गोखरू पाक कामशक्ति बढाता है, जानें फायदे एवं उपयोग |

Deal Score0
Deal Score0

गोखरू एक बहुत ही गुणकारी एवं दिव्य जड़ी बूटी है | आयुर्वेद में गोखरू के पंचमूल का उपयोग करके बहुत सी प्रभावी औषधियां बनायी जाती हैं | मूत्र विकार, किडनी के रोग, शारीरिक क्षमता एवं पौरुष कामशक्ति बढाने के लिए गोखरू का उपयोग किया जाता है | गोखरू से बनने वाली कुछ प्रमुख औषधियां :-

  • गोक्षुरादी चूर्ण
  • गोखरू पाक
  • गोक्षुरादी क्वाथ
  • त्रिकंटादि क्वाथ
  • गोक्षुरुदि गुग्गूलू
Gokharu pak
Gokharu pak

इस लेख में हम गोखरू पाक के बारे में बतायेंगे |

गोखरू पाक बनाने की विधि, फायदे एवं उपयोग |

यह पौष्टिक एवं बलवर्धक औषधि है | प्रमेह, क्षय, मूत्र जनित रोग, शुक्रजनित शारीरिक कमजोरी एवं यौन शक्ति बढाने के लिए इसका सेवन करना चाहिए | आइये जानते हैं गोखरू पाक के घटक द्रव्यों के बारे में :-

  • गोखरू (चूर्ण किया हुवा) – 64 तोला
  • दूध – 256 तोला
  • लौंग, लौह भस्म, काली मीर्च
  • कपूर, सफ़ेद आक की जड़, कत्था
  • सफ़ेद जीरा, श्याह जीरा, हल्दी
  • आंवला, पीपल, नागकेशर
  • जायफल, जावित्री, अजवायन, खस
  • सोंठ, करंजफल की गिरी (सभी 1 तोला)
  • गो घृत – 32 तोला
  • चाशनी

गोखरू पाक बनाने के लिए इन सभी जड़ी बूटियों की आवश्यकता होती है |

आइये अब जानते हैं गोखरू पाक बनाने की विधि के बारे में |

गोक्षुर एक ताक़तवर जड़ी बूटी है एवं यह आसानी से उपलब्ध हो जाती है | सर्दियों में गोखरू के लड्डू या गोखरू पाक का सेवन बहुत फायदेमंद रहता है | शरीर में आई कमजोरी को दूर करने के लिए यह बहुत ही कारगर औषधि है |

गोखरू
गोखरू – एक दिव्य औषधि
  • गोखरू का महीन चूर्ण बना लें |
  • इस चूर्ण को दूध में अच्छे से पका कर खोवा बना लें |
  • अब इस खोवे को गो घृत में भुन लें |
  • ध्यान रखें इसे धीमी आंच पर भुने |
  • अब अन्य सभी द्रव्यों का चूर्ण बना उन्हें मिला लें |
  • इस चूर्ण को चाशनी तैयार कर उसमें मिला देवें |
  • अब खोवा और चाशनी के मिश्रण को मिला लें |
  • इस तरह से उत्तम श्रेणी का गोखरू पाक तैयार हो जाता है |

अनुपान कैसे करें :-

गोखरू पाक को रोजाना 2- 3 चम्मच दूध या ठन्डे पानी के साथ सेवन करें या रोगानुसार अनुपान करें |

आइये जानते हैं गोखरू पाक के फायदे एवं उपयोग के बारे में |

अर्श एवं प्रमेह नाशक यह औषधि बहुत गुणकारी है | यह उत्तम बलवर्धक एवं पौष्टिक उत्पाद है | मूत्र विकारों में यह बहुत असरदार है | आइये जानते हैं इसके फायदे :-

  • अर्श रोग नाशक है |
  • क्षय रोग में बहुत फायदेमंद औषधि है |
  • मूत्र पिंड की सुजन को कम करता है |
  • बलवर्धक एवं पौष्टिक है |
  • प्रमेह रोग से उत्पन्न कमजोरी को दूर करता है |
  • वीर्य विकारों में इसका सेवन करने से बहुत लाभ होता है |
  • पौरुष यौन शक्ति बढाने के लिए इसका उपयोग करें |
  • गर्भाशय को सशक्त बनाता है |
  • गोखरू पाक शुक्र जनित दुर्बलता को दूर करता है |

जानिये बल बढाने वाले एवं पौष्टिक अन्य पाक के बारे में :-

छुहारा पाक से पायें बल एवं शक्ति |

कामेश्वर मोदक से यौन कमजोरियों को दूर करें |

गोखरू है दिव्य औषधि, जाने गोखरू के औषधीय गुण |

अगर आपको यह जानकारी उपयोगी लगे तो कमेंट करके जरुर बताएं | धन्यवाद |

Avatar

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      +918000733602
      Logo
      Compare items
      • Total (0)
      Compare
      0