ayurveda

सत्यानाशी / स्वर्णक्षीरी / Mexican Prickly Poppy

सत्यानाशी / स्वर्णक्षीरी / Mexican Prickly Poppy

भारत के प्रत्येक राज्य में सत्यानाशी के पौधे देखने को मिल जाते है | ये खाली पड़ी जमीन, जंगल, बंजर भूमि एवं मैदानों में अपने आप ही उग आते है | राजस्थान, पंजाब, हरियाणा में गर्मियों में सत्यानाशी के ...

READ MORE +

नौसादर (ammonium chloride) के उपयोग एवं शोधन की विधि

नौसादर (ammonium chloride) के उपयोग एवं शोधन की विधि

आयुर्वेद में नौसादर का उपयोग सैंकड़ो सालों से होते आया है | लगभग आठवी शताब्दी से यह द्रव्य चिकित्सार्थ प्रचलन में है अर्थात 8वीं शताब्दी से इसे चिकित्सा के लिए आयुर्वेद पद्धति में प्रयोग किया जाता ...

READ MORE +

करंज – Karanj Detail | परिचय, फायदे और औषधीय गुण

करंज – Karanj Detail | परिचय, फायदे और औषधीय गुण

Karanj in Hindi - वैदिक काल से ही करंज का इस्तेमाल आयुर्वेद चिकित्सा एवं धार्मिक कार्यों में किया जाता रहा है | आयुर्वेद में इससे कई औषध योगों एवं करंज के तेल आदि का निर्माण होता है जो कुष्ठ, कृमि, ...

READ MORE +

वमन कर्म क्या है | जानें इसके फायदे एवं करने की विधि

वमन कर्म क्या है | जानें इसके फायदे एवं करने की विधि

updated - 18/06/2020वमन कर्म - आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति का एक भाग है पंचकर्म | इस पंचकर्म चिकित्सा में मुख्यत: पांच कर्म किये जाते है | वमन, विरेचन, नस्य, अनुवासन, निरुह ये पांच कर्म है जिनसे ...

READ MORE +

नागरबेल क्या है ? जानें इसके फायदे एवं स्वास्थ्य लाभ

नागरबेल क्या है ? जानें इसके फायदे एवं स्वास्थ्य लाभ

नागरबेल को नागर बेल का पान, ताम्बुल या बंगला पान आदि नामों से भी जाना जाता है | साधारण भाषा में इसे पान कहते है जिसका प्रयोग हमारे भारत में कत्थे एवं चुने के साथ खाने के लिए किया जाता है |यह ...

READ MORE +

नौसादर विभिन्न रोगों में उपयोगी आयुर्वेदिक औषधि

नौसादर विभिन्न रोगों में उपयोगी आयुर्वेदिक औषधि

नौसादर एक सफ़ेद रंग का दानेदार लवण द्रव्य है | यह करीर और पीलू आदि वृक्षों के कोष्ठों को जलाने पर क्षार के रूप में प्राप्त होता है | इसे ईंटो के भट्टे से प्राप्त राख के क्षार से भी प्राप्त किया जाता ...

READ MORE +

पारद क्या है ? इसके भेद, दोष एवं पारद शोधन की विधि

पारद क्या है ? इसके भेद, दोष एवं पारद शोधन की विधि

पारद खनिज पदार्थों में गिना जाता है | यह अन्य धातु मिश्रित एवं मुक्त दोनों अवस्थाओं में प्राप्त होता है | हमारे पौराणिक शास्त्रों के अनुसार यह दिव्य रसायन है जिससे सब कुच्छ संभव है |image - ...

READ MORE +

कालमेघ (Green Chireta) के आयुर्वेदिक औषधीय गुण एवं फायदे |

कालमेघ (Green Chireta) के आयुर्वेदिक औषधीय गुण  एवं फायदे |

कालमेघ जिसे हम ग्रीन चिरायता या Green Chireta भी कहते है | यह एक पुरातन भारतीय औषधीय पौधा है जिसका इस्तेमाल प्राचीन भारतीय चिकित्सा प्रणालियों में लम्बे समय से होता आया है |इसका वानस्पतिक नाम ...

READ MORE +

दर्द निवारक तेल – घर पर बनायें ! जोड़ों के दर्द, कमर दर्द एवं मांसपेशियों के दर्द से छुटकारा पायें

दर्द निवारक तेल – घर पर बनायें ! जोड़ों के दर्द, कमर दर्द एवं मांसपेशियों के दर्द से छुटकारा पायें

बाज़ार में कई कंपनियों के दर्द निवारक तेल आसानी से उपलब्ध हो जाते है, लेकिन ये कितने कारगर है कोई निश्चित परिणाम उपलब्ध नहीं होते | इन दर्द नाशक तेल का निर्माण करने वाली कंपनियां टीवी विज्ञापनों एवं ...

READ MORE +

अश्वगंधारिष्ट (Ashwagandharishta in Hindi) – घटक द्रव्य, फायदे एवं बनाने की विधि

अश्वगंधारिष्ट (Ashwagandharishta in Hindi) – घटक द्रव्य, फायदे एवं बनाने की विधि

यह आयुर्वेद चिकित्सा की शास्त्रोक्त औषधि है | अश्वगंधारिष्ट एक आयुर्वेदिक टॉनिक है जो तनाव एवं थकान में उपयोगी है | यह शरीर को ताकत प्रदान करती है एवं स्वास्थ्य को बनाये रखने में सहायक है | लम्बी ...

READ MORE +

आज के परिपेक्ष्य में आयुर्वेद की उपयोगिता

आज के परिपेक्ष्य में आयुर्वेद की उपयोगिता

आधुनिकता हर जगह चरम पर पहुँच चुकी है | भारत जैसे देश जहाँ आयुर्वेद का जन्म हुआ, यहाँ भी लोगों ने पश्चिमी संस्कृति से प्रभावित होकर आधुनिकता जैसी समस्या को खड़ा कर लिया है |आज आप जहाँ भी देखें ...

READ MORE +

अतिबला (Abutilon Indicum) – उत्तम बल वर्द्धक आयुर्वेदिक जड़ी – बूटी

अतिबला (Abutilon Indicum) – उत्तम बल वर्द्धक आयुर्वेदिक जड़ी – बूटी

आयुर्वेद चिकित्सा में अतिबला को यौन शक्ति वर्द्धक एवं उत्तम धातु पौष्टिक औषधि माना जाता है | यह आयुर्वेद के वाजीकरण द्रव्यों में अपना एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है | प्राय: सम्पूर्ण भारत में आसानी से ...

READ MORE +
Logo
Compare items
  • Total (0)
Compare
0