cancer ka ilaj, स्वास्थ्य

कैंसर पर नयी रिसर्च – नैनोपार्टिकल्स के प्रयोग से होगा पूर्ण इलाज |

cancer ka ilaj

अब होगा कैंसर का पूर्णतया इलाज – पढ़े ये रिसर्च

cancer ka ilaj

 

यूनिवर्सिटी आॅफ मेडरिड में हाल ही में अन्तर्राष्ट्रिय वैज्ञानिकों ने एक शोध प्रस्तुत किया था जो कैंसर के इलाज के नये तरिको को लेकर था।

इस शोध मेें कैंसर के इलाज के लिए सूक्ष्म चुम्बकीय कणों के द्वारा कैंसर से ग्रसित कोशिकाओं को चुन-चुनकर मारा जा सकता है। ये सूक्ष्म चुम्बकीय कण एक प्रकार से झुंड में होते हैं और सिधे ही कैंसर कोशिकाओं पर हमला करते हैं इनकी खासियत ये होती है कि ये स्वस्थ कोशिकाओं को बिल्कुल नुकसान नही पहुंचाते । सिर्फ कैंसर कोशिकाओं को ही खत्म करने का काम करती हैं।

Cancer ka ilaj

इन चुम्बकीय कणों को “नैनोपार्टिकल्स” कहा जाता है। इस शोध में शामिल सदस्यों ने सबसे पहले नैनोपार्टिकल्स कणों को माॅल्यूकल्स से आवर्त किया ताकि ये कण कैंसर के विशेष प्रोटिन्स से आसानी से अटैच हो सकें। इन सब का परिणाम देखने के लिए जब लैब टेस्ट किये गये तो तथ्य आशापूर्ण थे। कैंसर कोशिकाओं ने सभी माॅल्यूकल्स से काॅटेड नैनोपार्टिकल्स को ग्रहण कर लिया था।

इसे आप इस प्रकार समझ सकते हैं कि कैंसर कोशिकाओं को पराजित करने के लिए बाहरी चुम्बकीय कणों को माॅल्यूकल्स से आवर्त करके एक प्रकार का हथियार बनाया गया जो सिर्फ कैंसर कोशिकाओं को ही नष्ट करने का काम आसानी से कर सकता है।

कैंसर का इलाज 

स्पेन में स्थिीत दी पाॅलिटेक्निक यूनिवर्सिटी आॅफ मेडरिड के प्रोफेसर ग्सटोवा प्लाजा के नेतत्र्व में काम करने वाले वैज्ञानिकों ने कहा कि “ ये नैनोपार्टिकल्स कण अपनी चुम्बकीय शक्ति के कारण कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में पूर्णतः समर्थ हैं।”

कैंसर के इलाज में नैनोपार्टिकल्स का उपयोग एक नविनतम तरिका है। जो आने वाले समय में कैंसर के इलाज का एक बेहतरिन विकल्प होगा। दुनिया भर की लैबों में कैंसर के इलाज के लिए नये-नये प्रयोग जारी हैं। इन प्रयोगों के साथ इन नैनोपार्टिकल्स का इस्तेमाल करके आसानी से कैंसर कोशिकाओ तक दवाई या इनका पूर्णतः इलाज सम्भव हो सकता है।
इन कणों की विशेषता होती है कि ये स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान नहीं पहुंचाते। दरःशल कैंसर के इलाज के दौरान जो थेरेपी या दवाईयां दी जाती हैं वो कैंसर कोशिकाओं के साथ-साथ स्वस्थ कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचाती हैं। इन नैनोपार्टिकल्स कणों को सिर्फ कैंसर कोशिकाऐं ही ग्रहण करती हैं जिससे कि स्वस्थ कोशिकाएं कैंसर के इलाज से होने वाले नुकसान से बची रहती हैं। कैंसर का इलाज

धन्यवाद |

संदर्भ – वर्ल्डवाइड कैंसर रिसर्च 

author-avatar

About स्वदेशी उपचार

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *