चमत्कार से कम नहीं है – मकड़ी का जाला

मकड़ी के जले से निमोनिया का उपचार 

आम घर की समस्या है कि उसमें मकड़ी अपना जाला डाल लेती है। लेकिन कभी आपने सोचा है कि ये मकड़ी का जाला भी हमारे बच्चों के किसी रोग में काम आ सकता है। बिल्कुल मकड़ी जो छोटे आकार का जाला बनाती है जिसका रंग सफेद होता है वह छोटे बच्चों के निमोनिया रोग को खत्म कर सकता है।

मकड़ी के जाले के घरेलु नुस्खे
मकड़ी का जाला

यदि दुध पीते बच्चे को निमोनिया हो जाये तो उसे मकड़ी का जाला देने से निमोनिया से मुक्ति मिल सकती है। ज्यादातर घरों में मकड़ी एक सफेद रंग का एक रूपये के सिक्के के आकार का जाला बनाती है। जब किसी बच्चे को निमोनिया हो जाये तो ये जाला दिवार से उतार लें। ध्यान रखें जाला सफेद रंग का और रूपये के सिक्के की आकृति का होना चाहिए। इसे उतार कर साफ कपड़े से पोंछ कर साफ करलें। इस जाले में प्रायः अण्डे चिपके रहते हैं। अतः उन्हे पूर्णतया साफ करले।

इस प्रकार करें उपयोग मकड़ी का जाला

अब इस जाले को माता के दुध में पीसकर बच्चे को दिन में तीन बार पीलायें। जब आप इसकी पहली खुराक देंगे तब से ही बच्चे को आराम मिलना शुरू हो जायेगा। तीन खुराक पूरी देने से बच्चे का निमोनिया पूर्ण रूप से खत्म हो जायेगा। मकड़ी का जाला दुध से देने से बच्चे को दस्त लगेंगे और उसका पेट साफ हो जायेगा। यह नुस्खा आजमाया हुआ है और तीन खुराक में रोगी पूर्ण रूप से स्वस्थ हो जाता है। इससे अधिक लेने की आवश्यकता नहीं पड़ती। यह प्रयोग अनेक बार परिक्षित है।

अगर जानकारी फायदेमंद लगी हो तो कृप्या इसे शेयर भी करें ताकी अन्य लोगों तक भी पंहुच सके। स्वास्थ्य से जुड़ी अन्य सभी प्रकार की जानकारीयों के लिये हमारे फेसबूक पेज “स्वदेशी उपचार” से जुड़े। पोस्ट के निचे स्क्रोल करने से आपको फेसबुक पेज का विजेट बाॅक्स नजर आयेगा , उसी के माध्यम से आप हमारे पेज को लाईक कर सकते हैं।

credit:-वैद्यभूषण श्री रामचन्द्र आर्य मुसाफिर की पोस्ट – भोजन से चिकित्सा

धन्यवाद | 

Related Post

तुलसी ( ocimum sanctum ) – अनेक रोगों की एक ... तुलसी (Ocimum Sanctum) update on - 08/11/2017 तुलसी एक दिव्या पौधा है जो भारत के हर घर में मिलजाता है | भारतीय संस्कृति में तुलसी का बहुत महत्वपूर...
शीघ्रपतन को जड़ से मिटते है ये कुछ बेहतरीन नुस्खे... शीघ्रपतन शीघ्रपतन:-   समय से पहले वीर्य का स्खलित हो जाना शीघ्रपतन है। यह “समय” कोई निश्चित समय नहीं है पर जब “एंट्री” के साथ ही “एक...
मुलेठी – एक चमत्कारिक औषधि एवं इसके फायदे |... परिचय  मुलेठी आयुर्वेद की एक प्रसिद्ध जड़ी-बूटी अर्थात एक प्रसिद्ध औषधी है। आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में मुलेठी का इस्तेमाल कफज और पितज रोगों के निद...
त्रिकटु चूर्ण – जानें इसके फायदे , घटक द्रव्... त्रिकटु चूर्ण / Trikatu Churna (त्र्युषण) पिप्पली श्रंगवेरं च मरिचं त्र्युष्ण विदु: |  अर्थात शुंठी, कालीमिर्च एवं पिप्पली इन तीनो के मिश्रण को त्रि...
Content Protection by DMCA.com

One thought on “चमत्कार से कम नहीं है – मकड़ी का जाला”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.