आयुर्वेद

पारद क्या है ? इसके भेद, दोष एवं पारद शोधन की विधि

पारद क्या है ? इसके भेद, दोष एवं पारद शोधन की विधि

पारद खनिज पदार्थों में गिना जाता है | यह अन्य धातु मिश्रित एवं मुक्त दोनों अवस्थाओं में प्राप्त होता है | हमारे पौराणिक शास्त्रों के अनुसार यह दिव्य रसायन है जिससे सब कुच्छ संभव है |image - ...

READ MORE +

कालमेघ (Green Chireta) के आयुर्वेदिक औषधीय गुण एवं फायदे |

कालमेघ (Green Chireta) के आयुर्वेदिक औषधीय गुण  एवं फायदे |

कालमेघ जिसे हम ग्रीन चिरायता या Green Chireta भी कहते है | यह एक पुरातन भारतीय औषधीय पौधा है जिसका इस्तेमाल प्राचीन भारतीय चिकित्सा प्रणालियों में लम्बे समय से होता आया है |इसका वानस्पतिक नाम ...

READ MORE +

दर्द निवारक तेल – घर पर बनायें ! जोड़ों के दर्द, कमर दर्द एवं मांसपेशियों के दर्द से छुटकारा पायें

दर्द निवारक तेल – घर पर बनायें ! जोड़ों के दर्द, कमर दर्द एवं मांसपेशियों के दर्द से छुटकारा पायें

बाज़ार में कई कंपनियों के दर्द निवारक तेल आसानी से उपलब्ध हो जाते है, लेकिन ये कितने कारगर है कोई निश्चित परिणाम उपलब्ध नहीं होते | इन दर्द नाशक तेल का निर्माण करने वाली कंपनियां टीवी विज्ञापनों एवं ...

READ MORE +

अश्वगंधारिष्ट (Ashwagandharishta in Hindi) – घटक द्रव्य, फायदे एवं बनाने की विधि

अश्वगंधारिष्ट (Ashwagandharishta in Hindi) – घटक द्रव्य, फायदे एवं बनाने की विधि

यह आयुर्वेद चिकित्सा की शास्त्रोक्त औषधि है | अश्वगंधारिष्ट एक आयुर्वेदिक टॉनिक है जो तनाव एवं थकान में उपयोगी है | यह शरीर को ताकत प्रदान करती है एवं स्वास्थ्य को बनाये रखने में सहायक है | लम्बी ...

READ MORE +

आज के परिपेक्ष्य में आयुर्वेद की उपयोगिता

आज के परिपेक्ष्य में आयुर्वेद की उपयोगिता

आधुनिकता हर जगह चरम पर पहुँच चुकी है | भारत जैसे देश जहाँ आयुर्वेद का जन्म हुआ, यहाँ भी लोगों ने पश्चिमी संस्कृति से प्रभावित होकर आधुनिकता जैसी समस्या को खड़ा कर लिया है |आज आप जहाँ भी देखें ...

READ MORE +

अतिबला (Abutilon Indicum) – उत्तम बल वर्द्धक आयुर्वेदिक जड़ी – बूटी

अतिबला (Abutilon Indicum) – उत्तम बल वर्द्धक आयुर्वेदिक जड़ी – बूटी

आयुर्वेद चिकित्सा में अतिबला को यौन शक्ति वर्द्धक एवं उत्तम धातु पौष्टिक औषधि माना जाता है | यह आयुर्वेद के वाजीकरण द्रव्यों में अपना एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है | प्राय: सम्पूर्ण भारत में आसानी से ...

READ MORE +

कुंकुमादि तैलम बनाने की शास्त्रोक्त विधि – प्राकृतिक सौन्दर्य वर्द्धक तेल के फायदे, उपयोग विधि एवं प्राइस

कुंकुमादि तैलम बनाने की शास्त्रोक्त विधि – प्राकृतिक सौन्दर्य वर्द्धक तेल के फायदे, उपयोग विधि एवं प्राइस

आयुर्वेद में बहुत सी सौदर्य प्रसादन की दवाएं उपलब्ध है | कुंकुमादि तैलम त्वचा के प्राकृतिक सौंदर्य का वर्द्धन करने एवं त्वचा के सामान्य विकार जैसे - कील - मुंहासे, तेलिय त्वचा, दाग - धब्बे आदि को ...

READ MORE +

अल्सर की 5 आयुर्वेदिक दवाएं – पतंजलि, बैद्यनाथ |

अल्सर की 5 आयुर्वेदिक दवाएं – पतंजलि, बैद्यनाथ |

अल्सर को घाव कहा जाता है | यह घाव जब आपके अमाशय में हो जाता है तो इसे पेप्टिक अल्सर पुकारा जाता है | घाव शब्द से यह सामान्य रोग लगता है लेकिन पेट के अंदरूनी हिस्सों में घाव होना आप समझ सकते है कि ...

READ MORE +

सिजेरियन डिलीवरी के बाद मासिक धर्म से जुडी खास बातें एवं आयुर्वेदिक केयर

सिजेरियन डिलीवरी के बाद मासिक धर्म से जुडी खास बातें एवं आयुर्वेदिक केयर

अगर आपकी सिजेरियन डिलीवरी या सी सेक्शन हुआ है तो मासिक धर्म से जुडी कुछ खास बातों को आपको जानलेना चाहिए | आज हम इस आर्टिकल में सिजेरियन डिलीवरी के बाद होने वाले मासिक धर्म की समस्याओं के बारे में ...

READ MORE +

शंखपुष्पी के 9 बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ या फायदे – Sankhpushpi in Hindi

शंखपुष्पी के 9 बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ या फायदे – Sankhpushpi in Hindi

शंखपुष्पी सरा मेध्या वृष्या मानसरोगहृत |रसायनी कषायोष्ण स्मृतिकान्तिबलप्रदा |दोषापस्मारभूतादिकुष्ठकृमिविषप्राणुत ||image - wikipedia.orgशंखपुष्पी को आयुर्वेद में मेध्य (तेजबुद्धि करने वाली), ...

READ MORE +

रूमी मस्तगी की पहचान – फायदे, गुणधर्म || Rumi Mastagi in Hindi

रूमी मस्तगी की पहचान – फायदे, गुणधर्म || Rumi Mastagi in Hindi

कृप्या पूरी जानकारी पढ़ें रूमी मस्तगी के सभी गुण धर्मों का चिकित्सकीय विवरण प्राप्त होगा |रूमी मस्तगी की परिचय - इसे मस्तगी या मस्तकी आदि नामों से जाना जाता है | अंग्रेजी में Mastic एवं लेटिन ...

READ MORE +

नागकेसर के औषधीय गुण एवं चत्कारिक स्वास्थ्य लाभ

नागकेसर के औषधीय गुण एवं चत्कारिक स्वास्थ्य लाभ

परिचय - इसे नागचम्पा, भुजंगाख्य, हेम, नागपुष्प आदि नामों से भी जाना जाता है | इसका वृक्ष मध्यम आकार का सीधा एवं सुन्दर होता है | पौधे की पतियाँ घनी एवं पतली होती है जिससे इसकी छाँव भी घनी होती है | ...

READ MORE +
Logo
Compare items
  • Total (0)
Compare
0
Open chat
Hello
Can We Help You