शहद के 15 चमत्कारिक नुस्खें – इन्हें अपनाएं और स्वस्थ रहें |

शहद के 15 चमत्कारिक नुस्खें

भारतीय घरों में शहद भी एक आवश्यक सामग्री में गिना जाता है | प्राचीन समय से ही हमारे यहाँ शहद से उपचार एवं मिठास के लिए प्रयोग किया जाता रहा है | इसकी मिठाश से तो हर कोई परिचित है लेकिन शहद के कुच्छ घरेलु नुस्खे जो बहुत से रोगों में चमत्कारिक सिद्ध होते है, उनके बारे में अधिकतर परिचित नहीं है |

शहद

अत: हम शहद के कुच्छ चुने हुए बेहतरीन घरेलु नुस्खे आपको बताएँगे जिनका प्रयोग करके आप भी इसके स्वास्थ्य लाभों का फायदा उठा सकें |

विभिन्न रोगों में शहद के चमत्कारिक घरेलु प्रयोग एवं तरीके 

सर्वरोगहर औषधि – यह नुस्खा सभी प्रकार के रोगों का हरण करता है | इसके लिए आप आधा चम्मच तुलसी के पतों का रस, तीन चम्मच शहद में मिलाकर एक महिना तक प्रयोग करें | हर प्रकार के रोग में लाभ मिलेगा |

जुकाम एवं खांसी – एक चम्मच शहद के साथ एक चौथाई नमक मिलाकर चाटने से जुकाम में आराम मिलता है एवं साथ ही खांसी की समस्या से भी निजात मिलती है |

घाव – शहद और तिल का तेल समान मात्रा में मिलकर रुई के फोहे या कपड़े में भर कर घाव पर पट्टी बाँधने से घाव जल्दी भरता है |

छाले – 15 ग्राम शहद, सौ ग्राम ग्लिसरीन, 40 ग्राम बहुत बारीक़ पीसा हुआ सुहागा, पांच ग्राम कपूर मिलाकर रखें | मुँह के छालों पर इसकी फुरेरी नित्य तीन बार लगायें | छाले ठीक हो जायेंगे |

न्युमोनिया – नित्य शहद का इस्तेमाल करें | सबसे पहले 1 चम्मच शहद और फिर मात्रा बढ़तें जाएँ | जल्द ही न्युमोनिया से छुटकारा मिलेगा |

आँतों के रोग, चर्म रोग एवं भूख के लिए – आंवले का तीन चम्मच चूर्ण नित्य शहद में मिलाकर सेवन करने से भूख खुल कर लगती है | रक्त का शोधन होता है जिससे त्वचा के सभी रोगों में लाभ मिलता है |

स्मरण शक्ति – दस बादाम रात को भिगों दें | प्रात: काल में इन्हें छिल कर बारीक़ पीस कर एक गिलास पानी, दो नारंगी का रस एवं चार चम्मच शहद मिलाकर पियें |

टीबी – एक कप अनार का रस, एक कप दूध दोनों मिलाकर तीन चम्मच शहद मिलालें | इसे सुबह के समय नित्य सेवन करें | टीबी रोग में आराम मिलता है |

काले धब्बे एवं दाग – अगर त्वचा पर कहीं काले धब्बे या दाग हो तो एक चम्मच शहद में चौथाई भाग निम्बू का रस मिलालें | इस रस से प्रभावित त्वचा पर मालिश करने से जल्द ही इन समस्याओं से निजात मिलने लगती है |

कीटाणुनाशक – श्वांस रोग एवं पेचिश में दोषी कीटाणुओं को नित्य शहद का सेवन करने से खत्म किया जा सकता है |

पित्ती – इस रोग में एक चम्मच शहद और एक चम्मच त्रिफला मिला कर सुबह शाम दो बार खाएं | इससे पित्ती की समस्या ठीक होने लगती है |

बच्चों के पेट में दर्द – अगर बच्चों को पेट में दर्द की शिकायत हो तो एक गिलास पानी में दो चम्मच सौंफ अच्छी तरह उबालें | आधा पानी रहने पर स्वादानुसार पानी मिलालें | यह प्रयोग पेट दर्द में कारगर साबित होगा | अगर पेट दर्द रह रह कर उठता होतो पोदीने का रस चार चम्मच की और एक चम्मच शहद मिलाकर पिलायें फायदा मिलेगा |

दांत निकलना – बच्चों के दांत आते समय हल्का मक्खन और शहद मसूड़ों पर नित्य तीन बार लगाने से आसानी से निकलते है |

बिस्तर में पेशाब करना – चार चम्मच अंकुरित काले तिल और 5 बादाम पीसकर एक चम्मच मक्खन एवं तीन चम्मच शहद मिलाकर सुबह शाम दो बार खाने से लाभ मिलता है |

अगर नुस्खें फायदेमंद लगे तो कृपया सोशल साईट पर भी इन्हें अपने मित्रों के साथ शेयर जरुर करें | आपका एक शेयर हमारे लिये प्रेरणा साबित होता है | 

धन्यवाद (Team– “Swadeshi Upchar“)

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.