स्वदेशी एलोवेरा ज्यूस पीने के फायदे एवं सेवन का तरीका

Deal Score0
Deal Score0

स्वास्थ्य एवं सेहत को बनाये रखने के लिए एलोवेरा ज्यूस आज के समय में सबसे अधिक विश्वनीय पेय है | एलोवेरा में विटामिन्स एवं प्रोटीन की प्रचुरता रहती है, इसलिए पेय के रूप में यह स्वास्थ्य के लिए अत्यंत फायदेमंद साबित होता है | एंटीबायोटिक एवं एंटीसेप्टिक गुणों के कारण आभ्यांतर के साथ – साथ इसे बाह्य उपयोग में भी बेहतरीन औषधि माना जाता है |

शरीर को प्राकृतिक रूप से डीटोक्स करने एवं पोषण करने में एलोवेरा बेहतरीन औषधि है | स्वदेशी उपचार ने हाल ही में बाजार में अपना “स्वदेशी एलोवेरा ज्यूस” अश्वगंधा युक्त निकाला है | यह बाजार में उपलब्ध सभी एलोवेरा ज्यूस से बेहतरीन है | एलोवेरा ज्यूस का सेवन नियमित करने से मधुमेह, हाई ब्लडप्रेशर, पाचन एवं त्वचा सम्बन्धी विकारों से छुटकारा मिलता है |

अश्वगंधा युक्त होने के कारण मधुमेह, शारीरिक कमजोरी, तनाव, एवं कैंसर आदि में अधिक फायदेमंद हो जाती है | कैंसर के रोगियों को नियमित 3 महीने तक Aloevera Juice का सेवन करवाना चाहिए | एलोवेरा में कैंसर की रोकथाम करने वाले गुण पाए जाते है अत: नियमित सेवन करने से कैंसर के रोगियों में सुधार की सम्भावना बढ़ जाती है |

जाने एलोवेरा के औषधीय गुण

आयुर्वेद के अनुसार एलोवेरा रस में मधुर एवं तिक्त होती है | यह कडुआ, शीतल, विरेचक, धातुपरिवर्तक, मज्जावर्द्धक, कामोद्दीपक, कृमिनाशक, और विषनाशक होता है | नेत्र रोगों , तिल्ली की वृद्धि, यकृत, वमन, ज्वर, खांसी, चर्मरोग, पित्त, श्वांस, कुष्ठ, पीलिया, पत्थरी और घाव में यह लाभदायक होता है | आयुर्वेदानुसार इसमें निम्न गुणधर्म होते है –

  • रस – तिक्त एवं मधुर
  • गुण – गुरु, स्निग्ध एवं पिच्छिल
  • विपाक – मधुर
  • वीर्य – शीत
  • प्रभाव – भेदन |

स्वदेशी “एलोवेरा ज्यूस” पीने के फायदे

सुबह खाली पेट नियमित रूप से एलोवेरा ज्यूस पीने से कई स्वास्थ्य लाभ होते है | त्वचा को निखारने, पेट के रोग दूर करने, पाचन तंत्र को ठीक रखने, शरीर की सफाई करने एवं इम्युनिटी को बढाने के लिए एलोवेरा ज्यूस उत्तम उत्पाद है |

पाचन को सुधरता है एलोवेरा

पाचन सम्बन्धी समस्याओं में एलोवेरा का कोई मुकाबला नहीं है | भूख की कमी, अपच एवं अजीर्ण के कारण कब्ज आदि में एलोवेरा ज्यूस का सेवन करने से अच्छे लाभ मिलते है | एलोवेरा में पाए जाने वाले तत्व अमाशय की क्रियाशीलता को बढाते है एवं पेट के रोगों को दूर करते है |

अगर आपको लम्बे समय से कब्ज की शिकायत रहती है तो आप सुबह खाली पेट 30 मिली. की मात्रा में एलोवेरा ज्यूस का सेवन प्रारंभ करदें , जल्द ही मल त्याग में आपको परेशानी नहीं होगी |

शुगर (मधुमेह) में एलोवेरा ज्यूस के फायदे

अगर आप मधुमेह से परेशान है, हमेशां आपकी शुगर बढ़ी हुई रहती है या मधुमेह के कारण शरीर निर्बल हो चूका है तो आज ही स्वदेशी एलोवेरा ज्यूस का सेवन शुरू करदें | एलोवेरा को मधुमेह का काल माना जाता है |

आप नियमित सुबह खाली पेट एलोवेरा ज्यूस का सेवन शुरू करदें | जल्द ही शुगर बिल्कुल नियंत्रण में आ जाएगी |

विटामिन्स एवं मिनरल्स की कमी को दूर करता है

एलोवेरा स्वरस शरीर में विटामिन्स एवं मिनरल्स की कमी को दूर करने में उपयोगी है | इसमें Vitamin A, B, B12, C एवं फोलिक एसिड प्रचुर मात्रा में होता है | इसके आलावा इसमें कैल्शियम, मग्निशियम, सल्फर, जिंक एवं क्रोमियम आदि प्रचुरता से रहते है | अत: नियमित सेवन से शरीर में इन सभी की कमी को पूरा करने में एलोवेरा ज्यूस फायदेमंद है |

कैंसर में फायदेमंद

कैंसर में दी जाने वाली दवाओं के साथ एलोवेरा ज्यूस का सेवन करना फायदेमंद रहता है | यह कैंसर को शरीर में फैलने से रोकता है | कैंसर के रोगी को नियमित रूप से एलोवेरा ज्यूस पीलाने से उसकी रोगप्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है |

रोज 30 मिली तक ग्वारपाठे के रस का सेवन करने से कैंसर की वृद्धि रुक कर ठीक होने की संभावनाएं बन जाती है | कैंसर के रोगी को साथ में गेंहू के ज्वारे का रस एवं अंकुरित अनाज का सेवन करवाना भी लाभदायक होता है |

चेहरे की त्वचा में निखार

चेहरे पर होने वाले कील-मुंहासे, दाग – धब्बे एवं अन्य समस्याओं में एलोवेरा ज्यूस का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है | यह आपकी त्वचा की रंगत को निखरता है, साथ ही कील – मुंहासों को खत्म करता है | हमेंशा दमकती त्वचा के लिए ग्वारपाठे का सेवन करते रहना चाहिए | दर:शल त्वचा के सभी विकार पेट एवं खून की अशुद्धता से जुड़े रहते है, एवं एलोवेरा इन रोगों को ठीक करती है | अत: इन समस्याओं में एलोवेरा के बेहतरीन परिणाम मिलते है |

एलोवेरा से बनी क्रीम एवं जैल आदि भी त्वचा की समस्याओं के लिए बेहतरीन होती है |

रोगप्रतिरोधक क्षमता दायक

यह शरीर में स्थित विजातीय तत्वों को बाहर निकाल कर शरीर में रोगप्रतिरोधक क्षमता की वृद्धि करने में उपयोगी है | एलोवेरा में पाए जाने वाले तत्व एवं मिनरल्स शरीर को शक्ति प्रदान करने का कार्य करते है |

अगर आप नियमित रूप से 3 महीने तक एलोवेरा ज्यूस का सेवन सुबह खाली पेट करें तो खुद आपको अपने शरीर में शक्ति के संचार का आभास होता है |

स्वदेशी एलोवेरा ज्यूस कैसे सेवन करें

एलोवेरा ज्यूस का सेवन दिन में दो बार सुबह – शाम खाली पेट करना चाहिए | मात्रा के रूप में इसे 20 से 30 मिली तक सेवन किया जा सकता है | एलोवेरा को पीने का तरीका सीधा भी ले सकते है या इसे पानी के साथ मिलाकर भी सेवन कर सकते है |

धन्यवाद |

Avatar

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      Logo
      Compare items
      • Total (0)
      Compare
      0