बवासीर की दवा – बैद्यनाथ की महत्वपूर्ण 6 दवाएं

बवासीर उष्ण प्रदेशों का सबसे पीड़ादाई रोग है | यह रोग पाचन की गड़बड़ी एवं कब्ज के कारण होता है | अत्यंत पीड़ादेने वाला यह रोग ख़राब पाचन, पुरानी कब्ज, गर्भावस्था, गैस्ट्रिक विकार एवं अनुवान्सिक कारणों से हो सकता है |

अंग्रेजी चिकित्सा पद्धति में इस रोग का कोई स्थाई समाधान उपलब्ध नहीं है | आयुर्वेद में विभिन्न आयुर्वेदिक दवाओं, आहार – विहार एवं क्षार सूत्र विधि आदि से इसका स्थाई उपचार किया जाता है |

आज इस आर्टिकल में हम बैद्यनाथ कंपनी की बवासीर की दवा के बारे में बताएँगे | यह आर्टिकल महज आपके ज्ञान वर्द्धन के लिए है | कृप्या उपचार या सेवन से पहले अपने आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श अवश्य करें |

बैद्यनाथ बवासीर की 6 महत्वपूर्ण दवाएं / 6 Most Useful Medicine of Baidyanath for Piles

बैद्यनाथ फार्मेसी आयुर्वेद जगत में सबसे भरोसेमंद नाम है | लगभग 100 वर्ष पुरानी यह कंपनी अपनी पेटेंट एवं क्लासिकल दवाओं के कारण प्रसिद्द है | बवासीर के लिए बैद्यनाथ की कई पेटेंट दवाएं जिनके बारे में हमने यहाँ निचे विवरण उपलब्ध करवाया है |

1. बैद्यनाथ अर्शोघ्नी वटी / Baidyanath Arshoghni Vati

पाईल्स (बवासीर) में अर्शोघ्नी वटी अत्यंत फायदेमंद है | यह रोग के मूल कारण को ख़त्म करती है | इस दवा में नीम, बकायन, खूनखराबा, रसोंत एवं कहरवा पिष्टी आदि घटक द्रव्यों का समावेश है | यह खुनी एवं बादी दोनों बवासीर में कारगर है |

बवासीर की बैद्यनाथ दवा
arshoghani vati

मूल्य (Price) – 130 रु (40 टेबलेट्स)

सेवन विधि – इसका सेवन 1 – 1 गोली दिन में दो बार मट्ठे या पानी के साथ करना चाहिए | सेवन के समय मिर्च – मसालेदार भोजन से परहेज रखें

2. पाइराइड टेबलेट्स / Pirrhoids Tablets

यह बवासीर के पीड़ादाई दर्द से छुटकारा दिलाकर पाइल्स को ठीक करने में समर्थ दवा है | यह आंतरिक और बाह्य दोनों प्रकार से रोग में आराम प्रदान करती है | इसके निर्माण में विभिन्न आयुर्वेदिक घटक द्रव्यों का समावेश किया गया है | घटक द्र्य्व के रूप में अर्शोघ्नी वटी, प्रवाल पिष्टी, जमीकंद, बोल एवं खस जैसे अन्य महत्वपूर्ण जड़ी – बूटियों से निर्मित है |

बैद्यनाथ पिर्र्होइद्स
baidyanath pirrhoids

मूल्य (Price) – 195 रु (50 टेबलेट्स)

सेवन विधि – इस बवासीर की दवा बैद्यनाथ का सेवन 2 गोली दिन में दो बार छाछ या पानी के साथ करना चाहिए |

3. बैद्यनाथ अर्शकुठार रस / Baidyanath Arshkuthar Rasa

अर्शकुठार रस शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक दवा है | इसका निर्माण विभिन्न फार्मेसियां करती है | बैद्यनाथ अपनी प्रमाणिक दवाओं के कारण जाना जाता है | अर्शकुठार रस बवासीर में तुरंत रहत प्रदान करती है | यह कब्ज की शिकायत को ठीक करती है | बादी एवं खुनी दोनों प्रकार की बवासीर में लाभ प्रदान करती है | बैद्यनाथ बवासीर की दवा के रूप में प्रचलित है |

बैद्यनाथ अर्शकुठार रस
baidyanath arshkuthar rasa

मूल्य (Price) – 74 रु (40 Tab)

सेवन विधि – 1 से 2 गोली सुबह – शाम गुलकंद के साथ सेवन की जा सकती है | अधिक जानकारी के लिए वैद्य का परामर्श आवश्यक है |

4. बैद्यनाथ सप्तविंशति गुग्गुलु / Baidyanath Saptvinshati Guggulu

चित्रकमूल, त्रिकटु, त्रिफला, वायविडंग, गिलोय, इद्रायण की जड़ एवं दारुहल्दी जैसी विभिन जड़ी – बूटियों से निर्मित यह दवा गुदा के विकार, मूत्रनली के विकार, भगंदर, बवासीर एवं नाड़ीव्रण आदि रोगों में काफी लाभदायक सिद्ध होती है | भैषज्य रत्नावली के अनुसार इस बैद्यनाथ बवासीर की दवा का निर्माण किया जाता है |

बैद्यनाथ सप्तविंशती गुग्गुलु
saptvinshati guggulu

मूल्य (Price) – 205 रु (80 टेबलेट्स)

सेवन विधि – 2 से 4 गोली सुबह – शाम दूध या शहद के साथ सेवन करनी चाहिए |

5. बैद्यनाथ कांकायन वटी (अर्श) / Baidyanath Kankayan Vati Arsh in Hindi

बवासीर की दवा बैद्यनाथ में यह वटी भी सुप्रशिद्ध है | इसका निर्माण हरड, कालीमिर्च, जीरा, पिप्पल, पिप्पलामुल, भिलावा, जिमीकंद, यवक्षार, चित्रक, चव्य, सौंठ एवं गुड आदि जड़ी – बूटियों के योग से किया जाता है |

यह दोनों प्रकार की बवासीर में बहुत ही कारगर आयुर्वेदिक दवा है | कब्ज को ख़त्म करती है एवं बवासीर के मस्सों को सुखाने का कार्य करती है | साथ ही भूख की कमी, पेटदर्द एवं कब्ज को खत्म करती है |

बैद्यनाथ कंकायन वटी
baidyanath kankayan bati

मूल्य (Price) – 69 रूपए (40 टेबलेट्स)

सेवन विधि – चिकित्सक के परामर्शानुसार 2 से 4 गोली मट्ठे के साथ सेवन करनी चाहिए |

6. बैद्यनाथ प्राणदा गुटिका / Pranada Gutika

प्राणदा गुटिका भी बवासीर की उत्तम आयुर्वेदिक दवा है | यह खुनी, बादी बवासीर में उपयोगी है | इस दवा के नियमित सेवन से पाइल्स में काफी आराम मिलता है | साथ ही खून की कमी एवं गुल्म रोग में भी आराम देती है |

इसका निर्माण चित्रक, च्वय, त्रिकटु, तालीशपत्र, चातुर्जात, पिपलामुल एवं गुड़ आदि घटक द्रव्यों के सहयोग से किया जाता है | अपने इन्ही घटक द्रव्यों के कारण यह बवासीर में इतनी उपयोगी सिद्ध होती है |

प्राणदा गुटिका
baidyanath pranda gutika

प्राणदा गुटिका का मूल्य – 70 रूपए (40 टेबलेट्स)

सेवन विधि – इसका सेवन आयुर्वेदिक चिकित्सक के परामर्शानुसार 2 से 4 गोली दूध या ठन्डे जल के साथ करना चाहिए |

धन्यवाद ||

आपके लिए अन्य बैद्यनाथ की जानकारी

Baidyanath All Medicine List in Hindi पढ़ें क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
Hello
Can We Help You