बवासीर की दवा – बैद्यनाथ की महत्वपूर्ण 6 दवाएं

Deal Score0
Deal Score0

बवासीर उष्ण प्रदेशों का सबसे पीड़ादाई रोग है | यह रोग पाचन की गड़बड़ी एवं कब्ज के कारण होता है | अत्यंत पीड़ादेने वाला यह रोग ख़राब पाचन, पुरानी कब्ज, गर्भावस्था, गैस्ट्रिक विकार एवं अनुवान्सिक कारणों से हो सकता है |

अंग्रेजी चिकित्सा पद्धति में इस रोग का कोई स्थाई समाधान उपलब्ध नहीं है | आयुर्वेद में विभिन्न आयुर्वेदिक दवाओं, आहार – विहार एवं क्षार सूत्र विधि आदि से इसका स्थाई उपचार किया जाता है |

आज इस आर्टिकल में हम बैद्यनाथ कंपनी की बवासीर की दवा के बारे में बताएँगे | यह आर्टिकल महज आपके ज्ञान वर्द्धन के लिए है | कृप्या उपचार या सेवन से पहले अपने आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श अवश्य करें |

बैद्यनाथ बवासीर की 6 महत्वपूर्ण दवाएं / 6 Most Useful Medicine of Baidyanath for Piles

बैद्यनाथ फार्मेसी आयुर्वेद जगत में सबसे भरोसेमंद नाम है | लगभग 100 वर्ष पुरानी यह कंपनी अपनी पेटेंट एवं क्लासिकल दवाओं के कारण प्रसिद्द है | बवासीर के लिए बैद्यनाथ की कई पेटेंट दवाएं जिनके बारे में हमने यहाँ निचे विवरण उपलब्ध करवाया है |

1. बैद्यनाथ अर्शोघ्नी वटी / Baidyanath Arshoghni Vati

पाईल्स (बवासीर) में अर्शोघ्नी वटी अत्यंत फायदेमंद है | यह रोग के मूल कारण को ख़त्म करती है | इस दवा में नीम, बकायन, खूनखराबा, रसोंत एवं कहरवा पिष्टी आदि घटक द्रव्यों का समावेश है | यह खुनी एवं बादी दोनों बवासीर में कारगर है |

बवासीर की बैद्यनाथ दवा
arshoghani vati

मूल्य (Price) – 130 रु (40 टेबलेट्स)

सेवन विधि – इसका सेवन 1 – 1 गोली दिन में दो बार मट्ठे या पानी के साथ करना चाहिए | सेवन के समय मिर्च – मसालेदार भोजन से परहेज रखें

2. पाइराइड टेबलेट्स / Pirrhoids Tablets

यह बवासीर के पीड़ादाई दर्द से छुटकारा दिलाकर पाइल्स को ठीक करने में समर्थ दवा है | यह आंतरिक और बाह्य दोनों प्रकार से रोग में आराम प्रदान करती है | इसके निर्माण में विभिन्न आयुर्वेदिक घटक द्रव्यों का समावेश किया गया है | घटक द्र्य्व के रूप में अर्शोघ्नी वटी, प्रवाल पिष्टी, जमीकंद, बोल एवं खस जैसे अन्य महत्वपूर्ण जड़ी – बूटियों से निर्मित है |

बैद्यनाथ पिर्र्होइद्स
baidyanath pirrhoids

मूल्य (Price) – 195 रु (50 टेबलेट्स)

सेवन विधि – इस बवासीर की दवा बैद्यनाथ का सेवन 2 गोली दिन में दो बार छाछ या पानी के साथ करना चाहिए |

3. बैद्यनाथ अर्शकुठार रस / Baidyanath Arshkuthar Rasa

अर्शकुठार रस शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक दवा है | इसका निर्माण विभिन्न फार्मेसियां करती है | बैद्यनाथ अपनी प्रमाणिक दवाओं के कारण जाना जाता है | अर्शकुठार रस बवासीर में तुरंत रहत प्रदान करती है | यह कब्ज की शिकायत को ठीक करती है | बादी एवं खुनी दोनों प्रकार की बवासीर में लाभ प्रदान करती है | बैद्यनाथ बवासीर की दवा के रूप में प्रचलित है |

बैद्यनाथ अर्शकुठार रस
baidyanath arshkuthar rasa

मूल्य (Price) – 74 रु (40 Tab)

सेवन विधि – 1 से 2 गोली सुबह – शाम गुलकंद के साथ सेवन की जा सकती है | अधिक जानकारी के लिए वैद्य का परामर्श आवश्यक है |

4. बैद्यनाथ सप्तविंशति गुग्गुलु / Baidyanath Saptvinshati Guggulu

चित्रकमूल, त्रिकटु, त्रिफला, वायविडंग, गिलोय, इद्रायण की जड़ एवं दारुहल्दी जैसी विभिन जड़ी – बूटियों से निर्मित यह दवा गुदा के विकार, मूत्रनली के विकार, भगंदर, बवासीर एवं नाड़ीव्रण आदि रोगों में काफी लाभदायक सिद्ध होती है | भैषज्य रत्नावली के अनुसार इस बैद्यनाथ बवासीर की दवा का निर्माण किया जाता है |

बैद्यनाथ सप्तविंशती गुग्गुलु
saptvinshati guggulu

मूल्य (Price) – 205 रु (80 टेबलेट्स)

सेवन विधि – 2 से 4 गोली सुबह – शाम दूध या शहद के साथ सेवन करनी चाहिए |

5. बैद्यनाथ कांकायन वटी (अर्श) / Baidyanath Kankayan Vati Arsh in Hindi

बवासीर की दवा बैद्यनाथ में यह वटी भी सुप्रशिद्ध है | इसका निर्माण हरड, कालीमिर्च, जीरा, पिप्पल, पिप्पलामुल, भिलावा, जिमीकंद, यवक्षार, चित्रक, चव्य, सौंठ एवं गुड आदि जड़ी – बूटियों के योग से किया जाता है |

यह दोनों प्रकार की बवासीर में बहुत ही कारगर आयुर्वेदिक दवा है | कब्ज को ख़त्म करती है एवं बवासीर के मस्सों को सुखाने का कार्य करती है | साथ ही भूख की कमी, पेटदर्द एवं कब्ज को खत्म करती है |

बैद्यनाथ कंकायन वटी
baidyanath kankayan bati

मूल्य (Price) – 69 रूपए (40 टेबलेट्स)

सेवन विधि – चिकित्सक के परामर्शानुसार 2 से 4 गोली मट्ठे के साथ सेवन करनी चाहिए |

6. बैद्यनाथ प्राणदा गुटिका / Pranada Gutika

प्राणदा गुटिका भी बवासीर की उत्तम आयुर्वेदिक दवा है | यह खुनी, बादी बवासीर में उपयोगी है | इस दवा के नियमित सेवन से पाइल्स में काफी आराम मिलता है | साथ ही खून की कमी एवं गुल्म रोग में भी आराम देती है |

इसका निर्माण चित्रक, च्वय, त्रिकटु, तालीशपत्र, चातुर्जात, पिपलामुल एवं गुड़ आदि घटक द्रव्यों के सहयोग से किया जाता है | अपने इन्ही घटक द्रव्यों के कारण यह बवासीर में इतनी उपयोगी सिद्ध होती है |

प्राणदा गुटिका
baidyanath pranda gutika

प्राणदा गुटिका का मूल्य – 70 रूपए (40 टेबलेट्स)

सेवन विधि – इसका सेवन आयुर्वेदिक चिकित्सक के परामर्शानुसार 2 से 4 गोली दूध या ठन्डे जल के साथ करना चाहिए |

धन्यवाद ||

आपके लिए अन्य बैद्यनाथ की जानकारी

Baidyanath All Medicine List in Hindi पढ़ें क्लिक करें

Mr. Yogendra Lochib

Mr Yogendra Lochib is a experienced and qualified Ayurveda Nurse & Pharmacist. He was Graduated (2009-2013) from Dr Sarvepalli Radhakrishnan Rajasthan Ayurved University, Jodhpur.He has Good Knowledge about Ayurvedic Herbs, Medicine, Panchkarma Procedure & Naturopathy. The Author believes in sharing the knowledge of Ayurveda (As it was shared 5000 years ago orally) using online platforms, and he is doing well.

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      Logo
      Compare items
      • Total (0)
      Compare
      0