पतंजलि यौवनामृत एवं अश्वशिला कैप्सूल : पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल

पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल: बाबा रामदेव की आयुर्वेदिक फार्मेसी आयुर्वेदिक उत्पादों के निर्माण में विश्वभर में अग्रणी है | पतंजलि द्वारा विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के लिए उत्पाद एवं दवाएं निर्माण की जाती है | अगर आप शारीरिक शक्ति की कमी से झुझ रहें है तो यौवनामृत एवं अश्वशिला कैप्सूल के प्रयोग से आसानी से अपनी खोई हुई शारीरिक शक्ति प्राप्त कर सकते है |

शारीरिक शक्ति की कमी विभिन्न कारणों से हो सकती है जैसे शुक्र धातु की कमी, लम्बे समय से कोई रोग, धातु दुर्बलता, मधुमेह, एवं वीर्य विकार आदि | इन सभी कारणों को देखते हुए पतंजलि के शक्तिवर्द्धक कैप्सूल का प्रयोग करना अत्यंत फायदेमंद है |

यहाँ इस लेख में हम आपको पतंजलि के प्रशिद्ध शक्तिवर्धक कैप्सूल के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे |

पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल यौन दुर्बलताओं के लिए | Patanjali Sex Power Capsule

  1. पतंजलि यौवनामृत वटी
  2. पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल

पतंजलि कम्पनी की यह दोनों दवाएं विभिन्न प्रकार की यौन दुर्बलताओं में विश्वसनीय आयुर्वेदिक कैप्सूल है | इनका प्रयोग शरीर की खोई हुई सेक्स पॉवर को बढ़ाने के लिए किया जाता है | ये कैप्सूल आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से मिलकर बनें है जो शरीर में शक्ति वर्द्धन करके का कार्य करते है |

इन्हें एक प्रकार का आयुर्वेदिक अफ्रोडीसिअक (aphrodisiac) कैप्सूल कहा जा सकता है | जिनका मुख्य कार्य पुरुषों की खोई हुए शारीरिक शक्ति को बढ़ाना है | ये प्राकृतिक रूप से शरीर में त्रिदोषों को संतुलित करते है एवं यौन कमजोरियों को दूर करते है |

महत्वपूर्ण ये भी है कि ये शक्तिवर्धक कैप्सूल नुकसान रहित है | इनका कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है | हालाँकि निर्देशित मात्रा में पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल को सेवन करना चाहिए |

1. पतंजलि यौवनामृत वटी है शक्तिवर्धक कैप्सूल

यह पतंजलि कम्पनी की शक्तिवर्धक कैप्सूल है जो विभिन्न यौन दुर्बलताओं (Sexual Weakness) में उपयोग होती है | इसमें अश्वगंधा, शुद्ध कौंच बीज, शतावरी, सफ़ेद मुसली, प्रवाल पिष्टी एवं वंग भस्म आदि आयुर्वेदिक घटक है जो इसे सभी यौन समस्यों के लिए उत्तम दवा साबित करते है |

यह खोई हुई शारीरिक शक्ति को फिर से बढ़ाने का कार्य करता है | इन कैप्सूल का प्रयोग शीघ्रपतन, धातु दुर्बलता एवं वीर्य विकारों में किया जाता है |

इसके गुणों को जानने के बाद पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल के घटक आदि के बारे में बताते है |

यौवनामृत वटी के घटक | Ingredients of Younamrit Vati

इसमें निम्न घटक द्रव्य उपस्थित है –

  • अश्वगंधा
  • सफ़ेद मुसली
  • कौंच बीज
  • शतावरी
  • जावित्री
  • जायफल
  • शुद्ध कुचला
  • अकरकरा
  • स्वर्ण भस्म
  • प्रवाल पिष्टी
  • वंग भस्म
  • शिलाजीत शुद्ध
  • पान स्वरस

पतंजलि यौवनामृत वटी के फायदे शक्ति वर्धक कैप्सूल के रूप में

⇛ यह पुरुषों की यौन समस्याओं में यौवनामृत वटी बहुत लाभदायक है |

⇛ शीघ्रपतन को दूर करने में यह पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल फायदेमंद है |

⇛ धातु दुर्बलता में यह कैप्सूल अत्यंत फायदेमंद है |

⇛ नपुंसकता एवं वीर्य के कम बनने की समस्या में भी ये पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल फायदेमंद है |

⇛ सेक्सुअल पॉवर बढ़ाने के लिए यौवनामृत वटी का इस्तेमाल वैद्य सलाह से करना अत्यंत फायदेमंद है |

सेवन विधि एवं मात्रा: 1 से 2 कैप्सूल दिन में दो बार भोजन के पश्चात या वैद्य सलाह अनुसार |

2. पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल | Patanjali Ashwashila Capsule

पतंजलि का यह शक्तिवर्धक कैप्सूल अश्वगंधा एवं शिलाजीत के संयोग से निर्मित होने वाला कैप्सूल है | इसमें घटक के रूप में अश्वगंधा एवं शिलाजीत का एक्सट्रेक्ट उपस्थित है | एक्सट्रेक्ट होने के कारण यह तुरंत असर करती है | यह पुरुष फर्टिलिटी बढ़ाने वाली आयुर्वेदिक औषधि है |

शीघ्रपतन, नपुंसकता, वीर्य का पतलापन एवं शारीरिक कमजोरी में अश्वशिला कैप्सूल एक बेहतरीन पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल है |

यह बाजार में बिना पर्चे के मिलने वाली औषधि है | बाजार में यह सभी पतंजलि स्टोर एवं ऑनलाइन बाजार में उपस्थित है | इसे ऑनलाइन एवं मेडिकल स्टोर से ख़रीदा जा सकता है |

अश्वशिला के घटक | Ingredients of Ashwashila Capsule

  • अश्वगंधा एक्सट्रेक्ट
  • शिलाजीत एक्सट्रेक्ट

अश्वशिला कैप्सूल के फायदे

⇛ यह उत्तम एंटीओक्सिडेंट एवं एंटी इन्फ्लामेटरी गुणों से परिपूर्ण औषधि है |

⇛ अश्वगंधा होने के कारण स्ट्रेस मैनेजमेंट में अच्छा कार्य करती है |

⇛ सीमेन डेफिशियेंसी में भी अश्वाशिला अच्छे परिणाम देती है |

⇛ शीघ्रपतन की समस्या में अश्वशिला कैप्सूल एक उत्तम पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल है |

⇛ Nightfall (स्वप्नप्रमेह) की समस्या में यह उत्तम परिणाम देती है |

⇛ सामान्य शारीरिक दुर्बलता में इस दवा के प्रयोग से अच्छा लाभ मिलता है |

मात्रा एवं सेवन विधि: इसका सेवन 1 से 2 कैप्सूल की मात्रा में दिन में दो बार खाना खाने से पहले या बाद में वैद्य सलाह से किया जा सकता है |

निष्कर्ष | Conclusion

यहाँ वर्णित पतंजलि शक्तिवर्धक कैप्सूल में हमने अश्वशिला एवं यौवनामृत वटी के बारे में बताया है | इन दो प्रमुख कैप्सूल के अलावा भी पतंजलि फार्मेसी द्वारा विभिन्न दवाएं निर्माण की जाती है जो शक्तिवर्धक कैप्सूल, सिरप एवं चूर्ण फॉर्म में भी उपलब्ध है | इन दोनों दवाओं का प्रयोग वैद्य सलाह से शारीरिक शक्ति वर्द्धन के लिए किया जा सकता है | यौवनामृत वटी एवं अश्वशिला कैप्सूल नुकसान रहित औषधि है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *