प्रेगनेंसी में खून की कमी (Anemia) के कारण, लक्षण, एवं उपचार

प्रेगनेंसी में खून की कमी

प्रेगनेंसी में खून की कमी – गर्भावस्था हर महिला के लिए एक अलग अनुभव लेकर आता है | हरेक गर्भिणी माता अपने आने वाले बच्चे के लिए कई प्रकार के सपने संजोये होती है | वह गर्भावस्था में सुकून को Read More …

दशमूलारिष्ट / Dashmoolarishta – बनाने की विधि , फायदे एवं स्वास्थ्य उपयोग

दशमूलारिष्ट

दशमूलारिष्ट / Dashmoolarishta – आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में आसव एवं अरिष्ट कल्पनाओं से निर्मित दवाओं का अपना एक अलग स्थान होता है | ये एक प्रकार के टॉनिक स्वरुप होते है एवं उत्तम गुणों के साथ – साथ दुष्प्रभाव रहित Read More …

अशोकारिष्ट / Ashokarishta – के फायदे, स्वास्थ्य लाभ, सेवन मात्रा एवं बनाने की विधि |

अशोकारिष्ट

अशोकारिष्ट / Ashokarishta in Hindi – यह एक आयुर्वेदिक फीमेल टॉनिक है | इसका प्रयोग महिलाओं की मासिकधर्म की समस्याओं में प्रमुखता से किया जाता है | मासिकधर्म के समय दर्द की समस्या, गैस होना, कृष्टार्तव, अधिक रक्त स्राव, असमय Read More …

शिवलिंगी बीज के औषधीय गुण एवं उपयोग – पुत्र जीवक बीज या गर्भ ठहराने में लाभदायक ?

दस्त एवं मरोड़ के लिए आयुर्वेदिक योग

शिवलिंगी बीज  परिचय – शिवलिंगी बरसात में पैदा होने वाली एक लता है | जो समस्त भारत वर्ष में बाग़ – बगीचों में देखि जा सकती है | यह चमकीली एवं चिकनी बेल होती है | शिवलिंगी की शाखाएं पतली Read More …

क्या माहवारी के समय सहवास सही है ?

mahavari

माहवारी (Menstruation Cycle) मासी – मासी रज: स्त्रीणां रसजं स्रवति त्र्यहम | अर्थात जो रक्त स्त्रियों में हर महीने गर्भास्य से होकर 3 दिन तक बहता है उसे रज या माहवारी कहते है | माहवारी के शुरू होने पर धीरे-धीरे Read More …

अनियमित मासिक धर्म के कारण एवं प्रमाणिक आयुर्वेदिक इलाज

अनियमित मासिक धर्म

अनियमित मासिक धर्म  अनियमित मासिक धर्म – महिलाओं में एक निश्चित उम्र के बाद मासिक धर्म का आगमन होता है | लगभग 12 से 14 साल की लड़की में यह प्रक्रिया स्वाभाविक रूप से शुरू हो जाती है | मासिक Read More …

आयुर्वेदानुसार गर्भवती महिला के लिए आहार एवं औषध की व्यवस्था |

आयुर्वेद के अनुसार गर्भवती की डाइट प्लान

गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान अपने आहार का ध्यान रखना भी परम आवश्यक है | गर्भावस्था महिला के जीवन की एसी अवस्था होती है , जो गर्भवती एवं शिशु दोनों की वर्द्धि और विकास को प्रभावित करते है | Read More …

गर्भावस्था / Pregnancy के 9 महीने – बच्चे एवं माता का विकास एवं शारीरिक परिवर्तन

गर्भावस्था के 9 महीने

गर्भावस्था के 9 महीने / 9 Months of Pregnancy in Hindi गर्भावस्था के 9 महीने – गर्भधारण करना किसी महिला के जीवन का सबसे सुखद अनुभव है | गर्भधारण होने के बाद महिला के शरीर में कौन – कौन से Read More …

एनीमिया / Anemia क्या है – इसके प्रकार, लक्षण, एवं आयुर्वेदिक उपचार

एनीमिया

एनीमिया  / Anemia in Hindi साधारण शब्दों में एनीमिया को रक्ताल्पता या पांडू रोग कहा जाता है | एनीमिया वस्तुत: रक्त से जुडी बीमारी है , जिसमे रक्त में उपस्थित हिमोग्लोबिन की मात्रा को दर्शाया जाता है | अगर रक्त Read More …

प्रेगनेंसी में पहले 12 सप्ताह (Weeks) के लक्षण – Diagnosis of Early Pregnancy

प्रेगनेंसी के लक्षण

प्रेगनेंसी के शुरूआती सप्ताह के लक्षण  पुरुष एवं महिला में सहवास होने के बाद निषेचन की क्रिया होती है | जैसे – जैसे समय बीतता जाता है महिला में प्रेगनेंसी के लक्षण प्रकट होने लगते है | प्रेगनेंसी चेक करने Read More …