Vitamin D की कमी को दूर करने के लिए है खाएं ये आहार

Vitamin D Deficiency के कारण शरीर के साथ – साथ हड्डियाँ भी कमजोर हो जाती है | यह विटामिन अत्यंत आवश्यक तत्व है जो body में इम्युनिटी एवं हड्डियों की मजबूती के लिए जिम्मेदार है | शरीर में कैल्शियम एवं फास्फोरस के अवशोषण के लिए vitamin d जिम्मेदार है

अत: अगर इस vitamin की शरीर में कमी होगी तो immunity के साथ – साथ हड्डियों में कैल्शियम की कमी भी हो जाएगी जो आगे चलकर ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) रोग का कारण बनता है |

यहाँ इस लेख में हम आपको vitamin d डेफिशियेंसी से बचने के लिए उपयोग होने वाले आहार चार्ट की जानकारी उपलब्ध करवा रहें है |

Vitamin D

शरीर में vitamin d की कमी होने पर निम्न लक्षण दिखाई देते है –

  • हड्डियाँ एवं दांत कमजोर हो जाते है |
  • शरीर में फास्फोरस एवं कैल्शियम की कमी हो जाती है |
  • दांत सड़ने लगते है |
  • पीठ में दर्द रहने लगता है |
  • हड्डियों के जॉइंट्स भी दर्द करने लगते है |
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है |
  • मांसपेशियों का विकास रुक जाता है |
  • पाचन तंत्र कमजोर हो जाता है |
  • जोड़ो में सुजन आ जाती है |
  • गहरी नींद आना बंद हो जाता है |

Vitamin D की कमी होने पर आहार में शामिल करें ये आहार

सूरज की रोशनी विटामिन डी का प्रमुख स्रोत है | अगर आप vitamin d की कमी से झुझ रहें है तो नित्य सुबह 9 बजे तक की धुप लें | सूर्य के प्रकाश से मिलने वाले vitamin d के अवशोषण के लिए कमर पर सूरज की रोशनी पड़नी चाहिए | साथ ही आहार में दूध, अंडा एवं हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करके भी इस विटामिन की कमी को दूर किया जा सकता है |

  • सूरज की रोशनी लें
  • दूध एवं दूध से बने भोज्य पदार्थ का अधिक सेवन करें |
  • पाचन शक्ति को सुचारू रखें |
  • मशरूम को अपने आहार में शामिल करें | मशरूम में भी vitamin d प्रचुर मात्रा में होता है |
  • संतरे एवं मौसमी का नित्य सेवन करके भी आप vitamin d की कमी को दूर कर सकते है |
  • हरी पत्तेदार सब्जियों एवं फलों के रस का अधिकाधिक सेवन करें |
  • अंडा भी vitamin d का अच्छा स्रोत है | इसे भी आहार में शामिल करके आप vitamin d की कमी को दूर कर सकते है
  • घी एवं मक्खन को आहार में शामिल करें |
  • ताजे दूध का सेवन करके भी विटामिन डी की मात्रा शरीर में बढाई जा सकती है |
  • अगर आप मांसाहारी है तो वसायुक्त मछलियाँ भी आहार में शामिल की जा सकती है | क्योंकि वसायुक्त मछलियाँ में 200 से लेकर 1200 IU/100 gram तक vitamin d उपस्थित रहता है |

Vitamin D की दैनिक मांग

विटामिन डी उत्तम स्वास्थ्य के लिए अत्यावश्यक है | भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद् (ICMR) ने भारतियों के लिए ‘vitamin D’ की दैनिक मांग निम्न सारणी अनुसार बताई है |

उम्रविटामिन D
ug/day
विटामिन D
I.U. / day
शिशु 10 400
किशोर एवं किशोरी 5 200
वयस्क (स्त्री – पुरुष)5 200
गर्भवती स्त्री 10 400
प्रसवावस्था 10400

धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *