हल्दी के फायदे और औषधीय गुण – परिचय, उपयोग, लाभ एवं घरेलु नुस्खे

हल्दी / Haldi (Turmeric)

भारतीय चिकित्सा पद्धति में हल्दी का प्रयोग प्राचीन समय से ही होता आया है | घरेलु नुस्खों में भी हल्दी का स्थान सबसे ऊपर है | यह दर्द निवारक और सौन्द्रिय दायक औषधि है | भारतीय रसोई में हल्दी का  प्रयोग प्रमुखता से होता है , बैगर हल्दी के किसी सामान्य  व्यजंन की कल्पना नहीं की जा सकती | हल्दी को संस्कृत में हरिद्रा , वरवर्णिनी , हरदल , गौरी आदि नामों से भी पुकारा जाता है | लेटिन में इसे करकुमा लौंगा ( Curcuma Longa ) कहा जाता है | स्वदेशी उपचार की इस पोस्ट में हल्दी से किये जाने वाले घरेलु नुस्खे और इसके फायदों Haldi ke Fayde के बारे में  बताया जाएगा |

हल्दी के फायदे
हल्दी

हल्दी का रसायनीक संगठन और औषधीय गुण धर्म

दैनिक उपयोगी हल्दी के क्षुप सम्पूर्ण भारत में उगाये जा सकते है | दक्षिणी राजस्थान , बंगाल और महाराष्ट्र एवं मध्यप्रदेश में इसकी खेती अधिक की जाती है | हल्दी में उड़नशील तेल – 5.8 % , कुकुर्मिन नामक पीत रंजक द्रव्य , प्रोटीन – 6.3% , खनिज द्रव्य – 3.5% ( जिसमे स्टार्च और एल्ब्य्मिनैड्स मुख्य रूप से होता है ) इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट और विटामिन ‘A’ औषधीय गुण पाए जाते है |

हल्दी के गुण – धर्म

हल्दी के  औषधीय गुण – धर्म

रस हल्दी का रस तिक्त एवं कटु होता है |
गुणहल्दी गुणों में  लघु , रुक्ष , उष्ण , लेखन कार्य , कुष्ठघन , कृमिघन , शोथहर और रोपण होती है |
वीर्यहल्दी उष्ण वीर्य की होती है इसलिए यह कफज रोगों में भी कारगर औषधि साबित होती है |
विपाकपचने के बाद इसका विपाक कटु होता है |
रोग प्रभावहल्दी कफ एवं पित्त शामक औषदी है | यह त्वकरोग, रक्त विकार, व्रण, पांडू, कामला, शोथ , स्नायुक , शीतपित, कास, श्वास, प्रमेह और आघात जन्य शोथ में उपयोगी औषधि है |

हल्दी के फायदे और घरेलु प्रयोग – Benefits of Turmeric and Home uses

 

फोड़े – फुंसियों में हल्दी के फायदे – Haldi ke Fayde in Acne and Pimples 

एक प्याज आग में सेक ले , इसकी चार परत लेकर उनपर पीसी हुई हल्दी डालकर जितना गरम सहन हो उतनी गर्म परतें फोड़े पर रख कर ऊपर पीपल का पता रख कर बाँधें | इस प्रकार नित्य सुबह – शाम दो बार पट्टी करे | इससे या तो फोड़ा बैठ जायेगा और या फोड़ा पक्क कर फुट जायेगा |

उदर कृमि में हल्दी के फायदे – Haldi ke Fayde in Abdominal Worm

अगर पेट में कीड़े होतो हल्दी का इस्तेमाल फायदेमंद होता है | आधा चम्मच पीसी हुई हल्दी को गरम पानी के साथ दो सप्ताह तक सुबह – शाम दो बार लेने से जल्द ही पेट के कीड़े मर जायेंगे | यह प्रयोग (Haldi ke Fayde) बच्चो के पेट के कीड़ो में भी उपयोगी है लेकिन मात्रा का ध्यान रखे |

दमा रोग में हल्दी के फायदे – Benefits of Turmeric  in  Asthma

दमे से परेशान रहने वाले रोगी 60 ग्राम पीसी हुई हल्दी ले | अब चार चम्मच देशी गाय के घी में इस हल्दी को सेक ले | सेकी हुई हल्दी को कांच की शीशी में भर ले | आधा चम्मच की मात्रा में इस हल्दी का इस्तेमाल दिन में तीन बार गर्म दूध के साथ करे | नियमित प्रयोग करने से जल्द ही दमे के रोग में लाभ प्राप्त होगा एवं सभी प्रकार की कफज व्याधियां शांत होंगी |

दर्द में हल्दी के फायदे – Haldi ke Fayde in  Pain

इस नुस्खे का प्रयोग शायद आप सभी ने पहले भी किया होगा | हल्दी में दर्द निवारक गुण विद्यमान होते है इसलिए यह सभी प्रकार के शारीरिक दर्द को हरने में सक्षम होती है | अगर आपके भी शरीर में कहीं दर्द है तो बस एक गिलास दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर सेवन करे , तुरंत राहत मिलेगी |

रूप निखारती है हल्दी 

हल्दी का इस्तेमाल (Haldi ke Fayde) सौन्द्रिय बढाने के लिए पुराने समय से ही किया जाता रहा है | शादी – ब्याह में दुल्हन और दुल्हे के रंग को निखारने के लिए हल्दी का इस्तेमाल आप सभी ने देखा  होगा | हल्दी में पाए जाने वाले तत्व त्वचा के  वृण को निखारते है | अगर आप  भी अपनी त्वचा का रंग सुधारना चाहते है तो आधा कप दूध की मलाई में दो चम्मच हल्दी मिलाकर स्थानिक प्रयोग करे | जल्द ही त्वचा कांतिमय हो जाएगी | अगर चेहरे पर कहीं दाग या धब्बे है तो हल्दी और काले तील समान मात्रा में लेकर पानी डालकर पिसले और इसका प्रयोग करे | 5 – 7 दिन के इस्तेमाल से ही चेहरे के सभी दाग – धब्बे और झाइयाँ ख़त्म हो जायेंगी |

जुकाम और खांसी में हल्दी – Haldi ke Fayde in Cold  and  Cough

जुकाम में पांच कालीमिर्च पीसकर आधा चम्मच पीसी हुई हल्दी में मिलाकर गरम पानी में घोल कर पी जावे | जुकाम ठीक हो जायेगा और खांसी की समस्या भी नहीं रहेगी | ध्यान दे इस प्रयोग के बाद 1 घंटे तक पानी और कोई ठंडा पेय नहीं पीना है | खांसी के लिए आप एक गिलास गरम दूध में एक चम्मच हल्दी और मिश्री मिलाकर सेवन कर सकते है इससे भी खांसी की समस्या जाती रहती है |

चोट लगने और सुजन – Haldi ke Fayde in Injuries and Swelling

शरीर पर कहीं भी चोट लग जाए या कहीं पर सुजन हो तो हल्दी और चुने का इस्तेमाल तुरंत राहत देता है | इसके लिए आप एक भाग पिसा हुआ चुना और दो भाग पीसी हुई हल्दी मिला ले और इसका प्रभावित स्थान पर प्रयोग करे | सभी प्रकार के सुजन और चोट में आराम मिलेगा  | अगर चोट के  कारण शरीर पर कहीं घाव हो गया हो तो हल्दी की छोटी  गांठ को पानी में  पीसकर घाव पर लेप करने से घाव जल्दी भरता है |

मर्दाना शक्ति में हल्दी  

मर्दाना शक्ति की कमजोरी में एक गाँठ कच्ची हल्दी की ले और इसे पीसकर इसका रस निकाल ले | हल्दी के रस में समान मात्रा में शहद मिलकर  चाटने से खोयी हुई मर्दाना ताकत लौट आती है |

250 ग्राम पीसी हुई हल्दी और 250 ग्राम पीसी हुई हल्दी को मिला ले और इसे गाय के घी में सेक ले | सेके हुए चूर्ण को नित्य रात को सोते समय एक चम्मच की मात्रा में  गरम दूध के साथ फंकी ले | जल्द ही शरीर में मर्दाना ताकत और स्फूर्ति लौट आएगी |

धन्यवाद |

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.