प्रदरान्तक रस (Pradarantak ras) के फायदे एवं उपयोग की विधि |

प्रदरान्तक रस (Pradarantak ras) जैसा की नाम से ही विदीत हो रहा है महिलाओं में सभी प्रकार के प्रदर रोगों के लिए एक रामबाण औषधि है | यह नए पुराने,, श्वेत एवं लाल प्रदर, रक्त प्रदर जैसी सभी समस्याओं में उपयोगी औषधि है | प्रदर रोगों के कारण महिलाओं में दुर्बलता आ जाती है, प्रदरान्तक रस के सेवन से शरीर सबल एवं स्वस्थ हो जाता है |

प्रदरान्तक रस
प्रदरान्तक रस

इस लेख में हम महिलाओं के लिए अमृत समान उपयोगी इस औषधि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे | इसके बारे में निम्न बातों का पता चलेगा :-

  • प्रदरान्तक रस क्या है Pradarantak ras kya hai ?
  • इसके घटक क्या हैं एवं इसे कैसे बनाया जाता है ?
  • महिलाओं के लिए यह किस तरह उपयोगी है ?
  • प्रदरान्तक रस के फायदे क्या हैं Pradarantak ras ke fayde kya hai ?
  • इस औषधि का रोगानुसार अनुपान कैसे करें ?

प्रदरान्तक रस (Pradarantak ras) क्या है, घटक एवं बनाने की विधि

महिलाओं में श्वेत प्रदर (white discharge), रक्त प्रदर एवं माहवारी की समस्या अधिकांशतः देखने को मिलती है | इन रोगों के कारण स्त्री का शरीर अत्यंत दुर्बल हो जाता है | इन रोगों में प्रदरान्तक रस एक रामबाण औषधि का काम करता है | इसमें कौड़ी भस्म, लौह भस्म, शुद्ध पारद एवं खपरिया आदि का योग होता है | आइये जानते हैं इसके घटक :-

  • शुद्ध पारद – 3 माशे
  • लौह भस्म – 3 तोला
  • बंग भस्म – 3 माशे
  • चांदी भस्म – 3 माशे
  • खपरिया – 3 माशे
  • कौड़ी भस्म – 3 माशे
  • ग्वारपाठे का रस – घोंटने के लिए

प्रदरान्तक रस कैसे बनता है ? Pradarantak ras bnane ki vidhi

इस रसायन को बनाने के लिए सर्वप्रथम पारा एवं गंधक की कज्जली बनायी जाती है | इस कज्जली में बाकि द्रवों को अच्छे से मिला लिया जाता है | इसके उपरांत इस मिश्रण को एक दिन तक ग्वारपाठे के रस में घोंटते हैं | जब यह अच्छी तरह घुट जाए तो इसकी छोटी छोटी गोलियां बना कर सुखा ली जाती हैं | इस तरह से प्ररान्तक रस (pradarantak ras) बन के तैयार हो जाता है |

प्रदरान्तक रस के फायदे
प्रदरान्तक रस के फायदे

महिलाओं के लिए प्रदरान्तक रस के फायदे एवं उपयोग

प्रदर रोगों के कारण महिलाओं शारीरिक रूप से दुर्बल हो जाती हैं | इससे कमर दर्द, पेट दर्द, हाथ पैरों में जलन, हल्का बुखार एवं भूख नहीं लगना आदि समस्याएं हो जाती हैं | इन रोगों में प्रदरान्तक रस अत्यंत फायदेमंद औषधि है | इसके सेवन से सभी प्रकार के प्रदर रोग खत्म हो जाते हैं | आइये जानते हैं इसके फायदे :-

  • सभी प्रकार के प्रदर रोगों (श्वेत प्रदर, रक्त प्रदर) में फायदेमंद |
  • शारीरिक कमजोरी दूर करता है |
  • शरीर हष्ट पुष्ट हो जाता है |
  • प्रदर रोगों से जनित अन्य समस्याओं में लाभ मिलता है |
  • गर्भाशय को पुष्ट करता है |
  • गर्भधारण में लाभदायक है |
  • महिलाओं के लिए अत्यंत उपयोगी है |

अनुपान एवं सेवन की विधि :-

इस रसायन की एक या दो गोली सुबह शाम आंवला स्वरस या मधु के साथ लें | अथवा गुड़हल पुष्प के रस के साथ सेवन करें |

  • श्वेतप्रदर में पत्रांगासव या चन्दनासव के साथ लें |
  • अन्य प्रदर रोगों में मधुकाध्यवालेह के साथ सेवन करें |

ध्यान रखें किसी भी औषधि के सेवन से पहले चिकित्सक से उचित परामर्श जरुर कर लें |

धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जानें आहार के 15 नियम हमेंशा इनका पालन करके ही आहार ग्रहण करना चाहिए

प्रत्येक व्यक्ति के लिए ये नियम लागु होते है इन्हें सभी को अपनाना चाहिए पढ़ें अधिक 

Open chat
Hello
Can We Help You