चर्म रोग : फोड़े -फुंसियो का घरेलु उपचार (pimple hatane ke gharelu upay)

चर्म रोग 

खून में खराबी होने से चर्म रोग हो जाते है | यह खराबी अनियमित भोजन तथा प्रदूषित वातावरण में रहने के कारण होती है | अपने स्वभाव के विरुद्ध भोजन करने, आंतो में मल का संचय होने से , काफ बनने, वायु रोग, पेट की खराबी आदि कारण खून में विजतिये तत्व उत्पन्न हो जाते है | ये तत्व त्वचा पर विभिन्न प्रकार के रोग लेकर उभरते है | इन रोगों से स्त्री और पुरुषो को अपार कष्ट उठाने पड़ते है |
 
 

क्यों होते है फोड़े – फुंसी ?

खून की खराबी या कुछ संक्रामक रोगों के कारण शरीर पर फोड़े – फुन्सिया निकल आती है | प्रदूषित वातावरण के कारण भी फोड़े -फुंसियो उत्पन्न हो जाती है | फोड़े – फुंसियो के निकलने पर उनमे खुजली – जलन होती है तथा रोगी बेचैन महसूस करता है |
 
इसके अलावा बालो की जड़ो में सूक्षम कीटाणु का संक्रमण होने से , खुनकी खराबी से , आम का अधिक प्रयोग से, मच्छर के काटने या कभी-कभी बाल के  अचानक से उखड जाने से बाल तोड़ फुंसी हो जाती है | जो बहुत पीड़ा दाई होता है | इसमें त्वचा के निचे वाली परत में सुजन आ जाती है और दर्द के साथ – साथ पस्स ( मवाद ) भर जाती है | इसलिए आज हम आपको बताएँगे फोड़े- फुंसियो का घरेलु तरीके से कैसे इलाज करे | इसके लिए आपको कुछ परहेज करने होंगे जैसे की अधिक मिर्च – मसाले वाले भोजन एवं तेल और डालडा घी के अधिक सेवन को छोड़ना होगा |
 

घरेलु नुस्खे 

 
सर्वप्रथम नीम के पतों को उबल कर उस पानी से रोज नहाना शुरू कर दे | क्यों की नीम में एंटी बैक्टीरियल तत्व मौजूद होते है जो फोड़े – फुंसियो में होने वाले इन्फेक्शन को रोकते है |
 
 
  1. यदि फुंसी ताजा ही निकली हो तो काली – मिर्च को पानी में घिसकर लगाए | फुंसी तुरंत बैठ जावेगी |
  2. कच्चे आलू का रस फुंसियो पर लगाए तथा सुबह खाली पेट आलू के रस को पीवे – 1 चम्मच |
  3. अन्नानास का रस भी फुंसियो पर लगा सकते है |
  4. अमरुद की तीन – चार पतियों को पानी में पिसकर इसका गुल्म बना ले और फोड़े-फुंसियो पर लगावे | जल्दी ही फोड़े फुट जावेंगे |
  5. नीम के पेड़ की छल को पत्थर पर अच्छी तरह घिसे और थोडा – थोडा पानी मिलते रहे | घिसने के बाद जो पानी पत्थर पर इक्कठा हो उसे फुंसियो पर लगावे | जल्दी ही आराम मिलेगा |
  6. हल्दी , अडूसा और लौंग को पीसकर इसके लेप को फुंसियो पर बंधने से तुरंत रहत मिलेगी और फुन्सिया ठीक हो जावेगी |
  7. अगर करेले का रस भी लगाया जावे तो फुंसियो के ठीक होने में लाभ होता है |
  8.  अगर फोड़ा बढ़ जावे तो मुल्तानी-मिटटी और पिन्दोरे को पानी में पीसकर लगाने से जल्दी ही फोड़ा बैठ जावेगा |
  9. अगर गर्मी के कारण फुंसिया उभर आई हो तो एक चम्मच पिसा हुआ चन्दन , एक चम्मच पीसी हुई मुल्तानी मिटटी , एक चम्मच चोकर इन सब को अच्छी तरह पिस कर इसमें 4-5 निम्बू की बुँदे डाल कर लेप बना ले और इसे लगातार 15 दिन तक उपयोग में ले | निश्चित ही आपको लाभ मिलेगा |
  10. ग्वारपाठे का तो सबको पता ही होगा | ग्वारपाठा चर्म रोग में भी बहुत फायदे मंद होता है | ग्वारपाठे के गुदे को गरम करके इसमें थोड़ी सी पीसी हुई हल्दी मिला ले और इस लेप का प्रयोग करे छोटी फुन्सिया तो बहुत जल्दी खत्म होगी |
  11. दो कप पानी में थोड़े से  मेहंदी के पते डाल कर उबाले | इसके पानी से फोड़े-फुंसियो को धोने से जल्दी ही आराम मिलता है |
 
 

धन्यवाद ||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जानें आहार के 15 नियम हमेंशा इनका पालन करके ही आहार ग्रहण करना चाहिए

प्रत्येक व्यक्ति के लिए ये नियम लागु होते है इन्हें सभी को अपनाना चाहिए पढ़ें अधिक 

Open chat
Hello
Can We Help You