कफ कुठार रस (Kaf kuthar ras) क्या है एवं इसके फ़ायदे |

कफ कुठार रस बलगम (कफ) विकार को दूर करने वाली आयुर्वेदिक औषधि है | आयुर्वेदानुसार कफ दोष में दुष्प्रभाव के कारण बलगम बनता है | ठण्ड लगने, ठन्डे या बासी खाने का सेवन करने से, श्वास रोग, एलर्जी एवं फेफड़ो में संक्रमण आदि कारणों से कफ या खांसी की समस्या हो जाती है | धुम्रपान भी बलगम बनने का एक बड़ा कारण है |

कफ कुठार रस
कफ कुठार रस

सर्दी जुखाम होने पर कफ छाती में संचित हो जाता है एवं इससे खांसी की समस्या हो जाती है | अगर कफ़ छाती में जम जाता है तो इससे साँस लेने में तकलीफ, खांसने पर दर्द होना, सिने में भारीपन महसूस होना आदि समस्याएं हो जाती हैं | कफ कुठार रस (Cough) बलगम को पिघला कर बाहर निकाल देता है | यह कफ़ एवं खांसी की समस्या के लिए बहुत उपयोगी उत्पाद है |

इस लेख में हम निम्न जानकारी प्राप्त करेंगे :-

  • कफ कुठार रस क्या है ?
  • बलगम निकालने में यह कितना लाभदायक है ?
  • खांसी की समस्या में कफ़ कुठार रस के क्या फायदे हैं ?
  • यह कैसे बनता है ?
  • इसके घटक क्या हैं ?
  • इसका सेवन एवं अनुपान कैसे करें ?
  • बैद्यनाथ कफ कुठार रस की जानकारी |

कफ कुठार रस क्या है ? what is Cough kuthar ras ?

कफ कुठार रस एक आयुर्वेदिक दवा है जिसका उपयोग कफ को पिघला कर निकालने के लिए किया जाता है | बलगम एवं खांसी की समस्या के लिए यह अत्यंत गुणकारी रसायन है | पुराने से पुराने जमे बलगम (कफ) से निजात पाने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं | इसमें पारा, गंधक, लौह भस्म, काली मिर्च एवं सोंठ जैसी तीक्ष्ण प्रकृति वाली जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है | आइये जानते हैं इसके घटक द्रव्यों के बारे में :-

घटक द्रव्य (It Contains following Ingredients)

कफकुठार रस को बनाने के लिए निम्न जड़ी बूटियों एवं द्रव्यों का इस्तेमाल किया जाता है :-

  • लौह भस्म (Lauh Bhasma)
  • शुद्ध पारा एवं गंधक
  • सोंठ, पीपल
  • काली मिर्च
  • ताम्र भस्म
  • कटेली के फलों का रस
  • कुटकी एवं धतूरे के फूलों का स्वरस

कफ कुठार रस बनाने की विधि (How to prepare Cough Kuthar Ras ?)

इस रसायन को बनाने के लिए निम्न विधि का इस्तेमाल करें :-

  • शुद्ध पारा, शुद्ध गंधक, पीपल, काली मिर्च, लौह भस्म, एवं ताम्र भस्म को समान मात्रा में लें |
  • अब पारा एवं गंधक की कज्जली बना लें |
  • लौह भस्म एवं ताम्र भस्म को इसमें मिला दें |
  • सोंठ, काली मिर्च, पीपल को कूट कर महीन चूर्ण बना लें |
  • इस चूर्ण को छान कर कज्जली में मिला लें |
  • अब इस मिश्रण को कटेली के फलों के रस एवं कुटकी और धतूरे के फूलों के स्वरस से भावना देकर इसे अच्छे से घोंट लें |
  • अब इसकी छोटी छोटी गोलियां बना लें |
  • इस तरह से अच्छी क्वालिटी का कफ कुठार रस तैयार हो जाता है |

कफ एवं खांसी में कफ कुठार रस के फायदे (Benefits of Kaf Kuthar Ras)

यह बहुत ही तीक्ष्ण प्रकृति का रसायन है | इसके उपयोग से कफ बड़ी आसानी से निकल जाता है | आइये इसके फायदों के बारे में जानते हैं :-

  • छाती में कफ जम जाने पर इसका सेवन करें |
  • यह जमे हुए कफ को पिघला कर निकाल देता है |
  • श्वासनली को साफ करता है |
  • जिससे श्वास लेने में होने वाली तकलीफ से छुटकारा मिलता है |
  • पुराने से पुराने कफ को निकालने के लिए इसका इस्तेमाल करें |
  • इसमें लौह एवं अभ्रक भस्म कफ को पिघलाने का काम करते हैं |
  • धतूरे का रस एवं कुटकी स्वरस की भावना के कारण यह बढे हुए कफ का स्राव करता है एवं श्वसन में होने वाली तकलीफ को कम करता है |

कफ ज्वर (बलगम से होने वाले बुखार) में कफ़ कुठार रस के फायदे | Kafkuthar Ras Uses in hindi

कफ दूषित हो जाने से हल्का बुखार हो जाता है | इसके अलावा खांसने में दर्द होना, आवाज में भारीपन, सिने में दर्द होना, पसीना आना एवं श्वास लेने में कठिनाई जैसी समस्या हो जाती हैं | कफ कुठार रस बलगम से होने वाली सभी समस्याओं से निजात दिलाता है | यह बलगम को पिघला कर निकाल देता है |

अनुपान एवं उपयोग की जानकारी (How to use Cough Kuthar Ras)

कफ विकारों में इसकी 1 या 2 गोली शहद के साथ सेवन करें |

दुष्प्रभाव एवं सावधानियां (Side Effects of Kaf Kuthar Ras)

यह एक आयुर्वेदिक औषधि है | बताई गयी मात्रा एवं विधि से सेवन करने पर इसका कोई साइड इफ़ेक्ट देखने को नहीं मिलता है | लेकिन यह बहुत तीक्ष्ण होता है अतः पित्त से उत्पन्न होने वाले रोगों में इसका इस्तेमाल किसी सौम्य द्रव्य के साथ ही करना चाहिए |

विश्वसनीय कफ कुठार रस खरीदें (Buy Kafkuthar Ras Online)

Baidyanath Kafkuthar Ras :-

  • मात्रा – 80 tablets (गोलियां)
  • कीमत (price) :- 115 रुपए
  • उपयोग (Uses) :- कफ विकार, खांसी एवं कफ ज्वर

Basic Ayurveda Kafkuthar Ras :-

  • मात्रा – 40 tablets (गोलियां)
  • कीमत (price) :- 65 रुपए
  • उपयोग (Uses) :- कफ विकार, खांसी एवं कफ ज्वर
Basic Ayurveda Kafkuthar ras
Basic Ayurveda Kafkuthar ras

Dabur Kafkuthar Ras :-

  • मात्रा – 40 tablets (गोलियां)
  • कीमत (price) :- 40 रुपए
  • उपयोग (Uses) :- सभी कफ जनित विकारों में लाभदायक
Dabur Kafkuthar ras
Dabur Kafkuthar ras

हमारे अन्य उपयोगी लेख पढ़ें :-

पैरासिटामोल के दुष्प्रभाव से बचें, जानें क्या है इसका आयुर्वेदिक विकल्प |

आयुर्वेदिक एंटीबायोटिक जड़ी बूटियों के बारे में जानें |

खून की कमी का आयुर्वेदिक इलाज क्या है ?

मर्दाना कमजोरी दूर कर देगी यह आयुर्वेदिक दवा !

शक्र वल्लभ रस शीघ्रपतन की समस्या को जड़ से ख़त्म कर देता है |

यह लेख सिर्फ कफ कुठार रस की जानकारी के लिए है | किसी भी औषधि का सेवन करने से पहले आयुर्वेदाचार्य से उचित परामर्श करें |

धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जानें ब्रह्म रसायन के फायदे चमत्कारिक आयुर्वेदिक औषधि

सभी उम्र के व्यक्तियों के लिए अत्यंत लाभदायी औषध है | आयुर्वेद में इसे रसायन एवं वाजीकरण औषधियों में गिना जाता है

Open chat
Hello
Can We Help You