छुहारा पाक के फायदे और बनाने की विधि

छुहारा पाक : आयुर्वेद की शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक दवा है | यह पुरुष यौनकमजोरियों की अचूक औषधि है | इसका निर्माण छुहारे के द्वारा किया जाता है | पुरुषों में होने वाली यौन समस्या शीघ्रपतन, धातुदुर्बलता, नपुंसकता एवं स्वप्नदोष में छुहारा पाक का सेवन अत्यंत लाभदायी सिद्ध होता है |

पुरुषों के अलावा स्त्रियों के लिए भी यह औषधि लाभदायक है | स्त्रियों में राजोदोश के कारण होने वाली यौनकमजोरियों में इसका सेवन करना लाभदायक रहता है | बाजार में यह बना बनाया भी मिलता है |

छुहारा पाक

लेकिन अधिक स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए इस औषधि का निर्माण घर पर भी किया जा सकता है | छुहारा पाक का सेवन विशेषकर सर्दियों में किया जाता है | अगर आप शीघ्रपतन, स्वप्नदोष एवं नपुंसकता जैसी बिमारियों से पीड़ित है तो छुहारा पाक का सेवन करें अत्यंत बलवर्द्धक योग है |

छुहारा पाक के फायदे / Health Benefits of Chhuhara Paak In Hindi

  • पुरुषों की यौन दुर्बलताओं में फायदेमंद है |
  • अगर आप सहवास के समय अधिक देर तक टिक नहीं पाते है तो सर्दियों के मौसम में छुहारा पाक का सेवन करें |
  • यह अत्यंत बलवर्द्धक आयुर्वेदिक योग है | शरीर में कमजोरी नहीं होने देती |
  • सभी प्रकार की शारीरिक कमजोरी मे इसका सेवन अत्यंत लाभदायक है |
  • छुहारा पाक सप्तधातुओं का वर्द्धन करती है | अत: पुरुषों के लिए वीर्य को बढ़ने वाली औषधि है |
  • वीर्य का पतलापन भी इसके सेवन से दूर होता है |
  • स्त्रियों में अगर यौनेच्छा की कमी है तो सर्दियों में छुहारा पाक का सेवन करना चाहिए |
  • यह स्त्रियों में सम्भोग में रूचि पैदा करता है एवं सहवास के समय होने वाली समस्याओं से मुक्ति दिलाता है |
  • स्वप्नदोष से पीड़ित भी इस बलवर्द्धक औषधि का सेवन करके इस रोग से मुक्ति प्राप्त कर सकते है |
  • धतुदुर्ब्लता के रोगी छुहारा पाक का सेवन करने से धातुएं पुष्ट होती है |
  • साल भर में पूरी सर्दियों इसका सेवन करने से शरीर में नयी उर्जा का सचांर होता है | जो व्यक्ति को आलस से मुक्ति दिलाता है |

छुहारा पाक के घटक द्रव्य / Ingredients of Chhuhara Paak in Hindi

इस आयुर्वेदिक औषधि में लगभग 22 घटक द्रव्यों का इस्तेमाल किया जाता है –

  1. छुहारा (बीज रहित) – 960 ग्राम
  2. पीपल – 60 ग्राम
  3. द्राक्षा – 24 ग्राम
  4. सफ़ेद मुसली – 24 ग्राम
  5. काली मुसली – 24 ग्राम
  6. लौंग – 24 ग्राम
  7. जायफल – 24 ग्राम
  8. जावित्री – 24 ग्राम
  9. तेजपता – 24 ग्राम
  10. बला – 24 ग्राम
  11. केशर – 2 ग्राम
  12. वंग भस्म – 24 ग्राम
  13. लौह भस्म – 24 ग्राम
  14. अभ्रक भस्म – 24 ग्राम
  15. पिस्ता – 24 ग्राम
  16. बादाम – 24 ग्राम
  17. चिरोंजी – 24 ग्राम
  18. अखरोट की गिरी – 24 ग्राम
  19. गंभारी के फल – 24 ग्राम
  20. दूध – 4 लीटर
  21. घी – 480 ग्राम
  22. मिश्री – 1.5 किलोग्राम

छुहारा पाक बनाने की विधि / How to Prepare

सबसे पहले गुठली निकाले हुए छुहारों को पिसा लिया जाता है | पीपल को भी अलग पीसलिया जाता है | अब दूध में इन दोनों को डालकर खोए का निर्माण किया जाता है | जब खोया बन जाता है तब इसे आंच से निचे उतार कर ठंडा कर लिया जाता है |

अब बाकी बची सभी जड़ी-बूटियों को महीन पीसकर कपड छान चूर्ण कर लिया जाता है | इसके पश्चात मिश्री की चाशनी बना ली जाती है | इस चासनी में उक्त मावा (खोया) डालकर पाक तैयार कर लिया जाता है |

सूखे मेवों को जैसे अखरोट, बादाम आदि को छोटे – छोटे टुकडो में काटकर डाला जाता है | इस प्रकार से छुहारा पाक का निर्माण होता है |

सेवन की विधि एवं मात्रा

छुहारा पाक का सेवन 10 से 20 ग्राम की मात्रा में नियमित दूध के साथ कर सकते है | यह अत्यंत बलवर्द्धक औषधि है अत: बेहतर परिणाम के लिए लगभग पूरी सर्दियों में इसका सेवन किया जा सकता है |

नुकसान

इस आयुर्वेदिक योग के कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है | क्योंकि इस दवा में कोई भी घटक द्रव्य ऐसा नहीं है जो आपको दुष्प्रभाव दिखाए | अत: बिल्कुल सुरक्षित आयुर्वेदिक औषधि है | फिर भी किसी भी आयुर्वेदिक औषधि का सेवन करने से पहले वैद्य से परामर्श करलेना चाहिए |

आपके लिए अन्य महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक जानकारियां

धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जानें ब्रह्म रसायन के फायदे चमत्कारिक आयुर्वेदिक औषधि

सभी उम्र के व्यक्तियों के लिए अत्यंत लाभदायी औषध है | आयुर्वेद में इसे रसायन एवं वाजीकरण औषधियों में गिना जाता है

Open chat
Hello
Can We Help You