बंगेश्वर रस (वंगेश्वर) बृहत् के फायदे, घटक द्रव्य एवं बनाने की विधि

आयुर्वेद ईश्वरीय विज्ञानं है, इसे अपनाकर हम स्वस्थ एवं सुखी जीवन का निर्वाह कर सकते हैं | आधुनिक समय में स्वपन दोष, धात रोग एवं शीघ्रपतन पुरुषों की बड़ी समस्याएं है | इन रोगों की वजह से धात (वीर्य) का क्षय होता है एवं व्यक्ति शारीरिक एवं मानसिक दोनों तरह से कमजोर हो जाता है | बंगेश्वर रस (Bangeshwar ras) बृहत् धात की समस्या को पुर्णतः ठीक करने की क्षमता रखता है | यह रसायन वाजीकर, आयुवर्द्धक, बलवर्धक, वीर्य वर्धक एवं दुर्बलता नाशक है |

बंगेश्वर रस बृहत्
बंगेश्वर रस बृहत्

आधुनिक समय में नवयुवकों में स्वपन दोष एवं धातु रोग सामान्य हो गया है | इसका कारण है मन की चंचलता, इन्टरनेट पर कामुक दृश्य देखना एवं कामुक विचारों की अधिकता | अत्यधिक कामवासना के कारण मानसिक उत्ताप बढ़ जाता है | इससे वीर्य वाहीनियों में विक्षोभ उत्पन्न होता है एवं स्वपन दोष, धात गिरना एवं शीघ्रपतन जैसे रोग हो जाते हैं |

इस लेख में हम निम्न विषयों को जानेंगे :-

  • बंगेश्वर रस बृहत् क्या है ?
  • इस रस में किन जड़ी बूटियों का उपयोग किया जाता है ?
  • वंगेश्वर रस बनाने की विधि की जानकारी |
  • यह रसायन किन किन रोगों में उपयोग में ले सकते हैं ?
  • इसका सेवन एवं अनुपान कैसे करें ?
  • Bangeshwar ras के क्या फायदे हैं ?
  • क्या इस औषधि के कोई साइड इफ़ेक्ट हैं ?
  • किस कंपनी का उत्पाद विश्वसनीय है ?

बंगेश्वर रस (बृहत्) क्या है इसे कैसे बनाते हैं ?

यह एक शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक औषधि है जिसमे प्रधान घटक बंग भस्म है | इसके अलावा इसमें स्वर्ण भस्म, चांदी भस्म एवं मोती भस्म आदि का उपयोग होता है | यह दवा मुख्यतः धात रोग में उपयोगी है | स्वपन दोष एवं धातु रोग से धीरे धीरे धातु का क्षय होता रहता है जिससे रोगी निस्तेज, ज्वर, मानसिक थकान, खांसी, दिल की धड़कन एवं कमजोरी जैसे रोगों से पीड़ित रहता है |

बंगेश्वर रस (बृहत्) के घटक :-

  • कपूर
  • अभ्रक भस्म
  • बंग भस्म
  • शुद्ध पारा
  • चांदी भस्म
  • शुद्ध गंधक
  • स्वर्ण भस्म
  • मोती भस्म
  • भांगरे का रस

वंगेश्वर रस (Vangeshwar ras) बनाने की विधि

इस रसायन को निम्न प्रकार बना सकते हैं :-

  • स्वर्ण भस्म एवं मोती भस्म तीन तीन माशे लेना है |
  • अन्य सभी घटक एक एक तोला लें |
  • सबसे पहले पारा एवं गंधक की कज्जली बनावें |
  • अब इस कज्जली में अन्य सभी औषधियां मिला दें |
  • इस मिश्रण को खरल में डाल लें |
  • अब इसमें भांगरे का रस डाल कर मर्दन करें |
  • इसका तब तक मर्दन करें जब तक यह गोलियां बनाने लायक न हो जाए |
  • अब इसकी छोटी छोटी गोलियां बना लें |
  • इन गोलियों को छायाँ में सुखा लें |
  • इस तरह से बंगेश्वर रस तैयार हो जाता है |

इसका सेवन कैसे करें ?

इसकी एक एक गोली सुबह शाम शहद के साथ लें एवं इसके साथ गाय के दूध का सेवन करें |

जानें बंगेश्वर रस (बृहत्) के उपयोग एवं फायदे (Benefits) |

स्वर्ण भस्म, बंग भस्म एवं मोती भस्म जैसी औषधियों के योग से बनने वाला यह रसायन धातु क्षीणता, स्वप्नदोष, प्रमेह रोग, मूत्र विकार एवं शुक्रक्षय से होने वाले रोगों में अत्यंत उपयोगी सिद्ध होता है | बंगेश्वर रस के सेवन से निम्न रोगों में उत्तम लाभ देखने को मिलता है :-

  • वीर्य की क्षीणता में इसका सेवन करने से बहुत लाभ होता है |
  • यह धातु को पुष्ट करता है एवं नवीन वीर्य का निर्माण करता है |
  • यह सभी प्रकार के प्रमेह में गुणकारी होता है |
  • इसके सेवन से स्वपन दोष की समस्या समाप्त हो जाती है |
  • बहुमूत्र एवं मूत्र अतिसार जैसे रोग भी इसके सेवन से ठीक हो जाते हैं |
  • पुराने एवं जीर्ण धातु रोग में इसका सेवन प्रवाल भस्म एवं शुद्ध शिलाजीत के साथ करने से रोग ठीक हो जाता है |
  • शुक्रक्षय से आई कमजोरी की समस्या में इसका सेवन करना चाहिए |
  • इसके सेवन से व्यक्ति पूर्ण स्वस्थ एवं कान्तियुक्त हो जाता है |

नुकसान एवं दुष्प्रभाव :-

सामान्यतः इसके सेवन से कोई दुष्प्रभाव देखने को नहीं मिलता | लेकिन इसका सेवन आयुर्वेदाचार्य के परामर्श से ही करना चाहिए |

विश्वसनीय बंगेश्वर रस (बृहत्) की जानकारी :-

आयुर्वेदिक दवाएं तभी कारगर होती हैं जब उनमें प्रयोग लिए गए घटक उच्च गुणवता वाले हों एवं उनकी मात्रा भी सही रखी गयी हो | वर्त्तमान में यह पता कर पाना बहुत कठिन है की कोनसी आयुर्वेद कंपनी के उत्पाद अच्छी गुणवता वाले हैं | लेकिन विश्वसनीयता के आधार पट निम्न कंपनियों के इस उत्पाद का इस्तेमाल किया जा सकता है :-

Baidyanath bangeshwar ras brihat
बंगेश्वर रस के फायदे
  • Baidyanath Bangeshwar ras (Brihat) tablets :- बैद्यनाथ एक जानी मानी आयुर्वेद औषधियां बनाने वाली कंपनी है | इसके उत्पाद उच्च गुणवता वाले होते हैं | आप बैद्यनाथ बंगेश्वर रस का उपयोग कर सकते हैं | इसे आप अपने नजदीकी दवा खाने या Amazon से ऑनलाइन (Buy Online Bangeshwar ras) प्राप्त कर सकते हैं |
  • Dabur vrihat vangeshwar ras :- यह उत्पाद भी विश्वसनीय है | इसे भी आप ऑनलाइन मंगवा सकते हैं | लेकिन इनका सेवन करने से पहले आप चिकित्सक की सलाह जरुर लें |
  • Buy Lama Bangeshwar Ras online :- आप लामा कंपनी के बंगेश्वर रस का भी उपयोग कर सकते हैं | इसके उत्पाद आप ऑनलाइन अमेज़न या 1 Mg जैसे ऑनलाइन प्लेटफार्म से प्राप्त कर सकते हैं |

बंगेश्वर रस के बारे में दी गयी जानकारी अगर उपयोगी लगे तो हमें कमेंट करके जरुर बताएं | अगर आप अन्य किसी आयुर्वेद दवा के बारे में जानना चाहते हैं तो उस दवा का कमेंट बॉक्स में लिखकर हम से पूछ सकते हैं | धन्यवाद् !

हमारे अन्य लेख :-

कामाग्नि संदीपन रस से मानसिक नपुंसकता दूर करें |

जानें वाजीकरण क्या है एवं इससे घोड़े जैसी यौन शक्ति कैसे प्राप्त कर सकते हैं ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
Hello
Can We Help You