दिमाग तेज़ कैसे करें – अपनाये इन योग और प्राणायामों को |

दिमाग तेज़ कैसे करें ?

दिमाग तेज़ कैसे करें – वर्तमान समय की दिनचर्या और खान – पान ने लोगों की सेहत पर इतने बुरे असर डालें है की जो आप सोच नहीं सकते | भले देखने में आपको कुछ भी न दिखे लेकिन जब आप आज के प्रचलित खाने और रहन – सहन का अध्यन करेंगे तो निश्चित ही आपको सभी बातें समझ में आ जाएँगी |

दिमाग तेज़ कैसे करें

image credits – punjabkesari.in

जवानी में बुढ़ापा, कैंसर जैसी बीमारियाँ और बहुत सी शारीरिक परेशानियाँ सिर्फ दिनचर्या और खान – पान के कारण पनप रही है | खानपान की यही आदतें व्यक्ति के शरीर के साथ – साथ दिमाग पर भी बुरा असर डाल रही है | बच्चों में दिमाग की कमी, बुजर्गों और युवाओं में भूलने की आदत इसके परिणाम है |

अगर आपके घर में भी कोई भूलने की समस्या या कमजोर दिमाग के कारण परेशान है, योग को अपनाकर वह निश्चित ही अपनी स्मरण शक्ति को तेज कर सकता है | योग एवं आयुर्वेद एसी चिकित्सकीय पद्धतियाँ है कि इनको अपना कर मनुष्य स्वस्थ जीवन व्यतीत कर सकता है | तो चलिए आज हम आपको बतातें है योग एवं प्राणायाम के कुछ आसन जिनको अपना कर आप स्मरण शक्ति को तेज बना सकते है |

दिमाग तेज़ करने के लिए आपनाये इन योग और प्राणायामों को 

1. स्मरण शक्ति बढाने के लिए सर्वांगासन

sarvangasan
img creadit – commons.wikipedia

स्मरण शक्ति बढ़ाने एवं दिमाग को तंदुरुस्त बनाने में महत्वपूर्ण योगासन है | इस आसन को करने से मष्तिष्क में रक्त का संचार बढ़ जाता है जिससे जिन लोगों की बुद्धि हमेशां भ्रमित रहती है एवं जिनका काम में मन नहीं लगता उनको फायदा मिलता है | इस आसन को नियमित रूप से करने पर दिमाग तेज बनता है |

विधि – सबसे पहले पीठ के बल समतल जगह पर लेट जाएँ | दोनों हाथों को कमर के अगल-बगल रखें | अब धीरे – धीरे पैरों को ऊपर उठायें | कोहनियों को जमीन से छुआदें और घुटनों को सीधा रखे | चेहरे को ऊपर आकाश की तरफ रखे | इस अवस्था में सामर्थ्य अनुसार रुके | कुछ देर रुकने के बाद पैरों को निचे ले आये | और पढ़े – सर्वांगासन के फायदे 

2. दिमाग तेज करने के लिए अपनाएं शीर्षासन

शीर्षासन योग भी बुद्धि को प्रखर बनाने और एकाग्रता बढ़ाने में महत्वपूर्ण आसन है | इस आसन में भी सिर के बल खड़ा होने से दिमाग में रक्त संचार बढ़ जाता है | जो स्मरण शक्ति और एकाग्रता को बढाने में अहम् भूमिका निभाता है | मानसिक दुर्बलता और मष्तिष्क के सभी प्रकार के रोगों में यह योगासन बहुत लाभदायक है | शीर्षासन को आसनों का राजा भी कहा जाता है | क्योंकि मष्तिष्क के साथ – साथ यह सम्पूर्ण शरीर का कायाकल्प करता है | दिमाग तेज करने का सबसे आसान उपाय माना जा सकता है |

विधि – वज्रासन में बैठ जाएँ | सिर को सामने की तरफ झुकाते हुए कम्बल या तकिये पर सिर का उपरी भाग टिका ले | दोनों हाथों की अँगुलियों को आपस में फंसा कर अपने सिर के पास घेरा बना ले | अप अपने सिर पर वजन देते हुए पैरों को ऊपर उठाये | इस अवस्था को शीर्षासन कहा जाता है | सामर्थ्य अनुसार इस स्थिति में रुके और फिर धीरे – धीरे अपने पैरों को निचे ले आयें | और पढ़ें – शीर्षासन के लाभ 

3. मत्स्यासन से दिमाग तेज़ कैसे करें

मत्स्यासन को अपनाने से भी दिमाग तेज बनता है | मत्स्यासन में मत्स्य का अर्थ मछली होता है | इस आसन को लगाकर लम्बे समय तक पानी में लेटा जा सकता है | मष्तिस्क को बल देने के साथ – साथ यह कमर सर्वाइकल स्पोंडलाइटिस में भी लाभदायी आसन है | नियमित अभ्यास से भूलने की बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है |

विधि – पद्मासन की मुद्रा में बैठ जाए | अब पीछे की और झुक कर लेट जाएँ | आने दोनों हाथो से दोनों पैरो के अंगूठे को पकड़ कर पैरों को थोडा ऊपर उठाने की कोशिश करे | अब अपने सिर का छोटी का भाग जमीन पर टिकाकर इसके बल अपनी कमर को ऊपर उठा ले | इस स्थिति में आप अपने सामर्थ्य अनुसार रुक सकते है | शुरुआत में 10 से 15 सेकंड ही अपनाये | नियमित अभ्यास से दिमाग तेज बनता है साथ ही फेफड़े मजबूत , हृदय को बल और सर्वाइकल जैसी समस्या में लाभ मिलता है |

4. दिमाग तेज़ करने के लिए अपनाये – भूचरी आसन

भूचरी आसन कमजोर याददास्त और एकाग्रता क बढ़ाती है | अगर नियमित तौर पर इस आसन को अपनाया जाए तो स्मरण शक्ति बढती है एवं याददास्त भी तेज होती है | अगर आप पढ़ कर भूल जाते है या कोई बात बार – बार बताने पर भी सही समय पर याद नहीं रहती तो एसी अवस्था में भूचरी आसन को अपनाना लाभदायक सिद्ध होगा |

विधि – सबसे पहले सुखासन में बैठ जाएँ | हथेलियों को ऊपर की तरफ अर्थात आकाश की तरफ रखे | गहरी श्वास ले और आरामव्स्था के साथ अपनी दोनों आँखे बंद करले | अब एक हाथ ऊपर अपने होठों के पास ले जाएँ | हथेली को निचे की तरफ रखते हुए अपने हाथ की समतल की हुई अंगुलियों से ऊपर के होठ को दबावे | धीरे से आंखे खोले और अपनी सबसे छोटी अंगुली को देखने का प्रयत्न करे | शुरुआत में कम समय के लिए और अभ्यास के बाद इस समय क बढाया जा सकता है |

5. स्मरण शक्ति एवं एकाग्रता के लिए अपनाये – उज्जायी प्राणायाम

उज्जायी प्राणायाम भी एकाग्रता को बढ़ा कर स्मरण शक्ति को तेज करता है  | साथ ही मानसिक रोगी , उन्मादी और अनिद्रा के रोगियों को भी इस प्राणायाम को अपनाने से लाभ मिलता है |

विधि – सबसे पहले पद्मासन में बैठ जाएँ | अब अपने होठों को बंद करके दोनों नासिका द्वारों से माध्यम गति  से वायु को अन्दर खीचें | वायु को इतना अन्दर ले की वह कंठो से लेकर हृदय प्रदेश तक भर जाए | इस स्थिति में कुछ देर कुम्भक करे अर्थात वायु को अन्दर सामर्थ्य अनुसार रोकने का प्रयत्न करे | कुम्भक करने के बाद अपने बाएं नासिका द्वार से वायु को बाहर निकाल दे | प्राणायाम क्या है और इसके फायदे पढ़ें यहाँ क्लिक करके 

 6. ध्यान द्वारा दिमाग तेज कैसे करे

meditation
Photograph: Nickolai Kashirin/Creative Commons meditation

मैडिटेशन मानसिक विकारों और अध्यात्म उपलब्धियों में सिर्फ अकेला एसा उपाय है, जिसके परिणाम आपको दोनों जहान में सबसे ऊपर रख सकते है | पद्मासन या सुखासन दोनों में से किसी भी आसन में ध्यान को लगाया जा सकता है | ध्यान करने से पहले ध्यान के समय एवं स्थान का निर्धारण आवश्यक होता है | ध्यान हमेशां सूर्योदय से पहले , जहाँ शांत एवं खुला वातावरण हो वहां लगाना चाहिए | नित्य 10 से 15 मिनट ध्यान में बैठना आपके सभी मानसिक विकारों को दूर कर सकता है | अगर आप एकाग्रचितता की कमी और भूलने जैसी मानसिक विकारों से ग्रषित है तो निश्चित ही ध्यान से अच्छा कोई विकल्प नहीं है | अगर आपने नियमित ध्यान को अपनाया तो दिमाग तेज़ कैसे करें इस प्रश्न को भूल जायेंगे |

दिमाग को तेज करने के कुछ घरेलु उपाय 

  • नित्य आंवले के रस को शहद के साथ मिलाकर चाटने से बुद्धि प्रखर बनती है |
  • नित्य दूध में सोंठ और साथ में दो बादाम को खाना आपकी स्मरण शक्ति को बढाता है |
  • गिलोय के साथ आंवला और जटामांसी को सामान मात्रा में लेकर इनका चूर्ण बना ले | इस चूर्ण का सेवन 3 ग्राम की मात्रा में सुबह के समय गुनगुने पानी के साथ करने से दिमाग तेज बनता है |
  • सभी प्रकार के मानसिक विकारों में ब्राह्मी रामबाण औषधि साबित होती है | ब्राह्मी चूर्ण या रस का सेवन करने से कमजोर स्मरण शक्ति की समस्या नहीं रहती | दिमाग तेज़ कैसे करें
  • लीची के तजा रस का सेवन नित्य दो चम्मच करने से जल्द ही दिमाग तेज बनता है |
  • गर्मियों में तीन ग्राम शंख पुष्पि के चूर्ण का सेवन आपकी याददास्त और दिमाग की कमजोरी को दूर करेगी |
  • नित्य बादाम मिला दूध लेना भी दिमाग तेज करने के घरेलू उपाय है |
  • सौंफ का चूर्ण बना कर नित्य शहद के साथ सेवन करना लाभदायक होता है |
  • इन दिमाग तेज कैसे करे के घरेलु नुस्खों के साथ योग के आसन और प्राणायाम को अपनाना अधिक लाभदायक सिद्ध होता है |

धन्यवाद |

Related Post

अगर आपको अजीर्ण ( अपच ) की समस्या है ! तो यह आपको ... अजीर्ण  भोजन का ठीक प्रकार से न पचना अजीर्ण कहलाता है | ज्यादा भोजन करने और गरिष्ट भोजन करने से खाना समय पर पच नहीं पाता और अजीर्ण हो...
मैग्नीशियम / Magnesium in Hindi- फायदे , कार्य , क... मैग्नीशियम / Magnesium in Hindi जिस प्रकार हमारे शरीर में कैल्सियम, फाॅस्फोरस, सोडियम और पोटैशियम महत्वपूर्ण होते हैं और इनके अपने-अपने कार्य होते है...
भारत की सबसे बड़ी बीमारी – काम वासना | पढ़े इस... हमारे देश में सबसे ज्यादा कामवासना से पीड़ित व्यक्ति रहते है | यह कोई मजाक नही है है एक रिसर्च के अनुसार भारत में 100 में से 90 व्यक्ति पुरे दिन कामवास...
आमवात ( Rheumatoid ) – कारण और औषध व्यवस्था ... आमवात ( Rheumatoid ) - कारण और औषध व्यवस्था आयुर्वेद में बहुत सी वात व्याधियों का वर्णन है | इनमे से एक आमवात  है जिसे हम गठिया रोग भी कह ...
Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.