Mail : treatayurveda@gmail.com

पेट कम करने के लिए योगासन

वर्तमान समय की बदली हुई जीवन शैली और शारीरिक श्रम की कमी के कारण मोटापा एक बड़ी समस्या बन कर उभरा है | पेट कम करने के लिए योगासन |आज कल के खान – पान और विलासिता पूर्ण जीवन इसके सबसे बड़े कारणों में से एक है | शहर हो या गाँव आज के समय में मोटापा हर जगह एक परेशानी दायक रोग बना हुआ है | मोटापे का सबसे अधिक असर व्यक्ति के शरीर में पेट पर ही पड़ता है | जैसे – जैसे मोटापा बढ़ता है आपका पेट भी बढ़ने लगता है | पेट को शेप में लाने के लिए लोग पता नही क्या – क्या उपाय करते है लेकिन ये उपाय सभी व्यर्थ हो जाते है |

पेट कम करने के लिए योगासन
पेट कम करने के लिए योगासन

अगर आप भी पेट की बढ़ी हुई चर्बी से परेशान है तो फ़िक्र न करे , आज हम योग के कुच्छ एसे आसन बताने वाले है जिनको आजमा कर आप अपने पेट की बढ़ी हुई चर्बी को आसानी से कम कर सकते है | अपने पेट को कम करने के लिए आप इन योगासनों को अपना कर लाभ उठा सकते है |

पेट कम करने वाले 7 योगासन

1 – पेट कम करने के लिए भुजंगासन

भुजंग का अर्थ होता है सर्प (सांप) | इस आसन में व्यक्ति को सांप की तरह फन उठाये हुई आकर्ती बनानी पड़ती है इसिलिए इसे भुजंगासन कहा जाता है | पेट कम करने और पेट की मांसपेशियों को मजबूत एवं शरीर को छरहरा बनाने के लिए इस आसन को अपनाया जाता है | भुजंगासन के निरंतर अभ्यास से जल्द ही पेट कम हो जाता है | भुजंगासन करने की विधि निम्न है –

  • पेट के बल जमीन पर लेट जाए | अपने पैरो को तानकर रखे एवं अपने तलवे आसमान की तरफ रखे |
  • अपने हाथों को कंधो के समीप रखे एवं हथेलियों को जमीन पर टीकाकार रखे |
  • हाथो के सहारे अपने सिर और धड़ को ऊपर उठायें |
  • धड़ को धनुषाकार बना ले |
  • ऊपर उठाते समय श्वास अन्दर ले | 10 से 15 सेकंड इस स्थिति में रुके और श्वास – प्रश्वास को सामान्य चलने दे |
  • मूल स्थिति में आते समय श्वास को छोड़ते हुए आये |
  • इस आसन को  5 से 6 बार दोहराए | निरंतर अभ्यास भी जारी रखे |

और पढ़े – भुजंगासन के फायदे

2 – पेट कम करने के लिए योगासन – धनुरासन

धनुरासन भी पेट कम करने के लिए  अत्यंत महत्वपूर्ण योगासन है | इस आसन में साधक को धनुष के सामान आकृति बनानी पड़ती है , इसलिए इसे धनुरासन कहते है | धनुरासन को मोटापे का दुश्मन भी कहा जाता है | पेट की चर्बी को कम करने के लिए लगातार इस आसन को करना चाहिए | पेट की अन्य समस्याएँ जैसे कब्ज और बेली फट को जल्द एवं सरलता से दूर करने में कारगर योगासन है |

विधि

  • सबसे पहले पेट के बल जमीन पर लेट जाए |
  • पैरो को घुटनों से मोड़ते हुए , दोनों हाथो से अपनी एडियों को पकडे |
  • इस दौरान अपने सीने और पैरों को ऊपर उठाये |
  • अपने हाथों को सीधा रखे एवं पैरों की मांसपेशियों में तनाव पैदा करे |
  • पेट के ऊपर ही सारा शरीर टिका हो एसी स्थिति बनाये |
  • धनुरासन में आगे – पीछे झूलते हुए हल्का व्यायाम भी कर सकते है |
  • ध्यान को मूलाधार और विशुद्धि चक्र पर रखे |

3 – चक्रासन

चक्रासन भी पेट कम करने में प्रमुख आसन है | इस योगासन से पेट , पीठ एवं प्रजनन अंगो पर सकारात्मक असर पड़ता है | पेट को शेप में रखने के लिए इसका लगातार अभ्यास करते रहना चाहिए | क्योंकि चक्रासन में सबसे अधिक प्रभाव पेट एवं पेट की मांसपेशियों पर पड़ता है | इसलिए यह पेट की चर्बी को काटने में कारगर होता है | इसे निम्न प्रकार करे –

  • सबसे पहले पीठ के बल जमीन पर लेट जाएँ |
  • अब दोनों पैरो को मोड़ कर एड़ियों को नितम्ब से सटालें |
  • अपने दोनों हाथों को कान के पास इस प्रकार रखे की अंगुलियाँ पैरों की तरफ रहे |
  • अब धीरे – धीरे सिर पर वजन देते हुए मध्य वाले भाग से शरीर को पूरा ऊपर उठाले |
  • इस अवस्था में कुच्छ देर रुके |
  • मूल अवस्था में वापिस आते समय श्वास को छोड़ते हुए आये |
  • आसन करते समय ध्यान नाभि , कपाल व हृदय पर रखे |

4 – पश्चिमोत्तानासन

पश्चिमोत्तानासन जमीन पर बैठ कर और सामने की तरफ झुक कर किया जाता है | इस आसन में भी सबसे अधिक प्रभाव पेट पर पड़ता है | इसीलिए पेट की चर्बी को आसानी से कम कर देता है | पेट कम करने एवं पेट से सम्बंधित अन्य समस्याओं में इस आसन को अपनाना चाहिय | पेट कम करने के लिए योगासन विधि –

  • जमीन पर बैठ कर पैर सामने की तरफ लम्बवत करे |
  • श्वास छोड़ते हुए सामने की तरफ झुके और दोनों हाथो की अँगुलियों से दोनों पैरों के अंगूठे को छूने की कोशिश करे |
  • इस दौरान पैरों को तान कर रखना है |
  • अपने पैरो को उठने न दे |
  • अब धीरे – धीरे अपने सिर को घुटनों से स्पर्श करवाए |
  • मूल स्थति में आते समय श्वास को छोड़ते हुए आये |
  • इसे 2 से 5 मिनट तक अपने सामर्थ्य के अनुसार किया जा सकता है |
  • ध्यान को अधिष्ठान चक्र पर रखे |

5 – गतिमय मेरु वक्रासन

पेट के मोटापे को घटाने के लिए इस आसन को अपनाया जा सकता है | इस आसन में मेरु दंड , पेट और वक्ष पर प्रभाव पड़ता है | पेट कम करने के लिए योगासन में इस आसन को गिना जा सकता है | विधि

मेरु वक्रासन पेट कम करने के लिए

  • सामने की तरफ पैर फैला कर बैठ जाए |
  • अब दांये हाथ को बाएँ पैर के अंगूठे के पास लाये और स्पर्श करवाने की कोशिश करे |
  • अपने शरीर के उपरी भाग को बाएँ तरफ मोड़ते हुए , बाएं हाथ को पीछे की तरफ फैला दे |
  • अपने धड को मोड़ते हुए बांये हाथ को देखने का प्रयास करे |
  • ठीक इसी प्रकार दूसरी तरफ भी करे | यह एक चक्र पूरा होता है |
  • इस प्रकार 10 से 20 चक्र पूरा करे |
  • मुड़ते समय श्वास अन्दर ले और वापिस आते समय श्वास को छोड़े |

6 – पेट कम करने के लिए “कटी वृतासन” योगासन

कटी वृतासन का अर्थ है कमर को वृत्त की आकृति में घुमाना अर्थात गोल – गोल घुमाना | पेट कम करने , कमर पतली व मजबूत करने और मोटापे को घटाने के लिए इस योगासन को करना चाहिए |

  • सीधे खड़े हो जाए और दोनों पैरो को थोडा चौड़ा रख कर खड़े हो जाए |
  • दोनों पैरो के बीच 12 इंच से ज्यादा जगह न हो |
  • दोनों हाथों को कमर पर रखे |
  • अब कमर को गोल – गोल घुमाये |
  • कमर को आगे , पीछे , दांये व बांये झुकाते हुए घुमाने का प्रयाश करे |
  • पूरा एक चक्र बनाये |
  • कमर को आगे की तरफ घुमाते हुए श्वास ले और पीछे की तरफ घुमाते हुए श्वास छोड़े |
  • यह आसन मोटापा घटाने और कमर को मजबूत करने में महत्वपूर्ण आसन है |

7 – महा – मुद्रासन

इस आसन का अर्थ है महान भंगिमा या मुद्रा | सम्पूर्ण उदार प्रदेश को लाभान्वित करने एवं खाए – पीए को पचाने में सर्वाधिक लाभदायक आसन है | पेट कम करने के लिए योगासन में यह आसन काफी उच्च स्थान रखता है | इस महामुद्रा के बारे में हठ-योग प्रदीपिका में लिखा है की यह मृत्यु और महारोगों का नाश करने में सक्षम है | पेट कम करने के लिए योगासन – इस मुद्रा का अभ्यासी किसी भी चीज को आसानी से पचा सकता है | अत: अच्छी तरह पाचन होने के कारण मोटापे की समस्या भी जाती रहती है | विधि –

  • सामने की तरफ पैर फैला कर बैठ जाए |
  • बाएँ पैर को मोड़ते हुए , इसके तलवे को गुप्तांगो के पास मूलाधार के पास स्थित करे |
  • इस आसन में एक पैर सामने की तरफ सीधा और दूसरा बांया पैर घुटने से मुड़े हुए एक समकोण का निर्माण करते है |
  • अब अपने हाथों से सामने की तरफ सीधे दांये पैर को पकडे |
  • मेरुदंड को सीधा रखे व अपनी ठुड़ी को सीने पर स्थित हंसली पर टिका कर रखे |
  • अब यही क्रिया दांये पैर को मोड़ कर दोहराए |
  • इस प्रकार एक आसन पूरा होता है |
  • इस आसन में श्वास तो ग्रहण करे लेकिन पुरे उदार प्रदेश को कसते हुए व पिचकते हुए श्वास ले |

इस प्रकार इन 7 आसनों को अपना कर आप अपने पेट की चर्बी को कम कर सकते है | योगासन एक सीधा – सरल और आसन उपाय है पेट को कम करने के लिए | पेट  कम करने के लिए योगासन अपनाना थोडा मेहनती जरुर हो सकता है लेकिन इसके परिणाम को देख कर आप चौंक जायेंगे |

धन्यवाद |

 

 

Content Protection by DMCA.com
Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Shopping cart

0

No products in the cart.

+918000733602