desi nuskhe, Uncategorized, जड़ी - बूटियां

कपूर के घरेलु नुस्खो से मिलेगा स्वास्थ्य लाभ

कर्पुर / कपूर / Cinnamomum camphora

https://swadeshiupchar.in/2017/05/kapur-ke-swasthy-labh.html

कपूर के वृक्ष भारत में देहरादून, कर्नाटक, सहारनपुर, मैसूर और नीलगिरी के पर्वत श्रंखलाओ में पाए जाते है | इसके आलावा ये चीन, सुमात्रा और जापान में बहुतायत से पाए जाते है | कपूर चीन और जापान का ही मुख्य वृक्ष है, लेकिन इसके उत्पादन एक लिए इसे बाद में अन्य देशो में भी उगाया जाने लगा | कपूर के वृक्ष 60 से 70 फीट ऊँचे एवं घने होते है | इनके पते चिकने , मुलायम , अंडाकार, हरे रंग के लेकिन हल्का पीलापन लिए रहते है | कपूर के फुल सफ़ेद गुच्छो में लगते है जिन पर बाद में मटर के आकार के फल लगते है | कपूर की प्राप्ति भी इन्ही के निर्यास से की जाती है अर्थात disttilation ( काष्ठ आसवन) की विधि से कपूर को तैयार किया जाता है | यह गौंद की तरह होता है इसका रंग सफ़ेद तथा पारदरशी होता है | कपूर में एक तरह का उड़नशील तेल मिलता है | आयुर्वेद में इसी कपूर का इस्तेमाल औषध निर्माण में किया जाता है |

 

https://swadeshiupchar.in/2017/05/kapur-ke-swasthy-labh.html
कपूर के फुल

कर्पुर का प्रयोग पूजा पाठ में तो होता ही है इसके अलावा यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है | इसका रस – कटु और मधुर , गुण – लघु और तीक्ष्ण , वीर्य -शीत और विपाक – कटु होता है | कपूर त्रिदोषशामक , विसूचिका, ह्रदय रोग, अरुचि, छर्दी , मूत्र रोगों में लाभकारी , आमवात, ज्वरघन और बाजीकारक होता है | आयुर्वेद औषध निर्माण में कर्पुर से अमृतधारा , कर्पुरासव, कर्पुर तेल, कर्पूररस और पंचगुण तेल आदि औषधियां बनाई जाती है |

 

कपूर तेल

कपूर के घरेलु नुस्खो से मिलेगा स्वास्थ्य लाभ 

 

  1. गठिया रोग में कपूर तेल से जॉइंट्स की मसाज करने से दर्द में लाभ मिलता है |
  2. त्वचा रोगों में थोड़े से कपूर को नारियल के तेल में घिस कर प्रभावित स्थान पर लगावे, त्वचा रोगों में लाभ मिलेगा | चहरे पर पिंपल्स या फुंसियो में भी आप इसका इस्तेमाल कर सकते है |
  3. बलों में रुसी हो या बाल झड रहे हो तो कपूर के तेल को हल्का गरम कर के सिर में मालिश करे , बालों का झाड़ना, रुसी की शिकायत आदि में लाभ मिलेगा |
  4. जली हुई जगह पर कपूर को पानी में घोल कर लगाने से जलन में आराम मिलता है एवं घाव आदि भी जल्दी भरता है |
  5. जुकाम होने या नाक  बंद होने पर कपूर को सूंघे , यह आपकी बंद नाक को खोलेगा और साथ ही जुकाम में भी आराम देगा |
  6. अगर आपकी एडिया हमेशां फटती हो तो एक बार कपूर का इस्तेमाल जरुर करे , कपूर को गरम पानी में मिलकर इस पानी में 10 मिनट के लिए पैरो को डुबाये रखे | निकालने के बाद पैरो को अच्छी तरह पौंछ कर इनपर तेल लगा ले | इससे जल्दी ही फटी एडियाँ ठीक हो जाती है |
  7. सिरदर्द में आप कपूर के तेल की थोड़ी सी मालिश सिर पर करे यह आपको मानसिक और शारीरिक तनाव से भी छुटकारा दिलाएगी , जिससे आप फ्रेश महसूस करेंगे एवं सिरदर्द भी जाता रहेगा |
अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो इसे सोशल साईट पर जरुर शेयर करे | आपका एक शेयर हमारे लिए प्रेरणा है जो हमें अन्य पोस्ट लिखने की लिए उर्जा देता है | स्वदेशी उपचार के फेसबुक पेज को भी लाइक कर ले ताकि आप तक हमारी सभी महत्वपूर्ण स्वस्थ्य पोस्ट पंहुचती रहे |
 
धन्यवाद |

About स्वदेशी उपचार

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.