बालों की समस्याओं में उपयोगी आयुर्वेदिक औषधियाँ (जड़ी-बूटियां)

आज के समय में हर व्यक्ति बालों की कोई न कोई समस्या से परेशान है | हर कोई चाहता है की उसके बाल सुंदर, चमकदार, लम्बे, घने और काले हो | इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए हम यहाँ आपको ऐसी आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में बताएँगे जो आपके बालों के झड़ने, रुसी, बालों का सफेद होना, गंजापन, बालों का पतला होना, बालों में चमक का न होना आदि सभी रोगों में कारगार सिद्ध होगी |

इन जड़ी-बूटियों के बारे में बताने से पहले ये जान लेते है कि बालों की समस्याओं के कारण क्या है ?

बालों की समस्याओं में उपयोगी आयुर्वेदिक औषधियाँ

बालों की समस्याओं के कारण | Causes of Hair Problems

बालों का झड़ना, सफ़ेद होना, एवं रुसी आदि की समस्याएँ विभिन्न कारणों से होती है | इन समस्याओं के लिए भिन्न – भिन्न कारण जिम्मेदार है | जैसे बालों का झड़ना अनुवांशिक एवं हार्मोनल कारणों से होता है वहीँ रुसी आदि की समस्या तेलिय त्वचा आदि के कारण होती है |

यहाँ निचे हमने बालों की समस्याओं के लिए सम्मिलित कारण बताएं है –

  • अनुवांशिक लक्षणों के द्वारा भी बालों का झड़ना एवं सफेद होने की समस्या होती है |
  • हार्मोनल असंतुलन के कारण बाल झड़ने लगते है एवं सफ़ेद भी होने लगते है |
  • अंग्रेजी दवाओं का लम्बे समय तक उपयोग करना भी बाल झड़ने एवं सफ़ेद होने का कारण बनता है |
  • रेडिएशन के कुप्रभावों के कारण
  • मानसिक तनाव एवं डिप्रेशन के कारण
  • बालों के किसी ट्रीटमेंट के कारण भी समस्याएँ हो सकती है |
  • बालों के सफ़ेद होने की समस्या डाई आदि के उपयोग के कारण भी होती है |
  • रुसी की समस्या अधिक तेलिय त्वचा के कारण होती है |
  • मेल्लासेजिया नामक फंगस के कारण भी बालों में रुसी आदि की समस्या होती है |
  • विटामिन बी 12 की कमी के कारण भी |

बालों की समस्याओं में उपयोगी 7 प्रमुख आयुर्वेदिक औषधियाँ (जड़ी-बूटियां)

नीम –अपनी एंटीसेप्टिक गुणों के लिए जाने जाने वाले नीम का इस्तेमाल त्वचा की समस्या को दूर करने के साथ –साथ बालों की भी समस्या को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है |बालों में रुसी और खुजली की समस्या उत्पन होने पर नीम के पत्तों को पीसकर उसका पेस्ट बनाकर सिर में लगाने से चमत्कारी लाभ मिलता है |कयोंकि बाल टूटने का एक मुख्य कारण बालों में रुसी का होना है |

नीम के पत्तों को पानी में उबालकर उस पानी को ठंडा करके उस पानी से बाल धोने पर भी कुछ समय लगातार उपयोग में लेने से भी रुसी से छुटकारा मिल जाता है |

दही या छाछ – दही या खट्टी छाछ का उपयोग बाल धोने के लिए प्राचीन समय से हो रहा है |पुराने समय में लोग खट्टी छाछ से बाल धोते थे जिस कारण उनको बालों की कोई भी समस्या से सामना नहीं करना पड़ता था | दही में एंटी –इंफ्लेमेटरी गुण होने के कारण ये रुसी की समस्या को दूर करता है और साथ में ही बालों की ग्रोथ बढ़ाने के साथ –साथ उन्हें मजबूत भी बनाता है |

मुल्तानी मिट्टी – मुल्तानी मिट्टी हमारे बालों के लिए शैंपू और कंडीशनर दोनों तरह से काम करती है | इससे बाल मुलायम और चमकदार बनते है, रूखे बालों की समस्या दूर होती है | आप बालों पर मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल हेयर पैक की तरह कर सकते है | मुल्तानी मिट्टी में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते है जो स्कैल्प को फंगल और बैक्टीरिया संक्रमण से बचाते है |

टंकण (सुहागा ) – टंकण का उपयोग भी बालों के लिए बहुत लाभदायक होता है |नीम की पत्तों का पेस्ट या मुल्तानी मिट्टी का पैक बनाते समय उसमे एक चम्मच टंकण या सुहागा का प्रयोग करने से बालों की ग्रोथ बढाने में बहुत सहायता मिलती है |

आंवला – आंवला बालों के सभी प्रकार के रोगों में रामबाण है | चाहे तो आंवला का चूर्ण खाए या आंवला का जूस पीये किसी भी प्रकार से आंवला को उपयोग करना बालों के लिए फायदेमंद है | इसके चूर्ण को रात में पानी में भिगोकर सुबह उस पानी को छानकर बालों में उपयोग करने से बालों की झड़ने की समस्या दूर होकर बाल काले होते है और बालों की ग्रोथ होती है |

शिकाकाई – शिकाकाई बालों की जड़े मजबूत करने के साथ –साथ बालों को लम्बा, घना, मुलायम और रेशमी बनाता है | रात को पानी में शिकाकाई के टुकड़ो को भिगोकर रख दे और सुबह उस पानी को मसलकर छानकर उससे बाल धोने से कुछ ही समय में आश्चर्यजनक लाभ देखने को मिलेगा |

रीठा – रीठा का उपयोग भी हमारे बालो के लिए वरदान की तरह काम करता है | यह हमारे बालों को लम्बा करने के साथ –साथ बालों को घना भी करता है | रीठा के टुकड़ो को रात को पानी में भिगोकर रख दे और सुबह उस पानी को मसलकर छान ले और इस पानी से बालों पर कुछ समय तक मसाज करे फिर बालों को धो ले | कुछ समय लगातार प्रयोग करने से सफेद हुए बाल फिर से काले होने लगगे और गंजा हुआ सिर फिर से बालों से हरा – भरा हो जायेगा

सारांस | Conclusion

यहाँ बताई गई सभी जड़ी-बूटियां एवं अन्य उपाय पूर्णत: प्रभावी है | इनका प्रयोग करने से निश्चित ही इन समस्याओं में आराम मिलता है | हालाँकि रोग की स्थिति एवं आपकी प्रकृति के आधार पर आयुर्वेदिक चिकित्सक आपके लिए दवाओं एवं जड़ी-बूटियों का निर्धारण अच्छी तरह से कर सकते है |

अत: उपयोग से पहले नजदीकी चिकित्सक या हमारे ऑनलाइन कंसल्टेशन चिकित्सक से परामर्श लेकर इनका उपयोग कर सकते है |

धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published.