रस माणिक्य (Rasa Manikya):- गुण, उपयोग एवं फायदे |

रस माणिक्य

रस माणिक्य आयुर्वेद की एक बहुत ही प्रचलित औषधि है | यह राजयक्ष्मा (टी.बी.) रोग की बहुत ही कारगर दवा है | कफ की वृद्धि, खांसी, बुखार एवं श्वास जैसे रोगों में इसका सेवन करने से आशातीत लाभ मिलता है | इस लेख में हम रस माणिक्य से जुड़ी निम्न बातों के बारे में बतायेंगे :-

  • माणिक्य रस क्या है ? What is Ras Manikya ?
  • इस औषधि के घटक क्या हैं ?
  • यह दवा कैसे बनती है ?
  • इस रसायन को किन किन रोगों के लिए इस्तेमाल किया जाता है ?
  • इसका सेवन कैसे करें ?
  • रस माणिक्य के रोगानुसार उपयोग एवं फायदे |
  • टी.बी. रोग में रसमाणिक्य रस के फायदे |
  • क्षय रोग में इसका उपयोग कैसे करें ?
  • यकृत की समस्याओं में यह कैसे फायदेमंद है ?

जानें क्या है रस माणिक्य (Manikya Ras)

यह शुद्ध पारा, गंधक एवं मैनशील जैसी औषधियों के योग से तैयार की जाने वाली एक अत्यंत लाभकारी दवा है | यह राजयक्ष्मा नाशक, सभी कफ जन्य रोगों का नाश करने वाली एवं शरीर को बल व पुष्टि देने वाला रसायन है | आइये जानते हैं माणिक्य रस के घटक द्रव्यों के बारे में :-

रस माणिक्य
रस माणिक्य
  • पारा (शुद्ध) – 8 तोला
  • गंधक (शुद्ध) – 8 तोला
  • शुद्ध मैनशील – 8 तोला
  • नाग (शीशा) शुद्ध – 8 तोला

इस औषधि के निर्माण में उपरोक्त सभी घटक द्रव्यों को शुद्ध करके ही उपयोग में लिया जाता है | सामान्य अवस्था में ये खनिज विषैले होते हैं |

अब जानते हैं इस औषधि को कैसे बनाया जाता है ?

रस माणिक्य को निम्न विधि से तैयार किया जाता है :-

  • सभी घटक द्रव्यों को 8 – 8 तोला की मात्रा में लें |
  • अब सर्वप्रथम शीशा को पिघला लें |
  • इसमें अब पारा डाल लें और अच्छे से घोट कर मिला लें |
  • फिर इसमें गंधक मिला कर कज्जली बना लें |
  • जब कज्जली बन के तैयार हो जाये तो इसमें मैनशील भी मिला दें |
  • इस मिश्रण को आतशी शीशी में भर लें |
  • अब इसे 16 प्रहर तक बालुकायंत्र पर आंच दें |
  • स्वांग शीतल हो जाने पर इस शीशी से निकाल कर रख लें |
  • इस तरह से उत्तम गुणकारी माणिक्य रस तैयार हो जाता है |

रस माणिक्य का सेवन या अनुपान कैसे करें ?

यह बहुत ही तीक्ष्ण प्रकृति की दवा है | अतः इसका सेवन बहुत सावधानीपूर्वक करना चाहिए | 60 मिलीग्राम की मात्रा में मक्खन या शहद के साथ इसका सेवन करें या रोगानुसार चिकित्सक के बताए निर्देशों के आधार पर अनुपान करें |

  • पित्त दुष्प्रभाव से हुई सुखी खांसी में इसे प्रवाल चन्द्रपुटी (1 रत्ती), लौह भस्म(1/2 रत्ती) में तालिशादि चूर्ण मिला शहद के साथ लें |
  • क्षय रोग में इसको वसंतमालती (1 रत्ती) के साथ मिलाकर अष्टांग अवलेह के साथ सेवन करें |
  • यकृत विकारों में इसका सेवन सौम्य औषधियों के साथ ही करना चाहिए |

माणिक्य रस के उपयोग एवं फायदे क्या हैं ? benefits of Ras Manikya in hindi

यह औषधि कफ जनित रोगों का रामबाण इलाज है | जब पित्त प्रकुपित होकर छाती में कफ जम जाता है एवं इसके कारण सुखी खांसी हो जाती है, इस दशा में माणिक्य रस बहुत फायदेमंद दवा है | यह टी.बी. जैसे जीर्ण रोग में भी बहुत उपयोगी है | ये कफ विकार दूर करने के साथ ही शरीर को बल एवं स्फूर्ति प्रदान करता है | यह वीर्य स्तंभक है एवं शुक्रविकारों को दूर करती है | इसके सेवन से शरीर हष्ट पुष्ट हो जाता है | आइये जानते हैं इसके गुण, उपयोग एवं फायदे के बारे में :-

  • यह राजयक्ष्मा (टी बी ) को दूर करता है |
  • इसका सेवन करने से कफ विकार एवं श्वास विकार दूर हो जाते हैं |
  • यह उत्तम बलदायक एवं शक्तिवर्धक है |
  • इसका उपयोग करने से शुक्रविकार भी दूर हो जाते हैं |
  • नियमित रूप से पथ्य अपथ्य के अनुसार सेवन करने से यह वीर्य स्तभन करके शरीर की निर्बलता को दूर करता है |
  • यह सुखी खांसी की समस्या को दूर करता है |
  • क्षय रोग में भी इसका सेवन करना अत्यंत लाभदायी होता है |
  • यह यकृत विकारों से उत्पन्न रोगों में भी गुणकारी है |

माणिक्य रस कहाँ से खरीदें ?(Buy online Ras Manikya Baidyanath, Dabur with Price and Uses in hindi)

Baidyanath Ras Manikya :-

  • Price (कीमत) :- 139 रूपए
  • Quantity (मात्रा) :- 10 ग्राम
  • Buy Online from :- इसे आप अमेज़न और 1 Mg जैसे ऑनलाइन प्लेटफार्म से खरीद सकते हैं |
  • Uses and Benefits (उपयोग एवं फायदे) :- कफ विकार, शुक्र विकार, शारीरिक दुर्बलता, टीबी आदि |

Ras Manikya Dabur :-

  • Price (कीमत) :- 128 रूपए
  • Quantity (मात्रा) :- 10 ग्राम
  • Buy Online from :- डाबर का यह उत्पाद ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं |
  • Uses and Benefits (उपयोग एवं फायदे) :- श्वास विकार, शुक्र विकार, वीर्य स्तम्भन , टीबी आदि |
डाबर रस माणिक्य
डाबर रस माणिक्य

Patanjali Divya Ras Manikya details in Hindi :-

  • Price (कीमत) :- 9 रूपए
  • Quantity (मात्रा) :- 1 ग्राम
  • Buy Online from :- पतंजलि का यह उत्पाद आप पतंजलि स्टोर या पतंजलि के आधिकारिक वेब पोर्टल से प्राप्त कर सकते हैं |
  • Uses and Benefits (उपयोग एवं फायदे) :- श्वसन विकार, शुक्र विकार, शारीरिक दुर्बलता, टीबी आदि |
पतंजलि दिव्य माणिक्य रस
पतंजलि दिव्य माणिक्य रस

Unjha Manikya ras (उंझा माणिक्य रस) :-

  • Price (कीमत) :- 78 रूपए
  • Quantity (मात्रा) :- 5 ग्राम
  • Buy Online from :- इसे आप अमेज़न और 1 Mg जैसे ऑनलाइन प्लेटफार्म से खरीद सकते हैं |
  • Uses and Benefits (उपयोग एवं फायदे) :- राजयक्ष्मा (टीबी), श्वसन विकार, सुखी खांसी, क्षय रोग आदि |
उंझा माणिक्य रस
उंझा माणिक्य रस

इस लेख में दी गयी जानकारी उपयोगी लगे तो कमेंट करके जरुर बताएं | अगर आपके कुछ सुझाव हैं तो वो भी आप हमें बता सकते हैं |

यहाँ पर दी गई जानकारी सिर्फ सूचनार्थ है इसे चिकित्सकीय सलाह न समझे | किसी भी दवा का सेवन करने से पहले चिकित्सक से परामर्श कर लें | धन्यवाद !

हमारे अन्य उपयोगी लेख :-

सभी आयुर्वेदिक भस्मो की सूचि |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
Hello
Can We Help You