yoga, वजन घटाना, स्वास्थ्य

पेट की चर्बी कम करने वाले 7 योगासन – पेट कम करने के लिए योगासन

पेट कम करने के लिए योगासन

पेट कम करने के लिए योगासन

वर्तमान समय की बदली हुई जीवन शैली और शारीरिक श्रम की कमी के कारण मोटापा एक बड़ी समस्या बन कर उभरा है | पेट कम करने के लिए योगासन |आज कल के खान – पान और विलासिता पूर्ण जीवन इसके सबसे बड़े कारणों में से एक है | शहर हो या गाँव आज के समय में मोटापा हर जगह एक परेशानी दायक रोग बना हुआ है | मोटापे का सबसे अधिक असर व्यक्ति के शरीर में पेट पर ही पड़ता है | जैसे – जैसे मोटापा बढ़ता है आपका पेट भी बढ़ने लगता है | पेट को शेप में लाने के लिए लोग पता नही क्या – क्या उपाय करते है लेकिन ये उपाय सभी व्यर्थ हो जाते है |

पेट कम करने के लिए योगासन

पेट कम करने के लिए योगासन

अगर आप भी पेट की बढ़ी हुई चर्बी से परेशान है तो फ़िक्र न करे , आज हम योग के कुच्छ एसे आसन बताने वाले है जिनको आजमा कर आप अपने पेट की बढ़ी हुई चर्बी को आसानी से कम कर सकते है | अपने पेट को कम करने के लिए आप इन योगासनों को अपना कर लाभ उठा सकते है |

पेट कम करने वाले 7 योगासन

1 – पेट कम करने के लिए भुजंगासन

भुजंग का अर्थ होता है सर्प (सांप) | इस आसन में व्यक्ति को सांप की तरह फन उठाये हुई आकर्ती बनानी पड़ती है इसिलिए इसे भुजंगासन कहा जाता है | पेट कम करने और पेट की मांसपेशियों को मजबूत एवं शरीर को छरहरा बनाने के लिए इस आसन को अपनाया जाता है | भुजंगासन के निरंतर अभ्यास से जल्द ही पेट कम हो जाता है | भुजंगासन करने की विधि निम्न है –

  • पेट के बल जमीन पर लेट जाए | अपने पैरो को तानकर रखे एवं अपने तलवे आसमान की तरफ रखे |
  • अपने हाथों को कंधो के समीप रखे एवं हथेलियों को जमीन पर टीकाकार रखे |
  • हाथो के सहारे अपने सिर और धड़ को ऊपर उठायें |
  • धड़ को धनुषाकार बना ले |
  • ऊपर उठाते समय श्वास अन्दर ले | 10 से 15 सेकंड इस स्थिति में रुके और श्वास – प्रश्वास को सामान्य चलने दे |
  • मूल स्थिति में आते समय श्वास को छोड़ते हुए आये |
  • इस आसन को  5 से 6 बार दोहराए | निरंतर अभ्यास भी जारी रखे |

और पढ़े – भुजंगासन के फायदे

2 – पेट कम करने के लिए योगासन – धनुरासन

धनुरासन भी पेट कम करने के लिए  अत्यंत महत्वपूर्ण योगासन है | इस आसन में साधक को धनुष के सामान आकृति बनानी पड़ती है , इसलिए इसे धनुरासन कहते है | धनुरासन को मोटापे का दुश्मन भी कहा जाता है | पेट की चर्बी को कम करने के लिए लगातार इस आसन को करना चाहिए | पेट की अन्य समस्याएँ जैसे कब्ज और बेली फट को जल्द एवं सरलता से दूर करने में कारगर योगासन है |

विधि

  • सबसे पहले पेट के बल जमीन पर लेट जाए |
  • पैरो को घुटनों से मोड़ते हुए , दोनों हाथो से अपनी एडियों को पकडे |
  • इस दौरान अपने सीने और पैरों को ऊपर उठाये |
  • अपने हाथों को सीधा रखे एवं पैरों की मांसपेशियों में तनाव पैदा करे |
  • पेट के ऊपर ही सारा शरीर टिका हो एसी स्थिति बनाये |
  • धनुरासन में आगे – पीछे झूलते हुए हल्का व्यायाम भी कर सकते है |
  • ध्यान को मूलाधार और विशुद्धि चक्र पर रखे |

3 – चक्रासन

चक्रासन भी पेट कम करने में प्रमुख आसन है | इस योगासन से पेट , पीठ एवं प्रजनन अंगो पर सकारात्मक असर पड़ता है | पेट को शेप में रखने के लिए इसका लगातार अभ्यास करते रहना चाहिए | क्योंकि चक्रासन में सबसे अधिक प्रभाव पेट एवं पेट की मांसपेशियों पर पड़ता है | इसलिए यह पेट की चर्बी को काटने में कारगर होता है | इसे निम्न प्रकार करे –

  • सबसे पहले पीठ के बल जमीन पर लेट जाएँ |
  • अब दोनों पैरो को मोड़ कर एड़ियों को नितम्ब से सटालें |
  • अपने दोनों हाथों को कान के पास इस प्रकार रखे की अंगुलियाँ पैरों की तरफ रहे |
  • अब धीरे – धीरे सिर पर वजन देते हुए मध्य वाले भाग से शरीर को पूरा ऊपर उठाले |
  • इस अवस्था में कुच्छ देर रुके |
  • मूल अवस्था में वापिस आते समय श्वास को छोड़ते हुए आये |
  • आसन करते समय ध्यान नाभि , कपाल व हृदय पर रखे |

4 – पश्चिमोत्तानासन

पश्चिमोत्तानासन जमीन पर बैठ कर और सामने की तरफ झुक कर किया जाता है | इस आसन में भी सबसे अधिक प्रभाव पेट पर पड़ता है | इसीलिए पेट की चर्बी को आसानी से कम कर देता है | पेट कम करने एवं पेट से सम्बंधित अन्य समस्याओं में इस आसन को अपनाना चाहिय | पेट कम करने के लिए योगासन विधि –

  • जमीन पर बैठ कर पैर सामने की तरफ लम्बवत करे |
  • श्वास छोड़ते हुए सामने की तरफ झुके और दोनों हाथो की अँगुलियों से दोनों पैरों के अंगूठे को छूने की कोशिश करे |
  • इस दौरान पैरों को तान कर रखना है |
  • अपने पैरो को उठने न दे |
  • अब धीरे – धीरे अपने सिर को घुटनों से स्पर्श करवाए |
  • मूल स्थति में आते समय श्वास को छोड़ते हुए आये |
  • इसे 2 से 5 मिनट तक अपने सामर्थ्य के अनुसार किया जा सकता है |
  • ध्यान को अधिष्ठान चक्र पर रखे |

5 – गतिमय मेरु वक्रासन

पेट के मोटापे को घटाने के लिए इस आसन को अपनाया जा सकता है | इस आसन में मेरु दंड , पेट और वक्ष पर प्रभाव पड़ता है | पेट कम करने के लिए योगासन में इस आसन को गिना जा सकता है | विधि

मेरु वक्रासन पेट कम करने के लिए

  • सामने की तरफ पैर फैला कर बैठ जाए |
  • अब दांये हाथ को बाएँ पैर के अंगूठे के पास लाये और स्पर्श करवाने की कोशिश करे |
  • अपने शरीर के उपरी भाग को बाएँ तरफ मोड़ते हुए , बाएं हाथ को पीछे की तरफ फैला दे |
  • अपने धड को मोड़ते हुए बांये हाथ को देखने का प्रयास करे |
  • ठीक इसी प्रकार दूसरी तरफ भी करे | यह एक चक्र पूरा होता है |
  • इस प्रकार 10 से 20 चक्र पूरा करे |
  • मुड़ते समय श्वास अन्दर ले और वापिस आते समय श्वास को छोड़े |

6 – पेट कम करने के लिए “कटी वृतासन” योगासन

कटी वृतासन का अर्थ है कमर को वृत्त की आकृति में घुमाना अर्थात गोल – गोल घुमाना | पेट कम करने , कमर पतली व मजबूत करने और मोटापे को घटाने के लिए इस योगासन को करना चाहिए |

  • सीधे खड़े हो जाए और दोनों पैरो को थोडा चौड़ा रख कर खड़े हो जाए |
  • दोनों पैरो के बीच 12 इंच से ज्यादा जगह न हो |
  • दोनों हाथों को कमर पर रखे |
  • अब कमर को गोल – गोल घुमाये |
  • कमर को आगे , पीछे , दांये व बांये झुकाते हुए घुमाने का प्रयाश करे |
  • पूरा एक चक्र बनाये |
  • कमर को आगे की तरफ घुमाते हुए श्वास ले और पीछे की तरफ घुमाते हुए श्वास छोड़े |
  • यह आसन मोटापा घटाने और कमर को मजबूत करने में महत्वपूर्ण आसन है |

7 – महा – मुद्रासन

इस आसन का अर्थ है महान भंगिमा या मुद्रा | सम्पूर्ण उदार प्रदेश को लाभान्वित करने एवं खाए – पीए को पचाने में सर्वाधिक लाभदायक आसन है | पेट कम करने के लिए योगासन में यह आसन काफी उच्च स्थान रखता है | इस महामुद्रा के बारे में हठ-योग प्रदीपिका में लिखा है की यह मृत्यु और महारोगों का नाश करने में सक्षम है | पेट कम करने के लिए योगासन – इस मुद्रा का अभ्यासी किसी भी चीज को आसानी से पचा सकता है | अत: अच्छी तरह पाचन होने के कारण मोटापे की समस्या भी जाती रहती है | विधि –

  • सामने की तरफ पैर फैला कर बैठ जाए |
  • बाएँ पैर को मोड़ते हुए , इसके तलवे को गुप्तांगो के पास मूलाधार के पास स्थित करे |
  • इस आसन में एक पैर सामने की तरफ सीधा और दूसरा बांया पैर घुटने से मुड़े हुए एक समकोण का निर्माण करते है |
  • अब अपने हाथों से सामने की तरफ सीधे दांये पैर को पकडे |
  • मेरुदंड को सीधा रखे व अपनी ठुड़ी को सीने पर स्थित हंसली पर टिका कर रखे |
  • अब यही क्रिया दांये पैर को मोड़ कर दोहराए |
  • इस प्रकार एक आसन पूरा होता है |
  • इस आसन में श्वास तो ग्रहण करे लेकिन पुरे उदार प्रदेश को कसते हुए व पिचकते हुए श्वास ले |

इस प्रकार इन 7 आसनों को अपना कर आप अपने पेट की चर्बी को कम कर सकते है | योगासन एक सीधा – सरल और आसन उपाय है पेट को कम करने के लिए | पेट  कम करने के लिए योगासन अपनाना थोडा मेहनती जरुर हो सकता है लेकिन इसके परिणाम को देख कर आप चौंक जायेंगे |

धन्यवाद |

 

 

About स्वदेशी उपचार

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.