desi nuskhe, mahilao ke rog, Uncategorized

एक आयुर्वेदिक तेल जो स्तनों को कर देगा – पहाड़ जैसा कठोर ( Home Remedies for Breast Tightness )

स्तनों का ढीलापन

स्त्रियों के लिए जिस प्रकार छोटे स्तन समस्या है उसी प्रकार बढे हुए स्तन भी महिलाओ के सौन्द्रिये पर विपरीत असर डालते है | स्त्री के सौन्दर्य में स्तनों का शेप बहुत अधिक भूमिका निभाता है | अगर महिलाओ के स्तन ढीले हो जाए तो उनके शारीरिक सौन्दर्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है | क्योकि स्त्री की सुन्दरता तथा यौवन का निखर हष्ट-पुष्ट स्तनों से ही दिखाई देता है | इसलिए महिलाए प्राय: अपना स्तन पुष्ट और कठोर बनाने के लिए प्रयासरत रहती है | स्तनों में ढीलापन होना , समय के साथ उनका विकाश ना होना तथा उनमे कठोरता का आभाव होना आदि स्थितियां स्त्री को हिन् भावना से ग्रस्त कर देती है | इसलिए आज हम बताने जा रहे है की कैसे आप महीने भर में अपने स्तनों को पुष्ट एवं कठोरे बना सकती है |

कारण

स्तनों के ढीले होने को लेकर समाज में कई गलत अवधार्नाए फैली हुई है (ख़ास कर पुरुषो में ) | लेकिन स्तनों के ढीले होने के कई कारण कारण होते है जैसे – शारीरिक कमजोरी , मासिक धर्म की अनियमितता , अधिक सम्भोग, शरीर में तेज बुखार होना आदि  कारणों से स्तन ढीले पद जाते है | कुछ स्त्रियों के स्तनों की गोलाई बहुत कम होती |एसी हालत में स्त्री को कोई न कोई रोग अवश्य होता है, क्यों की तब स्तनों को पुष्ट करने वाले हरमों ठीक से नहीं बन पाते है |
जिन स्त्रियों के स्तन ढीले अथवा छोटे होते है उन्हें घर, परिवार तथा स्त्री समाज में एक प्रकार की लज्जा का अनुभव होता है | वे हिन भावना से ग्रस्त तथा चिंतित रहती है | लेकिन अब उनको हिन् भावना से ग्रस्त रहने की जरुरत नहीं है क्यों की आज हम बताने जा रहे है एसे घरेलु उपचार के बारे में की आप भी उसके उपयोग से अपने स्तनों को tight कर सकती है |

स्तनों को टाइट करने का देशी उपाय

इस तेल को बनाने के लिए हमें निम्न लिखित द्रव्यों की आवश्यकता होगी –
1 . गाय का घी
2 . काले तिल
3 . काला निशोथ ( किसी भी पंसारी की दुकान से ला सकती है )
4 . बच
5 . सोंठ
इन सबको बराबर मात्रा में लेकर बारीक़ पिस ले अब इनमे घी मिला दे व अच्छी तरह घोट ले | अब एक कडाही में 250 ग्राम तिल का तेल गरम  करे और इन औषधियों के काडे को गरम तेल में अच्छी तरह पका ले | अच्छी तरह पक्क जाने पर कडाही को निचे उतर कर तेल को ठंडा होने दे | जब तेल अच्छी तरह ठंडा हो जावे तो इसको सूती कपडे से छान कर किसी शीशी में भर ले |
इस तेल को रोज सुबह नहाने से पहले अपने स्तनों पर 10 मिनट तक हलके हाथ से मस्साज करे | 1 महीने में आपके स्तनों से ढीलापन गायब हो जायेगा और पुष्ट एवं सख्त बन जावेगे |

दूसरा उपाय

कंधारी अनार के छिलकों को पानी के साथ पीसकर पेस्ट बना ले | इसमें 5 ग्राम पीसी हल्दी मिलाए | अब इसे दोनों स्तनों पर निप्पल छोड़कर लगाए | शीघ्र ही स्तनों की ढीली मांसपेशियों में तनाव आ जावेगा |

ब्रेस्ट बढ़ाने की दवा Patanjali

बाबा रामदेव की पतंजलि में ब्रैस्ट बढ़ाने की दवा उपलब्ध नहीं है | अर्थात केवल स्तनों की वृद्धि के लिए पतंजलि में कोई मुख्य उत्पाद नहीं है | स्त्री समस्याओं में उपयोगी बाबा की कई दवाएं जैसे शतावर चूर्ण आदि के सेवन से स्त्री का स्वास्थ्य अच्छा रहता है एवं इससे स्तनों में दूध की कमी भी पूरी होती है |

अन्य उपाय

  • बरगद के दूध की स्तनों पर अगर मालिश की जावे तो भी ढीले स्तनों में कडापन आता है |
  • एरंड के पतों को गन्ने के सिरके में पीसकर स्तनों पर लेप लगाए
  • शहद में माजूफल का चूर्ण मिलकर स्तनों पर लगाने से भी स्तनों के ढीलेपन से छुटकारा मिलता है |
  • एक अंडा , निम्बू का रस 10 ग्राम और बेसन 10 ग्राम – तीनो को दूध के साथ अच्छी तरह फेंटे और इस पेस्ट को स्तनों पर लगा ले |
धन्यवाद

About स्वदेशी उपचार

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.