कामसुधा योग खरीदें ऑनलाइन

कामसुधा योग (Available On 30 October)

कामसुधा योग ​

शीघ्रपतन, धातु दुर्बलता एवं स्वपनदोष जैसी समस्याओं में आयुर्वेद चिकित्सा में विभिन्न औषध जड़ी – बूटियां है जिनका इस्तेमाल शरीर के वर्द्धन, वीर्यवान करने के लिए वाजीकरण स्वरुप किया जाता है | ये जड़ी – बूटियाँ अगर आर्गेनिक एवं असली प्राप्त हो जाती है तो सोने पे सुहागा जैसी साबित होती है |

जब व्यक्ति शीघ्रपतन एवं अन्य यौन कमजोरियों से ग्रसित होता है तो वह विभिन्न प्रकार की चिकित्सा अपनाता है | लेकिन फिर भी इन रोगों से जड़ से मुक्ति नहीं पा सकता है | आयुर्वेद यौन कमजोरियों को दूर करने में पूर्णत: सक्षम है |

क्या आप शीघ्रपतन एवं धात गिरने की समस्या से पीड़ित है ?

शीघ्रपतन या शीघ्रस्खलन एक सामान्य विकार है जो पुरुषों में समय से पहले स्खलित होने की समस्या से जाना जा सकता है | पुरुष जब प्रवेश के साथ ही चरमोत्कृष पर पहुँच जाये तो इसे शीघ्रपतन कहा जाता है |

यह समस्या पुरुषों में अधिकतर देखने को मिलती है | शीघ्रस्खलन के कारण व्यक्ति अपने पार्टनर को संतुष्ट नहीं कर पाता इस कारण वह मानसिक तनाव एवं शर्मिंदगी महसूस करता है |

लम्बे समय तक अगर इस रोग से पीड़ित है तो समस्या गंभीर हो जाती है | अत: समय रहते उचित आहार – विहार एवं औषध योगों से इसका उपचार करना चाहिए |

आयुर्वेद कैसे काम करता है ?

आयुर्वेद रोग पर कैसे कार्य करता है ये समझने से पहले आयुर्वेद क्या है ये समझना आवश्यक हैआयुर्वेद दो शब्दों से मिलकर बना है – आयु + वेद | यहाँ आयु का अर्थ व्यक्ति की निरोगी आयु एवं वेद से तात्पर्य ग्रन्थ से है | अर्थात आयुर्वेद व्यक्ति विशेष के जीवन को निरोगी रखने का विज्ञानं है | निरोगी जीवन के लिए आयुर्वेद में उचित आहार – विहार एवं स्वस्थवृत्त का पालन बताया गया है | अगर फिर भी कोई रोग व्यक्ति को घेर लेता है तो विभिन्न औषधियों, जड़ी – बूटियों एवं आयुर्वेद की अन्य प्रक्रियाओं के माध्यम से रोग को ठीक किया जाता है |

शीघ्रपतन में कामसुधा हर्ब्स योग

शीघ्रपतन एवं अन्य यौन कमजोरियों में आयुर्वेद की कुछ बेहतरीन वाजीकरण जड़ी – बूटियों का योग स्वरुप सेवन करना लाभदायक होता है

वाजीकरण द्रव्य या जड़ी – बूटियां आयुर्वेद की वो हर्ब्स होती है जिनका शास्त्रों में यौन शक्ति वर्द्धक जड़ी – बूटियों के रूप में क्लासिफिकेशन किया गया होता है | 

हम इनमे से कुछ अत्यंत लाभदायक एवं विश्वनीय जड़ी – बूटियों का कॉम्बो पैक रॉ एवं पाउडर दोनों रूपों में उपलब्ध करवाते है | यह योग आप हमारे स्टोर पर कामसुधा योग के नाम से ऑनलाइन प्राप्त कर सकते है

सेवन कैसे करें ?

कामसुधा योग हर्ब्स का सेवन पाउडर रूप में 3 से 5 ग्राम की मात्रा में सुबह शाम दूध या शहद के साथ सेवन किया जा सकता है या आयुर्वेदिक वैद्य के परामर्श से सेवन कर सकते है |

इसे लड्डू बना कर भी सेवन किया जा सकता है | लड्डू रूप में सेवन अधिक फायदेमंद साबित होता है यह रसायन स्वरुप कार्य करता है | शरीर में बल एवं वीर्य की वृद्धि करता है |

लड्डू बनाने के लिए

  • गेंहू या चावल का आटा लें
  • गाय के घी में अच्छे से सिकाई करें |
  • कामसुधा हर्ब पाउडर को इसमें मिलालें |
  • आवश्यकता अनुसार शक़्कर मिलालें |
  • ठन्डे होने पर 30 लड्डू बना लें
  • प्रतिदिन एक लड्डू दूध के साथ सेवन करें |

सामान्य पूछे जाने वाले

कामसुधा योग किसे लेना चाहिए ?

जिन्हें अपनी शारीरिक क्षमता बढानी हो उन्हें इसका सेवन करना चाहिए | शीघ्रपतन, धातु दुर्बलता, काम-दोष, स्वप्नदोष से पीड़ितों के लिए उपयोगी औषध द्रव्य है |

यह उत्पाद कितने दिन में असर करना शुरू करती है ?

सामान्यत: कोई भी आयुर्वेद उत्पाद आपकी प्रकृति एवं रोग के आधार पर अपना असर करती है | अगर रोग अधिक है तो उसे ठीक होने में समय भी अधिक लगता है | अमूमन कामसुधा हर्ब्स 15 दिन में अपना असर दिखाना शुरू कर देती है

कामसुधा योग मेरे लिए कितना उपयोगी है ?

यह  आयुर्वेद के वाजीकरण सिद्धांत पर तैयार की गई है अत: इसका सेवन करना काफी फायदेमंद है | यह आपके शरीर में धातुओं का शोधन करके शरीर को पुष्ट करती है | खाया – पीया सब लगता है |

सेवन करते समय क्या परहेज रखें ?

कामसुधा का सेवन करते समय खट्टी, चटपटी, फ़ास्ट फ़ूड, नशे एवं तेलिय पदार्थों का सेवन बंद कर देना चाहिये | अगर नियमानुसार लिया जाए तो परिणाम भी जल्दी प्राप्त होते है |

यह उत्पाद किस-किस रोग में असरकारक है ?

शीघ्रपतन, धातु विकार, कामेच्छा की कमी, स्वप्नदोष एवं शारीरिक कमजोरी में असरकारक है

इसको कैसे सेवन करना है ?

उत्पाद का सेवन 5 ग्राम की मात्रा में सुबह एवं शाम दूध के अनुपान या शहद के साथ करना चाहिए |

Shipping

We Delivers across all Villages, Towns, Cities & States; Across all over India.

Cash On Delivery / Credit / Debit card / Netbanking

Logo
Compare items
  • Total (0)
Compare
0