला का काढ़ा – भावना देने की लिए

अर्द्धनारी नटेश्वर रस बनाने की विधि /Ardh nari nateshwar ras preparation

इस रस को बनाने के लिए सबसे पहले पारा और गंधक की कज्जली बनानी होती है | इस कज्जली को अन्य द्रव्यों के साथ मिलाकर त्रिफला के काढ़े के साथ मर्दन करें | मर्दन करने के बाद त्रिफला रस से 5 भावना देकर इसको छाया में सुखा लें | इस तरह से अर्द्धनारी नटेश्वर रस तैयार हो जाता है |

सेवन और अनुपान की विधि / how to use ardh nari nateshwar ras

इसका नस्य दिया जाता है | इसको रोगानुसार निम्न प्रकार उपयोग करते हैं :-

  • बुखार होने पर जम्बिरी निम्बू के रस के साथ नस्य दें |
  • या बकरी के दूध के साथ नस्य दें |
  • सन्निपात होने पर अदरक के रस के साथ नस्य दें |

अर्द्धनारी नटेश्वर रस के फायदे एवं उपयोग / uses and benefits

इस रस में इतनी अलौकिक शक्ति है की शरीर में बढ़ी हुयी गर्मी को खिंच लेता है | विषम ज्वर में यह बहुत उपयोगी औषधि है | इसका नस्य देने से ज्वर कम हो जाता है | इस रस का उपयोग सन्निपात, विषम ज्वर, सर दर्द, मूर्च्छा, कफ की प्रबलता आदि में किया जाता है |

सन्निपात और मूर्च्छा होने पर इसका उपयोग अदरक के रस के साथ किया जाता है | अदरक के रस में मिलाकर इसका नस्य देने पर शीघ्र लाभ मिलता है | ज्वर एवं कफ़ विकारों में इसका उपयोग निम्बू के रस या बकरी के दूध में मिलाकर किया जाता है |

धन्यवाद !

यह भी पढ़ें :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

स्वदेशी उपचार में आपका स्वागत है
जड़ी - बूटियों, आयुर्वेदिक दवाओं एवं आयुर्वेद के सिद्धांतों को समझने का विश्वसनीय वेबपोर्टल है | कृप्या पूरा लेख पढ़ें 
Open chat
Hello
Can We Help You