वाराहीकंद / Dioscorea Detail in Hindi

वाराहीकंद जिसे जिमीकंद, डुक्करकंद एवं रतालू आदि नामों से जाना जाता है यह अफ्रीका एवं चीनी क्षेत्रों का देशज पौधा ...

Continue reading

Ashwagandha

अश्वगंधा, शतावरी, कौंच बीज, सफ़ेद मुसली और तालमखाना – 5 बलवृद्धक जड़ी – बूटियाँ

जो शारीरिक एवं यौन रूप से कमजोर है वे आयुर्वेदिक तरीकों से अपनी खोई हुए काम शक्ति को वापस पाना चाहते है | आयुर्वे...

Continue reading

करंज – Karanj Detail | परिचय, फायदे और औषधीय गुण

Karanj in Hindi - वैदिक काल से ही करंज का इस्तेमाल आयुर्वेद चिकित्सा एवं धार्मिक कार्यों में किया जाता रहा है | आ...

Continue reading

कनक चंपा (Kanak Champa) अतिसुगन्धित एवं स्वास्थ्य उपयोगी पौधा

कनक चंपा को कठचंपा, कदियार, कर्णिकार एवं मुचकंद आदि नामों से भी जाना जाता है | यह अतिसुगंधित दिव्य स्वास्थ्य उपयो...

Continue reading

नागरबेल क्या है ? जानें इसके फायदे एवं स्वास्थ्य लाभ

नागरबेल को नागर बेल का पान, ताम्बुल या बंगला पान आदि नामों से भी जाना जाता है | साधारण भाषा में इसे पान कहते है ज...

Continue reading

नौसादर विभिन्न रोगों में उपयोगी आयुर्वेदिक औषधि

नौसादर एक सफ़ेद रंग का दानेदार लवण द्रव्य है | यह करीर और पीलू आदि वृक्षों के कोष्ठों को जलाने पर क्षार के रूप में...

Continue reading

कालमेघ

कालमेघ (Green Chireta) के आयुर्वेदिक औषधीय गुण एवं फायदे |

कालमेघ जिसे हम ग्रीन चिरायता या Green Chireta भी कहते है | यह एक पुरातन भारतीय औषधीय पौधा है जिसका इस्तेमाल प्राच...

Continue reading

गुग्गुल अनेक रोगों की अमूल्य औषधि || जानें गुग्गुल के फायदे एवं शोधन की विधि

वैदिक काल से ही गुग्गुल के बारे में वर्णन मिलता है | वैदिक काल में इसे धुप आदि करने एवं सुगन्धित द्रव्य के रूप मे...

Continue reading

अतिबला (Abutilon Indicum) – उत्तम बल वर्द्धक आयुर्वेदिक जड़ी – बूटी

आयुर्वेद चिकित्सा में अतिबला को यौन शक्ति वर्द्धक एवं उत्तम धातु पौष्टिक औषधि माना जाता है | यह आयुर्वेद के वाजीक...

Continue reading