महानारायण तेल | Mahanarayan Oil in Hindi

महानारायण तेल : भैषज्य रत्नावली आयुर्वेदिक ग्रन्थ में इस शास्त्रोक्त तेल की निर्माण विधि एवं उपयोगों के बारे में पता चलता है | आयुर्वेद में इस तेल की बहुत अधिक उपयोगिता है |

पंचकर्म चिकित्सा में समस्त प्रकार के वात रोगों को नष्ट करने के लिए महानारायण तेल का अभ्यंग (मालिश) करने का अधिक चलन है | यह सभी प्रकार के वात रोगों को नष्ट करने का कार्य करता है |

इसका उपयोग मालिश करने के लिए किया जाता है | जोड़ो के दर्द, पीठ के दर्द, हाथ – पैरों की कम्पन, सर्वाइकल एवं सिरदर्द आदि वात विकारों में इसकी मसाज फायदेमंद रहती है |

इस आर्टिकल में हमने महानारायण तेल (Maharanayan oil) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी आपके लिए उपलब्ध करवाई है | यहाँ हमने महानारायण तेल के घटक, इसके चिकित्सकीय उपयोग, फायदे, नुकसान एवं निर्माण विधि सभी का वर्णन किया है |

महानारायण तेल

तो चलिए सबसे पहले जानते है महानारायण तेल के चिकित्सकीय उपयोग के बारे में

महानारायण तेल के चिकित्सकीय उपयोग / Clinical Uses of Mahanarayan Tel

  • हाथ पैरों का परालिसिस (Monoplegia)
  • सिरदर्द (Headache)
  • एकांगवात (vaat)
  • जोड़ो का दर्द (Joint Pain)
  • बहरेपन की समस्या (Hearing Loss)
  • पुरुषों में शुक्राणुओं की कमी (Oligospermia)
  • स्त्रियों में बाँझपन (Female Infertility)
  • मष्तिष्क विकार (Pshycosis)
  • उन्माद / पागलपन (Schizoprenia)
  • पीठ दर्द (Back Pain)
  • ज्वर कमजोरी (Fever Weakness)
  • कम्पवात (Tremors)

महानारायण तेल के फायदे | Benefits of Mahanarayan Oil in Hindi

यहाँ हमने महानारायण तेल के स्वास्थ्य लाभों के बारे में संक्षिप्त में आपको विवरण दिया है |

अभ्यंग के लिए : महानारायण तेल का उपयोग दर्द को दूर करने के लिए मसाज के रूप में किया जाता है | आयुर्वेदिक चिकित्सा में पंचकर्म पद्धति में वात व्याधियों के दर्द को दूर करने के लिए अभ्यंग किया जाता है | महानारायण तेल से मसाज करने से दर्द दूर होता है |

मांशपेशियों के दर्द में फायदेमंद : मांशपेशियों के दर्द में महानारायण तेल को गरम करके अगर नियमित मसाज की जाए तो मांशपेशियों के दर्द से छुटकारा मिलता है |

जोड़ों के दर्द में महानारायण तेल के फायदे : जोड़ों का दर्द बहुत पीड़ा देता है | यह समस्या शरीर में अधिक वातवृद्धि एवं आर्थराइटिस रोग के कारण होता है | अत: जोड़ों के दर्द में आयुर्वेदिक अभ्यंग एवं तेल बस्ती से आराम मिलता है |

बस्ती के लिए : महानारायण तेल का उपयोग बस्ती देने के लिए भी किया जाता है | वात विकृतियों में बस्ती का प्रयोग आयुर्वेद में बताया गया है | इन समस्याओं में बस्ती के द्वारा आराम मिलता है |

कम्पवात में महानारायण तेल : हाथ पैरों की कम्पन की समस्या को आयुर्वेद में कम्पवात नाम से जानते है | कंपवात में भी वात की विकृति होती है अत: एसी अवस्था में महानारायण तेल से मसाज करनी लाभदायक होती है |

शारीरिक दोर्गंध : शरीर से आने वाली दुर्गन्ध में पसीना मुख्य वजह होती है एसे में महानारायण तेल से मसाज करने से पसीने के कारण आने वाली शारीरिक दौर्गंध से मुक्ति मिलती है |

नियमित इस तेल की मालिश करने से शारीरिक कांति आती है | पुरुष ओजवान बनता है एवं स्त्रीप्रिय बनता है |

बुखार के कारण कमजोर हुए शरीर में महानारायण तेल बहुत फायदेमंद है | यह शरीर की दुर्बलता को दूर करता है | साथ ही त्वचा को भी कांतिमय बनाता है |

योनी बस्ती : बंध्या स्त्रियों के लिए महानारायण तेल का पिच्चू धारण करना उन्हें बंध्यता से छुटकारा दिलाता है | आयुर्वेदिक ग्रंथो में बंध्या स्त्रियों के लिए कहा गया है की इस तेल के उपयोग से वे सुन्दर, सर्वगुणसंपन्न, शूरवीर बालकों को जन्म देती है |

महानारायण तेल के घटक द्रव्य | Ingredients of Mahanarayan Oil

क्रमांक घटक द्रव्य मात्रा
01.बेलपत्र की जड़ 240 ग्राम
02. अश्वगंधा 240 ग्राम
03.श्योनाक जड़ छाल 240 ग्राम
04.बला मूल 240 ग्राम
05.पाटला मूल 240 ग्राम
06.गोखरू 240 ग्राम
07. गंधप्रसारण 240 ग्राम
08.अग्निमंथ मूल 240 ग्राम
09.पुनर्नवा मूल 240 ग्राम
10.कंटकारी 240 ग्राम
11.पारिभद्र 240 ग्राम
12.बृहती मूल 240 ग्राम
13.अतिबला मूल 240 ग्राम
पाक द्रव्य पाक द्रव्यपाक द्रव्य
14.जल 24.56 लीटर
15.तिल तेल 1.536 लीटर
16.गाय का दूध 1.536 लीटर
17. शतावरी क्वाथ 1.536 लीटर
कल्क के लिए उपयोग होने वाली जड़ी बूटियां
18. अश्वगंधा 24 ग्राम
19.शतपुष्पा 24 ग्राम
20.रास्ना 24 ग्राम
21.देवदारू 24 ग्राम
22. कुष्ठ 24 ग्राम
23.शालीपरनी 24 ग्राम
24. पृष्णपरनी 24 ग्राम
25. माश्परनी 24 ग्राम
26.मुद्गपर्णी 24 ग्राम
27. अगरु 24 ग्राम
28.नागकेशर 24 ग्राम
29.सैन्धव लवण 24 ग्राम
30.जटामांशी 24 ग्राम
31.हरिद्रा 24 ग्राम
32.दारूहरिद्रा 24 ग्राम
33.शैलेयांक 24 ग्राम
34.इलायची 24 ग्राम
35.लालचन्दन 24. ग्राम
36.मंजिष्ठ 24 ग्राम
37.पुष्करमूल 24 ग्राम
38. तेजपत्र 24 ग्राम
39.मुस्ता 24 ग्राम
40.जीवक 24 ग्राम
41.भृंगराज 24 ग्राम
42.काकोली 24 ग्राम
43.ऋषभक 24 ग्राम
44.क्षीरकाकोली 24 ग्राम
45.मेदा 24 ग्राम
46.महामेदा 24 ग्राम
47.रिद्धि 24 ग्राम
48.वृद्धि 24 ग्राम
49.ह्यर्बेर 24 ग्राम
50. चोरक 24 ग्राम
51.पुनर्नवा 24 ग्राम
52.गंधपर्णी 24 ग्राम
53.पुनर्नवा 24. ग्राम
54.वचा 24 ग्राम
सुगन्धित द्रव्य
55.केशर 12 ग्राम
56.कर्पुर 12 ग्राम
57.कस्तूरी 12 ग्राम

निर्माण करने की विधि

ऊपर निर्देशीत 13 तक के क्वाथ द्रव्यों को यवकूट करके इन्हें निर्देशित जल में डालकर पकाया जाता है | जब जल एक चौथाई बचे तब इसे छानकर इसमें तिल तेल एवं गोदुग्ध मिलाकर फिर से मन्दाग्नि पर पाक किया जाता है |

कल्क बनाने के लिए 18 नंबर से लेकर 54 नंबर तक के सभी द्रव्यों को मिलाकर कल्क का निर्माण कर लिया जाता है |

इन जड़ी बूटियों के कल्क को कडाही में डालकर तिल तेल, गोदुग्ध एवं क्वाथ के मिश्रण में पकाया जाता है | जब अच्छी तरह पाक हो जाये एवं जलियांश सारा उड़ जाये तब इसे निचे उतार कर ठंडा कर लेते है |

इस ठन्डे तेल में सुगन्धित द्रव्य डालकर छानकर रख लिया जाता है | इस प्रकार से महानारायण तेल का निर्माण होता है |

महानारायण तेल के नुकसान | Side Effects of Mahanarayan Tel

इस तेल का उपयोग अधिकतर बाह्य रूप में ही किया जाता है | अत: इस तेल के कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है | अगर आपको आयुर्वेदिक तेलों से एलर्जी है तो पहले थोड़ी जगह पर मसाज करके चेक करलें | आप अपने नजदीकी आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह भी ले सकते है |

सामान्य सवाल जवाब | FAQ

महानारायण तेल की price क्या है ?

बैद्यनाथ महानारायण तेल की price 80 रूपए है | अन्य फार्मेसी का मूल्य अलग हो सकता है |

क्या यह जोड़ों के दर्द में लाभदायक है ?

जी हाँ महानारायण तेल जोड़ों के दर्द के लिए फायदेमंद है |

महानारायण तेल का उपयोग कैसे करें ?

इसका उपयोग मसाज के रूप में हल्का गरम करके किया जाता है |

क्या यह ऑनलाइन उपलब्ध हो जाता है ?

जी हाँ महानारायण तेल सभी आयुर्वेदिक मेडिकल स्टोर एवं ऑनलाइन स्टोर पर आसानी से उपलब्ध हो जाता है |

क्या पतंजलि महानारायण तेल अधिक फायदेमंद है ?

सभी तेल की निर्माण विधि एक ही होती है लेकिन घटक द्रव्य के आधार पर एवं मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस के अधार पर तेल के गुण धर्म अलग – अलग हो सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार

स्वदेशी उपचार में आपका स्वागत है | कृप्या पूरा लेख पढ़ें अगर आपका कोई सवाल एवं सुझाव है तो हमें whatsapp करें

Holler Box