अग्निजार / Ambergris – अग्निजार का सामान्य परिचय एवं उपयोग

अम्बर / अग्निजार / Ambergrisपरिचय                                समुद्रेणाग्निनक्रस्य जरायुर् बहिरुज्झितः ।                  ...

Continue reading

मेथी (Methi) – मेथी के फायदे / Methi Ke Fayde

मेथी / Methiपरिचय भारतीय रसोई में मेथी की अपनी एक अलग जगह है | आयुर्वेद और घरेलु चिकित्सा में मेथी के अतुलनीय गुणों के कारण एक व...

Continue reading

अमलतास

अमलतास – अमलतास के गुण एवं फायदे और औषध प्रयोग |

अमलतास (आरग्वध) - Cassia fistula Linn परिचय - पीले व्रण के फूलो से अच्छादित रहने वाला | सड़क किनारे या बाग़ बगीचों में अपनी पीत वृणी...

Continue reading

शहद के फायदे / Health Benefits of Honey in Hindi

शहद के फायदे / Health Benefits of Honey in Hindiभारत में प्राचीन समय से ही शहद का इस्तेमाल  औषध रूप में होता आया है | शहद दुनिय...

Continue reading

बियर योगा – दुनिया में फ़ैल रहा है इसका क्रेज

बियर योग योग के विभिन्न आसनों के बारे में तो आपको पता ही होगा , लेकिन क्या अपने कभी सुना है की बियर पीकर भी योग करते ह...

Continue reading

अतिस – एक चमत्कारिक औषधि | अतिस के फायदे

अतिस - एक चमत्कारिक औषधि  बच्चो के पाचन संस्थान एवं श्वसन संस्थान की यह एक उत्तम औषधि है , जो हिमालय क्षेत्र में पायी जाती है | ...

Continue reading

शरपूंखा (प्लीहा शत्रु ) – सामान्य पारिचय एवं औषध उपयोग

शरपूंखा / Tephrosia purpurea persशरपुन्खा सर्वत्र भारत में पाया जाता है | यह मटर के प्रजाति का पौधा है जो क्षुप रूप में 1 स...

Continue reading

प्रवाल (मूंगा) क्या है ? – प्रवाल पिष्टी के स्वास्थ्य लाभ

प्रवाल (मूंगा) / Corallum Rubrumआयुर्वेद में इसे जान्तव द्रव्यों में स्थान दिया गया है | वस्तुत: प्रवाल एक सामुद्रिक शैल ( चट्ट...

Continue reading

Leech Therapy / जोंक थेरेपी – रक्त विकारो में है अचूक

Leech Therapy - जोंक थेरेपी भारत में प्राचीन समय से ही जोंक थेरेपी से इलाज किया जाता रहा है | प्राचीन समय में रक्त विकारो ...

Continue reading

शिरोधारा एक प्राकृतिक मैडिटेशन – जानें शिरोधारा करने की विधि |

शिरोधारा / Shirodhara updated on - 23/12/2019शिरोधारा मुख्यतया धाराक्रम का एक भाग है, जिसे आयुर्वेद शास्त्रों में शिरोसेक के नाम से ...

Continue reading