पुंसवन कर्म  ” गर्भाद भवेच्च पुन्सुते पुन्स्त्वस्य प्रतिपादनम “ अर्थात स्त्री गर्भ से पुत्र प्राप्ति हो इसलिए पुंसवन संस्कार किया…

Read More

Shopping cart

0

No products in the cart.