पुष्पधन्वा रस (Pushpadhanwa Ras): फायदे, उपयोग, गुण एवं नुकसान

पुष्पधन्वा रस आयुर्वेद में रस रसायन प्रकरण की औषधि है | यह रसायन पुरुषों एवं स्त्रियों दोनों के लिए बहुत गुणकारी है | जिन पुरुषों को स्त्री प्रसंग में अधिक आनंद की इच्छा हो उनको इस औषधि का सेवन जरुर करना चाहिए | इसके सेवन से कामेच्छा तीव्र हो जाती है एवं बल वीर्य की वृद्धि होती है |

यह रसायन कामोत्तेजक एवं उत्तम वाजीकारक है | यह शरीर में बल एवं वीर्य की वृद्धि करता है तथा यौन शक्ति वर्धक है | स्त्रियों में कामोत्तेजना की कमी एवं बंध्यतव की समस्या में यह बहुत गुणकारी दवा है | इस रसायन का सेवन स्त्री एवं पुरुष दोनों के लिए समान गुणकारी है |

पुष्पधन्वा रस क्या है / Pushpadhanwa ras kya hai ?

यह एक वाजीकारक औषधि है जिसको आयुर्वेद की रस रसायन प्रकरण विधि से बनाया जाता है | इस औषधि के सेवन से पुरुषों में होने वाली वीर्यस्राव, कामोत्तेजना की कमी, शुक्रदोष जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है | स्त्रियों में कभी कभी अंगो के पूर्ण विकास न होने या मानसिक स्थिति की वजह से कामेच्छा नहीं होती है इस समस्या में पुष्पधन्वा रस बहुत उपयोगी औषधि का काम करता है इसके सेवन से स्त्री के मन में काम भावना जागृत होती है और वो समागम के लिए आतुर हो जाती है |

पुष्पधन्वा रस के घटक / Pushpadhanwa ras ingredients

इस रसायन को बनाने के लिए निचे दिए गए घटक द्रव्यों की आवश्यकता होती है :-

  • रस सिंदूर
  • नाग भस्म
  • लौह भस्म
  • बंग भस्म
  • अभ्रक भस्म

इसके अलावा धतूरे के रस, भांग, मुलेठी, सेमल की मूसली और नागर बेल के रस की आवश्यकता होती है, भावना देने के लिए |

पुष्पधन्वा रस बनाने की विधि / Pushpandhawa ras banane ki vidhi

इस औषधि को बनाने के लिए रस रसायन विधि का उपयोग किया जाता है | आइये जानते हैं कैसे बनाते हैं पुष्पधन्वा रस :-

  • इस रस को बनाने के लिए उपर बतायी गयी सभी जड़ी बूटियों को समभाग में लें |
  • सभी को अच्छे से मिला लें |
  • इस मिश्रण में उपर बतायी गये अनुसार सभी के रस की एक एक बार भावना दें |
  • अब इसकी छोटी छोटी गोलियां बना लें |
  • इन गोलियों को सुखा कर सुरक्षित किसी पात्र में रख लें |
  • इस तरह से पुष्पधन्वा रस तैयार हो जाता है |
  • पुष्पधन्वा रस को आप इस विधि से आराम से तैयार कर सकते हैं |

पुष्पधन्वा रस का सेवन या अनुपान की विधि / How to use Pushpadhanwa ras

  • इसकी एक एक गोली सुबह शाम सेवन करें |
  • अनुपान के लिए शहद या घी का उपयोग करें |
  • मिश्री मिले औटाए हुए दूध के साथ भी सेवन करना लाभकारी होता है |

पुष्पधन्वा के फायदे एवं उपयोग / Pushpadhanwa ras uses and benefits in hindi

यह कामोत्तेजक, बलवर्धक, वीर्य वर्धक, शुक्रदोष नाशक एवं उत्तम वाजीकारक रसायन है | पुष्पधन्वा रस पुरुषों एवं महिलाओं दोनों के लिए ही बहुत फायदेमंद है | पुरुषों में वीर्यस्राव, शुक्रदोष, शुक्र दोष के कारण आयी नपुंसकता, कामेच्छा की कमी के लिए इसका उपयोग किया जाता है | महिलाओं में अंगो के पूर्ण विकास के लिए, काम भावना की कमी में और गर्भाशय की कमजोरी में इस दवा का सेवन किया जाता है |

पुष्पधन्वा रस क्या है

पुरुषों के लिए पुष्पधन्वा रस के फायदे :-

  • यह कामोत्तेजना में वृद्धि करता है |
  • इसके सेवन से नवीन वीर्य का निर्माण होता है और वीर्य गाढ़ा होता है |
  • शुक्रदोष के कारण आयी नपुंसकता के लिए यह बहुत फायदेमंद है |
  • पुष्पधन्वा रस से पुरुषों को होने वाली यौन कमजोरियों में बहुत फायदा होता है |
  • यह विर्यवाहिनी नाड़ी को शक्ति प्रदान करता है |
  • किसी दुर्घटना या मानसिक विक्षोभ के कारण उत्पन्न कामहीनता में भी यह उपयोगी है |

जाने महिलाओं के लिए इसके क्या फायदे हैं ?

पुरुषों की तरह महिलाओं के लिए भी यह बहुत गुणकारी है | आइये जानते हैं स्त्रीयों के लिए पुष्पधन्वा रस के फायदे :-

  • गर्भाशय के शोधन के लिए यह बहुत गुणकारी दवा है |
  • मानसिक विक्षोभ के कारण आई कामेच्छा में कमी इसके सेवन से दूर हो जाती है |
  • यह स्त्री में काम भावना को जागृत करता है |
  • अंगो के पूर्ण विकास के लिए भी इसका सेवन करना फायदेमंद रहता है |
  • यह एक योगवाही रसायन है |

पुष्पधन्वा रस के गुण / Properties of Pushpandhawa ras

  • इसमें रस सिंदूर बल वर्धक एवं उत्तेजक है |
  • नाग भस्म स्तंभक एवं मेहनाशक है |
  • अभ्रक भस्म मनोविकार नाशक है |
  • बंग भस्म वृष्य, बल्यवर्धक एवं स्तंभक है |
  • लौह भस्म रक्त वर्धक एवं बलदायक है |

धन्यवाद

यह भी पढ़ें :-

संदर्भ / reference

New insights of Ayurveda formulation Pushpadhanwa rasa as a palliative therapy to improve the quality of life in ovarian Cancer: A review

Infertility caused by tubal blockage: An ayurvedic appraisal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
Hello
Can We Help You