स्तंभन दोष की आयुर्वेदिक दवाएं – पतंजलि, बैद्यनाथ, सुपचार एवं अन्य

स्तंभन दोष की आयुर्वेदिक दवा : पुरुषों के जीवन में स्तंभन दोष एक अभिशाप जैसा है | क्योंकि स्तंभन दोष को नामर्दी से जोड़कर देखा जाता है; वैसे नामर्दी को इस संसार में विभिन्न अर्थों में प्रयोग किया जाता है | यहाँ हम स्तंभन दोष की आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में विस्तृत रूप से बता रहें है | इस आर्टिकल में आयुर्वेद की शास्त्रोक्त एवं कुछ नविन हर्बल फार्मूलेशन के बारे में बताएँगे जो नपुंसकता के उपचार में प्रमुखता से वैद्य प्रयोग करते है |

Post Contents

सबसे पहले ये जान लेते है कि स्तंभन दोष होता क्या है ?

स्तंभन दोष वह शारीरिक एवं मानसिक स्थिति है जिसके कारण पुरुष सहवास करने में समर्थ नहीं हो पाता है | सामान्यत: एसी स्थिति में पुरुष जननांग में प्रयाप्त तनाव नहीं आता या अगर तनाव आता है तो सहवास की इच्छा नहीं होती | पुरुष स्त्री को पूर्ण रूप से संतुष्ट करने में असमर्थ होता है | इस स्थिति को नामर्दी या नपुंसकता या स्केतंभन दोष के नाम से जानते है |

आयुर्वेद चिकित्सा में इसे क्लैव्य नाम से लिखा गया है | क्लैव्य से तात्पर्य है कि जो मनुष्य मैथुन करने में असमर्थ हो अपनी स्त्री के पास जाने में भी उसे भय सताता हो उसके भाव को क्लैव्य अर्थात नपुंसकता या स्तंभन दोष कहते है |

संकल्पप्रवनो नित्यं प्रियं वश्यमपि श्रेय्यं ||
न याथी लिंगशैथिल्यथ कड़ाचिद्यति वा यादी |
श्वासारथाः स्वाइनगात्रश्च मोघसंकल्पपचेष्टितः ||
मल्लानाशिश्नश्च निर्बीजाह स्योदत क्लेब्यलक्षणम |

स्तंभन दोष की प्रमुख आयुर्वेदिक दवाएं

यहाँ हम स्तंभन दोष (ED) में प्रयोग होने वाली प्रमुख आयुर्वेदिक दवाओं की सूचि आपको उपलब्ध करवा रहें है | इन दवाओं का प्रयोग वैद्य के दिशानिर्देशों अनुसार ही करना चाहिए | यह आर्टिकल महज ज्ञान वर्द्धि के लिए लिखा गया है | लेखक खुद आयुर्वेदिक उपवैद्य है एवं लगभग 10 वर्षों से सेवाएं दे रहें है |

कामसुधा योग है स्तंभन दोष में उपयोगी

इस आयुर्वेदिक उत्पाद को मुख्यत: इरेक्टाइल डिसफंक्शन में प्रयोग किया जाता है | यह प्रोप्रिएटर वाजीकरण आयुर्वेदिक फार्मूलेशन है जिसका निर्माण कुल 21 प्रकार की जड़ी – बूटियों एवं खनिज द्रव्यों से किया गया है | जो पुरुषों की यौन कमजोरियों में तुरंत एवं लम्बे समय तक असर दिखाती है | इसमें अश्वगंधा, अतिबला, सिद्ध मकरध्वज, समुद्रशोष जैसे कुल 21 वाजीकरण द्रव्य है: जो स्तंभन दोष में उपयोगी है | कामसुधा योग के बारे में विस्तृत यहाँ निचे से जान सकते है |

कामसुधा योग

स्तंभन दोष की आयुर्वेदिक दवा

स्तंभन दोष की प्रमुख दवा

  • फॉर्म – हर्बल एक्सट्रेक्ट कैप्सूल
  • मात्रा – 60 वेज कैप्सूल
  • उपयोग – सेक्सुअल हेल्थ एवं शुक्राणुओं की कमी
  • मैन्युफैक्चरर – सुपचार हेर्बल्स प्राइवेट लिमिटेड
  • मूल्य – 1150
  • उपलब्धता – ऑनलाइन एवं ऑफलाइन

कामसुधा योग के फायदे एवं नुकसान

निम्न सारणी से आप इस औषधि के फायदे एवं नुकसान जान सकते है |

फायदे

  • पुरुषों की यौन कमजोरियों का अतिउत्तम आयुर्वेदिक योग है |
  • इरेक्टाइल डिसफंक्शन में उपयोगी है |
  • यह बल्य, रसायन एवं वातनाशक आयुर्वेदिक योग है |
  • वाजीकरण द्रव्यों से निर्मित है |
  • पूर्णत: एक्सट्रेक्ट से बना हुआ है अत: जल्द असर दिखाती है
  • वातादि दोष नाशक है अत: वातादि दोषों के कारण हुए स्तंभन दोष में अच्छा परिणाम देती है |
  • वेज कैप्सूल होने के कारण ग्रहण करने में आसानी होती है |
  • हर्बल फार्मूलेशन होने के कारण नुकसान रहित है |
  • स्तंभन दोष के साथ – साथ धातु वर्द्धक भी है | यह शरीर में शुक्र की वृद्धि भी करती है |

नुकसान

  • वैद्य के दिशानिर्देशों अनुसार सेवन करना चाहिए |
  • अधिक मात्रा में सेवन करने पर सीने में जलन जैसी समस्या हो सकती है |

प्रोमाक्टिल कैप्सूल स्तंभन की दवा

केरला आयुर्वेद की यह दवा स्तंभन दोष में उपयोग ली जाती है | इसका निर्माण गोखरू, कौंच एवं गिलोय जैसे औषध द्रव्यों से किया जाता है | इरेक्टाइल डिसफंक्शन रोग में भी इस दवा का प्रयोग लाभदायक होता है | साथ ही हार्मोनल बैलेंस को ठीक करती है | यहाँ निचे से आप इसका मूल्य आदि जान सकते है |

Promactile Capsule

promactile capsules

स्तंभन दोष की दवा

  • फॉर्म – कैप्सूल्स
  • मात्रा – 10*10
  • उपयोग – स्तंभन दोष एवं शुक्राणुओं की कमी
  • मैन्युफैक्चरर – केरला आयुर्वेद
  • मूल्य – 850
  • उपलब्धता – ऑनलाइन एवं ऑफलाइन

प्रोमोक्टिले कैप्सूल के फायदे एवं नुकसान

निम्न सारणी के माध्यम से आप प्रोमोक्टिले कैप्सूल के फायदे एवं नुकसान जान सकते है |

फायदे

  • आयुर्वेदिक फार्मूलेशन है अत: नुकसान रहित है |
  • स्तंभन दोष में इसका प्रयोग लाभदायक होता है |
  • अश्वगंधा, शतावरी, गोखरू एवं कौंच जैसी जड़ी – बूटियों से निर्मित दवा है | जो पुरुषों के लिए स्तंभन बढ़ाने में उपयोगी है |
  • नियमित सेवन से शुक्राणुओं में सुधर होता है |

नुकसान

  • आसानी से उपलब्ध नहीं होती |
  • वैद्य के परामर्श से ही सेवन करना चाहिए |
  • अधिक मात्रा में सेवन करने से शरीर में उष्णता बढ़ सकती है |

बैद्यनाथ सिद्धमकर ध्वज

सिद्धमकर ध्वज बल्य एवं रसायन औषधि है | यह आयुर्वेद की शास्त्रोक्त औषधि है | जिसका निर्माण रसायन शास्त्र के अनुसार किया जाता है | स्तंभन दोष की दवा के रूप में मकरध्वज भी प्रसिद्द दवा है | यह पारद, गंधक, जायफल एवं कालीमिर्च आदि आयुर्वेदिक द्रव्यों से निर्माण किया जाता है | स्तंभन के साथ – साथ मधुमेह रोग में भी उपयोगी है |

सिद्धमकर ध्वज

बैद्यनाथ मकरध्वज

  • फॉर्म – वटी (टेबलेट्स)
  • मात्रा – 10 वटी / गुटिका
  • मूल्य – 850
  • उपयोग – सेक्सुअल हेल्थ एवं मधुमेह
  • मैन्युफैक्चरर – बैद्यनाथ
  • उपलब्धता – ऑनलाइन एवं ऑफलाइन

सिद्ध मकरध्वज के फायदे एवं नुकसान

निम्न सारणी से सिद्ध मकरध्वज के फायेदे एवं नुकसान के बारे में आसानी से समझ सकते है | ध्यान दें – इन औषधियों का वर्णन सिर्फ ज्ञान वर्द्धन के लिए किया गया | खुद से इनका सेवन न करें वैद्य परामर्श अवश्य लें

फायदे

  • विश्वसनीय आयुर्वेदिक फार्मेसी की दवा है |
  • सिद्ध मकरध्वज शास्त्रोक्त औषधि है जिसका प्रयोग प्राचीन समय से ही होता आया है |
  • यह स्तंभन दोष एवं पुरुषों की यौन कमजोरियों में प्रमुखता से प्रयोग की जाती है |
  • यौन कमजोरियों के अलावा इसका प्रयोग शारीरिक कमजोरी, मधुमेह जैसे रोगों में भी करते है |
  • रसायन औषधि है |

नुकसान

  • वैद्य परामर्श बिना सेवन करना स्वास्थ्य के लिए नुकसान दायक हो सकता है |
  • सिमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए |
  • अधिक मात्रा में प्रयोग करने से पेट में जलन, एवं शरीर में अम्लता बढ़ सकती है | अत: वैद्य निर्देशानुसार ही सेवन करना चाहिए |

कामाग्नि संदीपन रस मानसिक स्तंभन दोष की दवा

यह आयुर्वेद की शास्त्रोक्त रसायन औषधि है | इसका प्रयोग मानसिक नपुंसकता के उपचार में किया जाता है | यह पुरुषों में आई मानसिक नपुंसकता को दूर करती है | मन में उत्तेजना पैदा करती है एवं शुक्रवाहिनी नाड़ी को बल देती है | इसे मानसिक नामर्दी की आयुर्वेदिक दवा भी कह सकते है |

कामाग्नि संदीपन रस

कामाग्नि संदीपन रस

मानसिक स्तंभन दोष की दवा

  • फॉर्म – गुटिका
  • मात्रा – 10
  • मूल्य – ****
  • मैन्युफैक्चरर – बहुत कम फार्मसी इसे बनाती है |
  • उपलब्धता – ऑफलाइन

कामाग्नि संदीपन रस के फायदे एवं नुकसान

निम्न सारणी से आप कामाग्नि संदीपन रस के फायदे एवं नुकसान के बारे में जान सकते है |

फायदे

  • यह मानसिक नपुंसकता में अत्यंत उपयोगी है |
  • यह पुरुषों में काम शक्ति की वृद्धि करती है |
  • शुक्रवाहिनी नाड़ी को बल देती है |
  • शरीर में कामशक्ति की उत्तेजना पैदा करती है |

नुकसान

  • गंधक, पारद एवं धतूरे से बनी होने के कारण बिना वैद्य परामर्श सेवन करना नुकसान दायक है |
  • लम्बे समय तक इस औषधि का सेवन नहीं करना चाहिए |
  • बाजार में उपलब्धता बहुत कम है | क्योंकि यह नुकसान दायक साबित हो सकती है इसलिए बहुत ही कम फार्मेसी इसका निर्माण करती है |

पतंजलि यौवन गोल्ड कैप्सूल

स्तंभन दोष के लिए पतंजलि फार्मेसी का यौवन गोल्ड कैप्सूल भी उपयोगी साबित हो सकता है | हालाँकि स्तंभन दोष में यौवन गोल्ड अन्य दवाओं के मुकाबले थोड़ी कमजोर हो सकती है | इसका निर्माण आयुर्वेदिक द्रवों एवं योगों से किया गया है | यह नुकसान रहित आयुर्वेदिक दवा है |

पतंजलि यौवन गोल्ड कैप्सूल

स्तंभन दोष की दवा पतंजलि

  • फॉर्म – कैप्सूल
  • मात्रा – 10
  • मूल्य – 750 रूपए
  • उपयोग – सामान्य यौनशक्ति वर्द्धक
  • मैन्युफैक्चरर – पतंजलि आयुर्वेद
  • उपलब्धता – ऑनलाइन एवं ऑफलाइन

पतंजलि यौवन गोल्ड कैप्सूल के फायदे एवं नुकसान

फायदे

  • विश्वसनीय आयुर्वेदिक ब्रांड पतंजलि का उत्पाद है |
  • कैप्सूल फॉर्म होने के कारण लेने में आसानी है |
  • स्तंभन दोष में उपयोग की जा सकती है |
  • ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं है |

नुकसान

  • अधिक मात्रा में सेवन करने से सीने में जलन, पेट में जलन एवं अम्लता बढ़ सकती है |

स्तंभन दोष के लिए विगोरा – एम् तेल

इसे स्तंभन दोष के लिए सबसे अच्छा तेल माना जा सकता है | आयुर्वेद के 14 प्रकार के औषध द्रव्यों एवं हर्बल तेल से बना यह तेल स्तंभन दोष को ठीक करने में कारगर है | इसकी नियमित मसाज से रक्त संचार बढ़ता है एवं नपुंसकत दूर होती है | यह लिंग की मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करता है | इसमें देवदार एवं दालचीनी तेल का मिश्रण भी होता है जो इसे स्तंभन दोष में और अधिक उपयोगी बनाता है |

विगोरा एम् तेल

स्तंभन दोष का आयुर्वेदिक तेल

  • फॉर्म – मेडिकेटिड तेल
  • मात्रा – 30 मिली
  • मूल्य – 499 रूपए
  • उपयोग – स्तंभन दोष एवं शीघ्रस्खलन
  • मैन्युफैक्चरर – दीप आयुर्वेद
  • उपलब्धता – ऑनलाइन एवं ऑफलाइन

विगोरा एम् आयल के फायदे एवं नुकसान

फायदे

  • हर्बल आयल है अत: नुकसान रहित है |
  • एक्सटर्नल उपयोग में लिया जाता है अत: अधिक कार्यकारी है |
  • विश्वसनीय हेर्ब्स से निर्मती है |
  • नियमित मसाज से स्तंभन दोष ठीक होता है एवं लिंग का आकार भी सुधरता है |
  • जल्द ही असर दिखाता है |
  • वैद्य परामर्श आवश्यक नहीं |

नुकसान

  • हल्की जलन महसूस हो सकती है जो इसके कार्य करने का तरीका है |
  • अन्य कोई ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं है

स्तंभन दोष की आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में सामान्य सवाल – जवाब

क्या इन दवाओं का इस्तेमाल सुरक्षित है ?

ऊपर निर्देशित आयुर्वेदिक दवाएं अपने – आप में सुरक्षित है एवं इनका कोई ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं है | लेकिन फिर भी इनका सेवन करने से पहले वैद्य सलाह सर्वोपरि है |

क्या अंग्रेजी दवाओं के साथ इनका सेवन कर सकते है ?

अधिकतर ये दवाएं सुरक्षित है एवं अंग्रेजी दवाओं के साथ प्रयोग की जा सकती है लेकिन अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें |

इन दवाओं के साथ क्या अनुपान लिया जाना चाहिए ?

स्तंभन दोष की अधिकतर दवाओं के साथ अनुपान स्वरुप दूध, मलाई, मक्खन एवं जल का प्रयोग किया जाता है | अधिक जानकारी के लिए वैद्य से परामर्श लें |

महत्वपूर्ण

यह आर्टिकल महज स्तंभन दोष की आयुर्वेदिक दवाओं के सामान्य ज्ञान के लिए लिखा गया है | यह लेख स्वास्थ्य सलाह नहीं है | इन दवाओं का सेवन करने से पहले वैद्य का परामर्श अवश्य लें | प्रत्येक मनुष्य की प्रकृति एवं रोग की स्थिति भिन्न होती है अत: एक ही दवा दो व्यक्तियों के लिए अलग – अलग कार्य कर सकती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जानें ब्रह्म रसायन के फायदे चमत्कारिक आयुर्वेदिक औषधि

सभी उम्र के व्यक्तियों के लिए अत्यंत लाभदायी औषध है | आयुर्वेद में इसे रसायन एवं वाजीकरण औषधियों में गिना जाता है

Open chat
Hello
Can We Help You