swas rog

चित्रक हरीतकी अवलेह बनाने की विधि, घटक द्रव्य एवं इसके फायदे

चित्रक हरीतकी अवलेह बनाने की विधि, घटक द्रव्य एवं इसके फायदे

चित्रक हरीतकी अवलेह आयुर्वेद की शास्त्रोक्त औषधि है | इसे आयुर्वेदिक ग्रन्थ भैषज्य रत्नावली के नासरोगाधिकार से लिया गया है | यह कफज व्याधियों की उत्तम आयुर्वेदिक दवा है | जुकाम, साइनस एवं खांसी आदि ...

READ MORE +

सभी एक्यूप्रेशर पॉइंट्स का वर्णन रोगों के अनुसार |

सभी एक्यूप्रेशर पॉइंट्स का वर्णन रोगों के अनुसार |

एक्यूप्रेशर आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति का ही एक भाग है | मर्दन चिकित्सा के नाम से आयुर्वेद में इसका वर्णन उपलब्ध होता है | यह प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति चीन, जापान जैसे देशों में भी प्रमुखता से प्रयोग ...

READ MORE +

अडूसा (वासा) के पौधे का परिचय – जाने इसके औषधीय गुण एवं फायदे

अडूसा (वासा) के पौधे का परिचय – जाने इसके औषधीय गुण एवं फायदे

अडूसा / वासा / Malabar Nut in HIndiआयुर्वेद संहिताओं में प्राचीन समय से ही अडूसा के उपयोग का वर्णन मिलता है | यह भारत के सभी प्रान्तों में पाया जाता है | हिमालय में 4000 से 5000 फीट तक की ऊंचाई ...

READ MORE +

लवंगादि वटी के स्वास्थ्य उपयोग, फायदे एवं बनाने की विधि

लवंगादि वटी के स्वास्थ्य उपयोग, फायदे एवं बनाने की विधि

लवंगादि वटी के स्वास्थ्य उपयोग, फायदे एवं बनाने की विधि  आयुर्वेद में प्राचीन समय से ही वटी कल्पना का इस्तेमाल होता आया है | आधुनिक चिकित्सा में प्रयुक्त होने वाली टेबलेट्स एवं वटी को समतुल्य माना ...

READ MORE +

कनकासव (Kanakasava) के फायदे एवं शास्त्रोक्त बनाने की विधि जानें

कनकासव (Kanakasava) के फायदे एवं शास्त्रोक्त बनाने की विधि जानें

कनकासव / Kanakasava in Hindi श्वास एवं कास की एक प्रशिद्ध आयुर्वेदिक दवा है | कफज विकार जैसे श्वांस, खांसी, अस्थमा, सीने में कफ जमना आदि में इस दवा का प्रयोग किया जाता है | आयुर्वेद में आसव - अरिष्ट ...

READ MORE +

अपामार्ग (चिरचिटा) क्या है || जाने इसका सम्पूर्ण परिचय एवं फायदे या उपयोग

अपामार्ग (चिरचिटा) क्या है || जाने इसका सम्पूर्ण परिचय एवं फायदे या उपयोग

अपामार्ग / Apamarg (Achyranthes aspera Linn.) updated - 26/10/2018भारत में वर्षा ऋतू के साथ ही बहुत सी वनौषधियाँ पनपने लगती है | अपामार्ग जिसे चिरचिटा, चिंचडा या लटजीरा आदि नामों से जाना जाता है | ...

READ MORE +

वासावलेह / Vasavaleha – बनाने की विधि, फायदे एवं स्वास्थ्य लाभ

वासावलेह / Vasavaleha – बनाने की विधि, फायदे एवं स्वास्थ्य लाभ

वासावलेह / Vasavaleha in Hindi  श्वास, अस्थमा, खांसी, ज्वर, रक्तपित एवं पार्श्वशूल के उपचार के लिए वासावलेह का प्रयोग किया जाता है | अस्थमा एवं टीबी की समस्या में आयुर्वेदिक चिकित्सक इसका प्रमुखता से ...

READ MORE +

त्रिकटु चूर्ण – जानें इसके फायदे , घटक द्रव्य एवं घर पर तैयार करने की विधि

त्रिकटु चूर्ण – जानें इसके फायदे , घटक द्रव्य एवं घर पर तैयार करने की विधि

त्रिकटु चूर्ण / Trikatu Churna (त्र्युषण) पिप्पली श्रंगवेरं च मरिचं त्र्युष्ण विदु: |  अर्थात शुंठी, कालीमिर्च एवं पिप्पली इन तीनो के मिश्रण को त्रिकटु कहा जाता है | यहाँ त्रिकटु का मतलब तीन कटू ...

READ MORE +

अकरकरा औषधि परिचय एवं स्वास्थ्य उपयोग या फायदे जानें

अकरकरा औषधि परिचय एवं स्वास्थ्य उपयोग या फायदे जानें

अकरकरा - इस आयुर्वेदिक औषध द्रव्य से कम लोग ही परिचित है | आयुर्वेद के आर्ष संहिताओं में भी इस द्रव्यों का वर्णन उपलब्ध नहीं होता | इसका सर्वप्रथम वर्णन गद निग्रह एवं भाव प्रकाश में देखने को मिलता है ...

READ MORE +

तालिसादी चूर्ण की निर्माण विधि एवं इसके फायदे

तालिसादी चूर्ण की निर्माण विधि एवं इसके फायदे

तालिसादी चूर्ण / Talisadi Churna  आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में चूर्ण कल्पना का विशिष्ट स्थान है | तालिसादी चूर्ण का उपयोग रोचन और पाचन जैसे गुणों के कारण श्वास, कास, ज्वर, छर्दी, अतिसार एवं दीपन ...

READ MORE +

अस्थमा रोग से छुटकारे के लिए योग एवं प्राणायामों की सूचि

अस्थमा रोग से छुटकारे के लिए योग एवं प्राणायामों की सूचि

अस्थमा के लिए योग एवं प्राणायाम  अस्थमा की समस्या आज दिन प्रतिदिन बढती जा रही है | शहर हो या गाँव आज सब जगह इस रोग से पीड़ितों की संख्या में आये दिन इजाफा हो रहा है | इसके बहुत से कारण है जो रोग ...

READ MORE +

पिप्पली – परिचय, गुणधर्म, फायदे एवं औषधीय उपयोग |

पिप्पली – परिचय, गुणधर्म, फायदे एवं औषधीय उपयोग |

पिप्पली (Piper Longum) पिप्पली दो प्रकार की होती है | छोटी पिप्पल और बड़ी पिप्पली | हमारे देश में प्राय: छोटी पिप्पल ही पाई जाती है | बड़ी पीपल अधिकतर इंडोनेशिया, मलेशिया, जावा, सुमात्रा में पाई जाती ...

READ MORE +
Logo
Compare items
  • Total (0)
Compare
0