कुक्कुटांडत्वक भस्म से श्वेतप्रदर का अचूक इलाज |

Deal Score0
Deal Score0

कुक्कुटांडत्वक भस्म: आयुर्वेद में श्वेत प्रदर (White discharge) के लिए अनेकों असरदार दवाएं उपलब्ध हैं | कुक्कुटांडत्वक भस्म महिलाओं में रजोविकार (श्वेत प्रदर, रक्त प्रदर) की सबसे कारगर दवा है | आयुर्वेदानुसार श्वेतप्रदर का मुख्य कारण कफ एवं वात गुणों में उत्पन्न दोष है | यहआयुर्वेदिक भस्म कफ एवं वात शामक गुणों वाली होती है एवं इसका वीर्य शीत होता है | इस कारण यह किसी भी प्रकार के स्राव जैसे रक्त प्रदर, श्वेतप्रदर, एवं पुरुषों में शीघ्रपतन जैसी समस्याओं में बहुत असरदार औषधि का काम करती है |

Kukkutandatvak Bhasma (कुक्कुटांडत्वक भस्म)
कुक्कुटांडत्वक भस्म

इस लेख में हम कुक्कुटांडत्वक भस्म से जुड़ी निम्न जानकारी साझा करेंगे |

  • कुक्कुटांडत्वक भस्म क्या है एवं इसके घटक क्या हैं ?
  • यह भस्म कैसे बनायी जाती है ?
  • kukkutandatvak bhasma का उपयोग कैसे करें |
  • इस भस्म के सेवन से क्या फायदे हैं ?
  • महिलाओं में रजोविकारों में kukkutandatvak bhasma के फायदे एवं उपयोग की विधि |
  • पुरुषों में यौन विकारों में यह भस्म कैसे उपयोगी है |
  • पतंजलि कुक्कुटांडत्वक भस्म के फायदे एवं कीमत (Price) |
  • Dhootpapeshwar kukkutandatvak bhasma की सम्पूर्ण जानकारी |

कुक्कुटांडत्वक भस्म बनाने की विधि, घटक फायदे एवं उपयोग |

इस आयुर्वेदिक भस्म की सम्पूर्ण जानकारी इस लेख में मिलेगी | यहाँ पर हम इसे बनाने की विधि, उपयोग कैसे करें एवं कुक्कुटांडत्वक भस्म के फायदे क्या हैं के बारे में बता रहें हैं |

बनाने की विधि (How to Prepare kukkutandatvak bhasma)

इस भस्म को बनाने के लिए निम्न सामग्री की आवश्यकता होगी :-

  • मुर्गी के अंडे का छिलका – १० तोला
  • चांगेरी का रस
  • मिटटी का बर्तन

मुर्गी के अंडे का छिलका मिटटी के बर्तन में डाल कर इसमें ऊपर से चांगेरी का रस इतना डालें की यह डूब जाये | अब इस बर्तन को का मुंह बंद कर दें एवं संधि लेप करके अच्छे से ढक दें | मंद आंच पर 2 – 3 घंटे तक रखें | इस तरह से सफ़ेद रंग की मुलायम भस्म तैयार हो जाती है |

कुक्कुटांडत्वक भस्म का उपयोग कैसे करें |

यह भस्म प्रमेह एवं मूत्र रोग में बहुत लाभ देती है | 2 रत्ती (243 मिलीग्राम) कुक्कुटांडत्वक भस्म का सेवन सुबह शाम शहद या मलाई के साथ करें | यह वाजीकर एवं रसायन भी है | शीघ्रपतन, स्वपन दोष, धातु दुर्बलता एवं नपुंसकता जैसी समस्याओं में इसका सेवन बंग भस्म या त्रिवंग भस्म के साथ करने से बहुत अच्छे परिणाम मिलते हैं |

बहुत फायदेमंद है कुक्कुटांडत्वक भस्म जाने इसके फायदे |

कुक्कुटांडत्वक भस्म के फायदे (Benefits of Kukkuntandatvak Bhasma) :-

  • प्रमेह रोग में बहुत असरदार है |
  • मूत्र विकारों में यह अचूक औषधि का काम करती है |
  • यह वाजीकरण गुण से युक्त है |
  • बंग भस्म के साथ इसका सेवन करने से शीघ्रपतन एवं नपुंसकता जैसे यौन विकारों में बहुत लाभ मिलता है |
  • महिलाओं में रजो विकारों में इसका सेवन बहुत फायदेमंद है |
  • श्वेत प्रदर में यह बहुत अच्छा फायदा देती है |
  • प्रसव के बाद आयी कमजोरी में भी इस भस्म का सेवन अन्य दवाओं के साथ करने से बहुत लाभ मिलता है |

महिलाओं के लिए बहुत असरदार औषधि है Kukkutandatvak Bhasma

यह भस्म महिलाओं में होने वाले रजोविकार में बहुत लाभ पहुंचाती है | रक्त प्रदर, श्वेतप्रदर एवं प्रसव के बाद कमजोरी जैसी समस्याओं में इसका सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है | आयुर्वेद में श्वेत प्रदर का मुख्य कारण दूषित खान पान एवं ख़राब दिनचर्या से कफ एवं वात दोष का कुपित हो जाना बताया है | यह भस्म कफ एवं वात दोष शामक है एवं इसका वीर्य शीत होता है | इस वजह से यह सभी प्रकार के स्रावों को रोकने में कामयाब औषधि है |

श्वेतप्रदर की समस्या में इसे शहद के साथ सेवन करना चाहिए | प्रसव के बाद महिला के शरीर में आई कमजोरी के लिए इस भस्म के साथ प्रतापलंकेश्वर रस एवं दशमूल क्वाथ के साथ सेवन करने से बहुत जल्दी राहत मिलती है |

Dhootpapeshwar Kukkutandatvak Bhasma के फायदे एवं price

धूतपपेश्वर एक विश्वसनीय आयुर्वेद उत्पाद बनाने वाली कंपनी है | इसके उत्पाद तुलनात्मक महंगे परन्तु विश्वसनीय रहते हैं | शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक दवाओं के लिए इसके उत्पाद बहुत अच्छे हैं |

Dhootpapeshwar Kukkutandatvak Bhasma Details :-

  • Price (कीमत) – 130 रूपए
  • Quantity (मात्रा) – 10 ग्राम
  • Uses and Benefits (उपयोग और फायदे) – प्रमेह, शीघ्रपतन, वीर्य का पतलापन, श्वेत प्रदर |

बैद्यनाथ (Baidyanath Kukkutandatvak Bhasma) कुक्कुटांडत्वक भस्म की जानकारी |

Baidyanath Kukkutandatvak Bhasma
Baidyanath Kukkutandatvak Bhasma

Baidyanath Kukkutandatvak Bhasma Details :-

  • कीमत (Price) – 105 रूपए
  • मात्रा (quantity) – 10 ग्राम
  • Benefits – श्वेत प्रदर, मूत्र विकार, दुर्बलता, धातु पतलापन

कुक्कुटांडत्वक भस्म के नुकसान (Side Effects)

इसके सामान्यतः कोई दुष्प्रभाव नहीं हैं | बताई गयी विधि एवं मात्रा में सेवन करने से यह भस्म के सुरक्षित दवा है | आप इस भस्म का सेवन चिकित्सक की सलाह से एवं बताई गई मात्रा में ही करें |

हमारे अन्य उपयोगी एवं विशिष्ट लेख :-

नपुंसकता में इस भस्म का सेवन करें :- त्रिवंग भस्म

खनिज विष से बनी यह भस्म बहुत गुणकारी है जाने इसके फायदे

नपुंसकता की पतंजलि दवाओं के बारे में जानें

क्या है महिलाओं में श्वेतप्रदर की समस्या जाने इसके कारण, लक्षण एवं उपचार

यहाँ पर दी गयी जानकार कुक्कुटांडत्वक भस्म के बारें में आपके ज्ञान वर्धन के लिए है | किसी भी प्रकार की दवा का सेवन करने से पहले चिकित्सक की उचित सलाह जरुर लें |

अगर आपको जानकारी उपयोगी लगे तो शेयर एवं कमेंट करके जरुर बताएं इससे हमारा मनोबल बढ़ता है | धन्यवाद !

Avatar

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      +918000733602
      Logo
      Compare items
      • Total (0)
      Compare
      0