मधुमेह की आयुर्वेदिक दवाईयां – मधुमेह का आयुर्वेदिक उपचार

मधुमेह की आयुर्वेदिक दवाइयाँ एवं इसका आयुर्वेदिक उपचार

शुगर अथवा मधुमेह से पीड़ितों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है | इस रोग से पीड़ित व्यक्ति सहज जीवन जीने में असमर्थ होते है | खान – पान की पाबंदी, आहार – विहार की पाबंदी एवं शारीरिक क्षति के कारण यह रोग भयानक लगने लगता है | इससे पीड़ित व्यक्ति को हर समय हृदयघात, टी. बी. व अन्य समस्याओं का डर बना रहता है | अंग्रेजी चिकित्सा पद्धति में मधुमेह का कोई प्रमाणिक उपचार उपलब्ध नहीं है , वैसे किसी भी चिकित्सा पद्धति में इस रोग को खत्म करने की शायद सामर्थ्य नहीं है | लेकिन फिर भी आयुर्वेद एवं योग के माध्यम से मधुमेह पीड़ितों को मधुमेह को नियंत्रित रखने के उपाय सहज ही उपलब्ध हो जाते है | Ayurvedic Medicine for Diabetes in Hindi

ayurvedic-medicine-for-diabetes

आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में इस रोग को नियंत्रित रखने के लिए बहुत सी औषधियां उपलब्द है | अगर लम्बे समय तक मधुमेह को नियंत्रित रखना है एवं सहज जीवन जीना है तो आयुर्वेद चिकित्सा से इसका उपचार करवाएं | आयुर्वेदिक औषधियों को लम्बे समय तक प्रयोग करने से भी शरीर पर इनका कोई दुषप्रभाव नहीं पड़ता | लेकिन अगर आप इसका इलाज अंग्रेजी दवाइयों से कर रहे है तो निश्चित ही एक समय बाद ये दवाइयां अपना असर दिखाना कम कर देती है एवं साथ ही शरीर पर भी इनके प्रयोग से होने वाले साइड इफेक्ट्स को देखा जा सकता है | Ayurvedic Medicine for Diabetes in Hindi

मधुमेह का आयुर्वेदिक उपचार

मधुमेह रोग शरीर की धातु को नष्ट करता है एवं रोगी को ओजहीन बना देता है अर्थात रोगी के शरीर की रोगप्रतिरोधक एवं जीवनिय शक्ति का क्षय हो जाता है | शरीर में होती धातु क्षय और रोगी का अपने खान – पान पर ध्यान न देना ही मृत्यु का प्रमुख कारण बनता है | आयुर्वेदिक उपचार में मधुमेह के लिए निम्न दवाइयां उपलब्ध है | यह आर्टिकल सिर्फ आपके ज्ञान वर्द्धन के लिए लिखा गया है | अत: किसी भी औषधि के सेवन से पहले अपने निजी आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श करना अति आवश्यक है | निचे हमें कुछ आयुर्वेदिक दवाइयों के नाम एवं इनके घटक द्रव्यों की लिस्ट दी है जिसे आप देख सकते है | ये Ayurvedic Medicine for Diabetes in Hindi औषधियां हर आयुर्वेदिक स्टोर पर उपलब्ध है |

Ayurvedic Medicine for Diabetes in Hindi – मधुमेह का आयुर्वेदिक उपचार

मधुमेह के उपचार में आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में इन औषधियों का प्रयोग किया जाता है | वैसे शुगर के इलाज में बहुत सी औषधियां एवं द्रव्य उपलब्ध है लेकिन हमने बाज़ार में मिलने वाली आयुर्वेदिक दवाइयों की सूचि दी है |

Search
Sr. No.Ayurvedic Medicine NameIngredients – घटक द्रव्यProperties – गुण धर्मDose – सेवन मात्रा
1.मधुमेहनाशक चूर्ण (श्री मोहता)गुडमार, जामुन की गुठली, बिल्व पत्र, करेला, निम्ब पत्र, करंज बीज मींगी आदिशरीर में शर्करा की अधिकता को कम करता है एवं मधुमेह रोग में उपयोगी है2 से 3 ग्राम तक जल से दिन में दो बार या अपने चिकत्सक के परामर्शनुसार
2.गुडमार चूर्णगुडमारमधुमेह में उपयोगी1 से 2 ग्राम चिकित्सक के परामर्शनुसार |
3.गुडमार अर्कगुडमारमधुमेह और मूत्र रोगों में उपयोगी10 ml भोजन के बाद समभाग पानी के साथ चिकित्सक के निर्देशानुसार
4.मधुमेहनाशक वटी (श्री मोहता)करेला, मेही दाना, बिल्वपत्र, गुडमार, जामुन गुठली, शुद्ध शिलाजीत, निम्ब पत्र रस भावनार्थमधुमेह रोग की सिद्ध औषधि है | श्री मोहता कंपनी की यह शरीर की बढ़ी हुई चीनी की मात्रा को कम करता है |1 से 2 गोली चिकत्सक से परामर्शनुसार
5.प्रमेह गजकेशरी रसलौह भस्म, नाग भस्म, बंग भस्म, शु. शिलाजीतप्रमेह, शुक्रमेह, मधुमेह एवं धातुरोगों में लाभकारी है1 से 2 गोली चिकित्सक के परामर्शानुसार
6.मधुमेहनाशनी वटीआम गुठली, जामुन गुठली, शिलाजीत आदिमधेमेह, इक्षुमेह और शुक्रमेह में लाभकारी2 गोली जल से चिकित्सक के निर्देशानुसार |
7.माहेश्वर वटीस्वर्ण, अभ्रक, मोती, अष्टवर्ग आदिमूत्र रोगों, प्रमेह, मधुमेह में उपयोगी1 से 2 रति चिकित्सक के अनुसार
8.शिवागुटीशतावर , सफ़ेद जीरा, शिलाजीत एवं मुन्नका आदिमधुमेह एवं शुक्रमेह में उपयोगी आयुर्वेदिक दवाई2 गोली दूध से चिकित्सक के निर्देशानुसार
9.शिलाजत्वादी वटीशु. शिलाजीत, बिल्वपत्र, नीमपत्र, त्रिबंग भस्म आदिदौर्बल्य, शुगर एवं प्रमेह रोग में उपयोगी2 गोली दूध के साथ चिकित्सक के निर्देशानुसार
10.शुक्रमातृका वटीशुद्ध पारद, शुद्ध गंधक, अभ्रक भस्म, लौह भस्म, गौखरु, रसोत, अनारदाना एवं जीरा आदि |मधुमेह, मूत्रकृच्छ, स्वप्नदोष एवं धातु दुर्बलता में लाभकारी1 से 2 गोली जल के साथ अपने चिकित्सक के निर्देशानुसार
11.बसंतकुसुमाकर रसस्वर्ण भस्म, प्रवालपिष्टी, रस सिन्दूर आदि द्रव्यप्रमेह नाशक, बल वीर्य वर्द्धक, बाजीकरण व उत्तम रसायन |1 गोली शहद व दूध के साथ या अपने चिकित्सक के निर्देशानुसार
12.स्वर्ण बंगशु. कलई , पारद, गंधक एवं नौसादर आदिशुक्रमह एवं मधुमेह में लाभकारी Ayurvedic Medicine for Diabetes125 mg मलाई या दूध के साथ चिकित्सक के निर्देशानुसार
13.बंग भस्मरागामधुमेह , धातु दुर्बलता पेशाब में जलन एवं उत्तम बाजीकारक125 mg शहद से चिकित्सक के परामर्शनुसार
14.नाग भस्मनागप्रमेह, बांझपन एवं दुर्बलता आदि में उपयोगी125 mg शहद के साथ आयुर्वेदिक चिकित्सक के निर्देशानुसार
15.पुष्पधन्वा रसरससिन्दूर, नाग, लौह भस्म आदि |नाड़ी दौर्बल्य, वाजीकरण, शक्तिवर्द्धक एवं मधुमेह नाशक1 से 2 गोली दूध या मक्खन के साथ चिकित्सक के निर्देशानुसार |
16.चन्द्रप्रभावटीशु. शिलाजीत, लौह भस्म, चिरायता आदियह मधुमेह, दौर्बल्य एवं प्राय: सभी प्रकार के प्रमेह एव बस्तीरोगों आदि में लाभकारी है2 गोली प्रात: सांय दूध से चिकित्सक के निर्देशानुसार

Ayuvedic Medicine List for Diabetes .

One thought on “मधुमेह की आयुर्वेदिक दवाईयां – मधुमेह का आयुर्वेदिक उपचार

  1. Babu Lal Sharma says:

    आपके द्वारा उपलब्द कराई गई जानकारी काफी विश्वसनीय है एवं प्रमाणिक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जानें आहार के 15 नियम हमेंशा इनका पालन करके ही आहार ग्रहण करना चाहिए

प्रत्येक व्यक्ति के लिए ये नियम लागु होते है इन्हें सभी को अपनाना चाहिए पढ़ें अधिक 

Open chat
Hello
Can We Help You