योग
0
उत्तानासन (प्रथम एवं द्वितीय) कैसे करें – विधि, लाभ एवं प्रकार
0

उत्तानासन को अंग्रेजी में Intense Forward Bending Pose कहा जाता है | योग विद्या में उत्तानासन योग का अपना एक अलग महत्व है | यह महिलाओं के मासिक धर्म की ...

0
जानें योग के द्वारा जीवन जीने की कला
0

योग का नाम सुनते ही हमारे दिमाग में कुछ आसन, प्राणायाम, क्रियाएं एवं सांसो का उतार चढाव आदि दृश्य आने लगते है | लेकिन क्या ये कुछ आसन एवं क्रियाएं ही योग है ...

0
लम्बाई बढ़ाने के लिए 5 बेहतरीन योग
0

लम्बाई बढ़ाने के लिए 5 बेहतरीन योग लम्बा - चौड़ा शरीर किसको नहीं चाहिए ? हर व्यक्ति चाहता है की उसकी हाईट और शरीर का शेप बिलकुल ठीक हो , लेकिन अनुवांशिकता एवं ...

0
चमकती त्वचा एवं शारीरिक सौन्दर्य के लिए अपनाएं ये 7 योग
0

चमकती त्वचा एवं शारीरिक सौन्दर्य के लिए अपनाएं ये 7 योग सुन्दरता के लिए योग :- चमकता - दमकता सौन्दर्य किसे नहीं चाहिए ! चमकती त्वचा एवं सुन्दर काया सभी के लिए ...

2
योग क्या है – इसका परिचय, परिभाषा, प्रकार, लाभ और शारीरिक प्रभाव |
0

योग / Yoga (कृपया पूरा लेख पढ़ें आप योग को भली प्रकार से समझ सकेंगे) - योग विश्व इतिहास का सबसे पुराना विज्ञानं है , जिसने व्यक्ति के अध्यात्मिक और शारीरिक ...

1
चंद्रभेदी प्राणायाम – विधि , लाभ और सावधानियां
0

चंद्रभेदी प्राणायाम प्राणायाम शारीरिक और मानसिक रूप से मनुष्य स्वास्थ्य प्रदान करता है | इससे पहले आपने प्राणायाम के प्रकारों में सूर्यभेदी प्राणायाम के बारे ...

1
ताड़ासन (Tadasana Yoga) योग – कैसे करे, इसके लाभ और सावधानियां |
0

ताड़ासन / Tadasana Yoga in Hindi शरीर की लम्बाई बढ़ाने और मांसपेशियों को लचीला बनाने के लिए इस आसन का प्रयोग किया जाता है | ताड़ासन का संधि विच्छेद करने पर यह - ...

0
सूर्यभेदी प्राणायाम – इसकी विधि , लाभ एवं सावधानियां |
0

सूर्यभेदी / सूर्यभेदन  प्राणायाम सुर्यभेदी प्राणायाम सुर्यभेदी प्राणायाम की विशेषता होती है की इसमें पूरक क्रिया नाक के दांये छिद्र से की जाती है | नाक ...

0
शीर्षासन / Shirshasana – विधि , फायदे एवं सावधानियां |
0

शीर्षासन / Shirshasana योगासनों में सबसे अधिक उपयोगी और फायदेमंद आसन है शीर्षासन | इसीलिए इस आसन को आसनों का राजा भी कहा जाता है | भले ही यह करने में थोडा कठिन ...

0
मुर्गासन / मुर्गा-आसनात्मक क्रिया  – विधि , लाभ और सावधानियां |
0

पहले स्कुलों में विद्यार्थियों को मुर्गा बनाया जाता था और आज भी यह क्रिया बहुत सी स्कुलों मे विद्यार्थियों को दण्ड देने के लिए अपनाई जाती है। जी हाँ यह वही ...

0
धनुरासन – करने की विधि, लाभ और सावधानियां
0

धनुरासन धनुरासन का अर्थ होता है धनुष के समान। धनुर और आसन शब्दों के मिलने से धनुरासन बनता है। यहां धनुर का अर्थ है धनुष। इस आसन में साधक की आकृति धनुष के समान ...

0
उतानपादासन – विधि, फायदे और सावधानियां
0

योग चिकित्सा में बहुत से आसन है जो स्वास्थ्य की दृष्टि से अतिमहत्वपूर्ण है और जिन्हे हर प्रकार के लोग कर सकते हैं एवं सावधानियां भी कम रखनी पड़ती हैं। इन्ही ...

स्वदेशी उपचार
Logo
Open chat
Hello
Can We Help You