यौनशक्ति बढ़ाने के 7 आसान उपाय | 7 Easy method for Increase Men power Naturally

यौनशक्ति बढ़ाने के उपाय: अगर आपकी यौनशक्ति कमजोर है तो यह आपको सहवास का पूरा सुख नहीं लेने देती | अगर आपको लगता है कि आपकी सेक्स पॉवर कम है तो कुछ आसान उपायों से सैक्स पॉवर को बढाया जा सकता है |

चलिए इस लेख के माध्यम से आपको यौनशक्ति बढ़ाने के 7 आसान उपायों के बारे में बताते है | इन प्राकृतिक उपायों के माध्यम से आप अपनी खोई हुई यौनशक्ति फिर से प्राप्त कर सकते है एवं लम्बे समय तक सहवास का आनंद ले सकते है |

इन उपायों को जानने से पहले यौनशक्ति क्या है एवं यह किस प्रकार एक स्वस्थ पुरुष के लिए आवश्यक है ये जान लेते है |

यौनशक्ति क्या है ?

संभोग की क्रिया को पूरा करने के लिए किसी भी महिला एवं पुरुष में यौनशक्ति होना जरुरी है | यह संभोग की क्रिया को पूर्ण करने में अहम् भूमिका निभाती है | अगर आपकी यौन शक्ति कमजोर है तो आप संभोग का पूर्ण आनंद नहीं ले पाएंगे | इसे आप इस प्रकार भी समझ सकते है कि अगर आपकी कामेच्छा कमजोर है तो आप यौन संबंध बनाने में असमर्थ साबित होंगे |

यौन शक्ति पुरुष एवं महिला दोनों के लिए प्रभावी है | अगर शरीर कृष एवं शक्तिहिन् है तो आपकी यौनशक्ति भी अवश्य रूप से कमजोर ही होगी |

यौन शक्ति कम होने के क्या कारण है ?

इसके लिए विभिन्न कारण जिम्मेदार है | यहाँ हम कुछ महत्वपूर्ण कारणों के बारे में आपको अवगत करवा रहें है |

  • मधुमेह या किसी अन्य बीमारी के कारण भी पुरुषों एवं महिलाओं में यौनशक्ति का ह्रास हो जाता है | अधिकतर देखा जाता है कि डायबिटीज से पीड़ित एवं किसी रोग से लम्बे समय तक ग्रसित रहने के कारण यौनशक्ति में कमी आ जाती है
  • बढती उम्र भी इसके लिए जिम्मेदार है | अगर आप बुढ़ापे की तरफ अग्रसर हो रहें है तो निश्चित रूप से आपने सेक्स पॉवर में कमी को महसूस किया होगा | यह स्वाभाविक है जो उम्र बढ़ने के कारण होता है |
  • धातुओं का क्षीण होना भी यौनशक्ति कम होने का एक मुख्य कारण है | अगर आपकी सप्तधातुओं की विकृति है तो शुक्रधातु की कमजोरी अवश्य रूप से होगी जो कमजोर यौनशक्ति के लिए एक कारण बनती है |
  • जननांगो में ठीक ढंग से रक्तप्रवाह नहीं होना भी इसका एक मुख्य कारण माना जा सकता है |
  • जननान्गीय विकृति या चोट भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकते है |
  • स्तम्भनदोष (Erectile Dysfunction) या शीघ्रपतन जैसा रोग भी यौनशक्ति कमजोर होने का मुख्य कारण हो सकता है |
  • अगर आप तनाव अधिक लेते है तो यह भी आपकी यौनशक्ति कम होने का एक कारण हो सकता है |
  • मोटापा भी यौनशक्ति कम होने के लिए एक प्रमुख कारण हो सकता है |
  • रिश्तों में तनाव या पति – पत्नी में कोई मनमुटाव भी इसका कारण बन सकता है |
  • आहार – विहार का संतुलित नहीं होना |
  • व्यायाम या शारीरिक श्रम की कमी के कारण भी यौनशक्ति कमजोर हो सकती है |

एक मजबूत यौनशक्ति क्यों आवश्यक है ?

सांसारिक जीवन में सुखमय तरीके से जीवन बिताने के लिए या यूँ कहे की शादी-शुदा जोड़ों को सुखी वैवाहिक जीवन यापन करने के लिए पति – पत्नी दोनों में ही एक मजबूत यौनशक्ति की आवश्यकता है |

  1. सुखी वैवाहिक जीवन यापन के लिए मजबूत यौनशक्ति होना अत्यंत आवश्यक है |
  2. संतानोत्पति के लिए भी यह आवश्यक है |
  3. सहवास एक प्रकार का स्ट्रेस रिमोवर है अत: आनंदमई सहवास के लिए भी एक मजबूत यौन शक्ति होना अत्यंत आवश्यक है |
  4. यौनशक्ति सिर्फ सहवास से जोड़कर ही नहीं देखी जा सकती, यह आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है |

यौनशक्ति बढ़ाने के आसान 7 उपाय | Easy method for Increase Men power Naturally

यौनशक्ति बढ़ाने के लिए उपाय में आप इन निम्न प्राकृतिक तरीकों को अपना सकते है | यौनशक्ति बढ़ाने के लिए ये प्राकृतिक तरीके नुकसान रहित है । इन उपायों को अपनाकर आप आसानी से अपनी यौन शक्ति बढ़ा सकते हैं वैसे आयुर्वेद में योन शक्ति बढ़ाने के लिए विभिन्न वाजीकरण वस्तुओं का प्रयोग भी किया जाता है |

यहां हम आपको यौन शक्ति बढ़ाने के लिए उपाय जो प्राकृतिक हैं एवं विश्वसनीय है के बारे में जानकारी देंगे –

#1 अश्वगंधा से बढ़ाएं यौनशक्ति

अश्वगंधा से आप सभी परिचित है | यह बहुउपयोगी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है | सेक्सुअल पॉवर बढ़ाने, दिमाग को शांत करने, बुखार एवं तनाव से लड़ने के लिए यह आयुर्वेद में उपयोग होती है | अश्वगंधा चूर्ण को नित्य रात्रि में दूध के साथ उपयोग करने से प्राकृतिक रूप से यौनशक्ति बढती है |

अश्वगंधा
अश्वगंधा

अगर आप यौनशक्ति की कमी से झुझ रहें है तो यह घरेलु उपाय आपके लिए लाभदायक हो सकता है | अश्वगंधा चूर्ण को शहद के साथ लेने से परिणाम अच्छे मिलते है | यह तनाव को दूर करता है एवं सप्तधातुओं का पौषण करके व्यक्ति को संभोग में सम्पूर्ण बनाता है |

यह औषधीय जड़ी-बूटी उष्ण प्रकृति की होती है | इसका प्रयोग पित्तज प्रकृति के लोगों को वैद्य सलाह से ही करना चाहिए | यहाँ हमने एक सूचि बनाई है जिसके माध्यम से आप समझ सकते है कि इसे कौन प्रयोग में ले सकता है एवं कौन नहीं

अश्वगंधा का उपयोग किसे करना चाहिए

  • वात एवं कफज प्रकृति के लोग इसका उपयोग बेझिझक कर सकते है |
  • यह कफज विकार एवं वातज विकार का शमन करती है |
  • जिन्हें अपनी सम्भोगीय शक्ति को बढ़ाना हो वे इसका प्रयोग कर सकते है |
  • तनाव से ग्रषित व्यक्ति भी इसका प्रयोग कर सकते है |
  • यौनशक्ति बढ़ाने के उद्देश्य से भी इसका इस्तेमाल किया जाता है |
  • शरीर में पौरुषशक्ति की वृद्धि के लिए उपयोगी है |
  • वे लोग जो जिम या व्यायाम करते है एवं उनकी शारीरिक प्रकृति वातज या कफज है वे उपयोग कर सकते है |

किसे उपयोग में नहीं लेना चाहिए

  • जो पित्तज प्रकृति के व्यक्ति है वे इसका उपयोग सावधानी पूर्वक ही करें |
  • क्योंकि अश्वगंधा उष्ण तासीर की जड़ी-बूटी है | अत: सेवन करने से पित्त को बढाती है |
  • जिनके शरीर में पहले से ही उष्णता अधिक है, उन्हें इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए |
  • जिन्हें रक्तस्राव नकसीर या पाइल्स आदि की समस्या हो वे भी इसका प्रयोग वैद्य सलाह से करें |
  • यौनशक्ति बढ़ाने के उपाय के रूप में प्रयोग से पहले अपनी प्रकृति का विवेचन वैद्य से करवा लेना चाहिए एवं इसके पश्चात ही उपयोग में लेना चाहिए |

#2 तालमखाना है सेक्सपॉवर बूस्टर जड़ी – बूटी

तालमखाना एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है जो यौनशक्ति बढ़ाने में लाभदायक है | इसे कोकिलाक्ष के नाम से भी पहचाना जाता है | यह एक औषधीय पौधा है जो तालाब के किनारे की गीली मिटटी में उगता है | इसके पतले – पतले बीजों का उपयोग यौनशक्ति की कमी को दूर करने के लिए आयुर्वेद में किया जाता है |

तालमखाना
तालमखाना

यह स्वाद में मीठा एवं शीतल प्रकृति का होता है | यह शरीर में पित्तज विकार का शमन करता है | तालमखाना चूर्ण का सेवन नित्य दूध या शहद के साथ करने से प्राकृतिक रूप से यौनशक्ति बढती है |

अक्सर तनाव एवं अन्य कारणों से यौनशक्ति कमजोर हो जाती है एवं पुरुष संभोग में सक्षम नहीं हो पाते एसे में तालमखाना जड़ी-बूटी के चूर्ण को 2 से 3 ग्राम की मात्रा में लेकर ऊपर से गरम दूध का सेवन करने से यौनशक्ति बढ़ाने के उपाय हो जाते है |

चलिए जानते है इसे कौन उपयोग कर सकता है एवं कौन नहीं

तालमखाना चूर्ण का उपयोग किसे करना चाहिए ?

  • जिनकी सहवास की शक्ति क्षीण है एवं अपनी यौन शक्ति बढ़ाना चाहते है वे इसका उपयोग कर सकते है |
  • वीर्यवृद्धक एवं बलकारक औषधि के रूप में तालमखाना चूर्ण का उपयोग किया जा सकता है |
  • जो व्यक्ति उष्णता के कारण अन्य गरम औषधियों का उपयोग नहीं कर सकता, वह इस चूर्ण का प्रयोग बेझिझक कर सकता है |
  • इसकी तासीर ठंडी होती है, लेकिन फिर भी श्वास एवं अस्थमा रोग में प्रयोग होती है |
  • पित्त प्रकृति के व्यक्ति इस जड़ी- बूटी का प्रयोग यौनशक्ति बढ़ाने के उपाय के रूप में प्रयोग कर सकते है |
  • शारीरिक रूप से क्षीण व्यक्ति इसका प्रयोग कर सकते है |

किसे उपयोग नहीं करना चाहिए ?

  • जिन्हें बार – बार पेशाब जाने की समस्या है वे इसका उपयोग न करें |
  • यह मूत्रल औषधि है अत: बार – बार पेशाब की समस्या वाले व्यक्तियों के लिए लाभदायक नहीं है |
  • मोटापे से परेशान व्यक्ति भी यौनशक्ति के लिए किसी अन्य उपाय का ही प्रयोग करें |
  • क्योंकि तालमखाना चर्बी बढ़ाने वाली जड़ी-बूटी है अत: यह आपके लिए लाभदायक नहीं होगी |
  • कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित रोगी भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए |

#3 एवाकाडो सुपर फ़ूड से बढ़ाये यौनशक्ति

एवाकाडो एक सुपरफ़ूड है | इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन ‘ऐ’, विटामिन ‘बी6’ एवं मंग्नेशियम और पोटेशियम है जो शरीर में रक्तसंचार को बढ़ाने का कार्य करते है | इसीलिए यह भरपूर तनाव लाता है एवं सेक्स पॉवर को बढाता है | महिला एवं पुरुष दोनों इस आयुर्वेदिक आहार का प्रयोग कर सकते है |

एवाकाडो

कौन उपयोग कर सकता है ?

  • जिनकी कामेच्छा कम हो वह इसका उपयोग कर सकते है |
  • स्टैमिना बढ़ाने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है |
  • शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति इसका सेवन शक्ति बढ़ाने के लिए कर सकते है |
  • जिन्हें न्यूट्रीशन का सेवन करना वे इस सुपर फ़ूड का प्रयोग कर सकते है |
  • इसके कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है |
  • मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति भी यौनशक्ति बढ़ाने के लिए इसका उपयोग कर सकते है |

किन्हें एवाकाडो का प्रयोग नहीं करना चाहिए !

  • माईग्रेन से ग्रषित व्यक्ति इसका सेवन न करें |
  • जिन्हें बार – बार उल्टी आदि की समस्या होती हो वे भी एवाकाडो का सेवन ना करें |
  • मोटापे से ग्रषित व्यक्ति एवाकाडो के अधिक सेवन से बचना चाहिए |

#4 छोटा गोखरू है यौनशक्ति बढ़ाने का आसान उपाय

गोखरू एक विश्वसनीय यौनशक्ति वर्द्धक जड़ी-बूटी है | शर्दियों में इसके लड्डू बना कर नियमित खाने से खोई हुई सेक्स पॉवर लौट आती है | यह सुरक्षित हर्ब है जो किसी भी पंसारी के पास आसानी से उपलब्ध हो जाती है | आयुर्वेद में इसे मूत्रल रोगों की उत्तम दवा माना जाता है |

गोखरू

अगर आप यौनशक्ति की कमी से झुझ रहें है तो वर्ष में एक बार घर पर बनाये जाने वाले लड्डुओं में गोखरू चूर्ण मिलाकर तैयार करवाएं एवं प्राकृतिक रूप से यौनशक्ति को बढ़ाये |

पुरुषों में होने वाले वीर्य विकारों में गोखरू के 20 ग्राम फल को दूध में उबाल कर छान कर दूध का सेवन करने से वीर्य विकार दूर होते है एवं पुरुष संभोग में सक्षम बनता है |

कौन एवं कैसे उपयोग में लिया जा सकता है ?

  • इसका सेवन सभी प्रकृति के व्यक्ति कर सकते है | यह त्रिदोष शामक औषधि है |
  • तासीर में शीतल होने के कारण पित्त का भी शमन करती है |
  • शारीरिक बल बढ़ाने के लिए इस औषधीय जड़ी-बूटी का प्रयोग किया जा सकता है |
  • मूत्रल विकारो में गोखरू लाभदायक है |
  • यौनशक्ति बढ़ाने के लिए गोखरू एवं शतावरी का चूर्ण दूध में उबाल कर दूध का सेवन करने से अच्छा लाभ मिलता है |

किन्हें गोखरू का उपयोग नहीं करना चाहिए

  • जो अधिक टेस्टोस्टेरोन की समस्या से पीड़ित है उन्हें गोखरू का प्रयोग नहीं करना चाहिए |
  • यह औषधि महिलाओं के लिए यौनशक्ति वर्द्धक के रूप में उपयोगी नहीं है अत: महिलाएं भी इसका सेवन वैद्य सलाह से ही अन्य रोगों के लिए कर सकती है |

#5 छुहारे वाला दूध बढ़ाये यौनशक्ति

छुहारा यौनशक्ति बढ़ाने के लिए एक अच्छा विकल्प है | यह नुकसान रहित खाद्य आहार है जो विभिन्न तरह से फायदेमंद है | यौनशक्ति का संचार शरीर में करने के लिए 250 ग्राम दूध में छुहारे, बादाम, काजू एवं किशमिश डालकर अच्छी तरह उबालें |

छुहारा

इस दूध को छानकर नित्य रात्रि में उपयोग में लेने से प्राकृतिक रूप से यौनशक्ति बढती है |

छुहारे वाले दूध के फायदे

छुहारे हर किसी व्यक्ति के लिए लाभदायक है | इसे दूध में ओउटा कर दूध का सेवन करने एवं छुहारे को खाने से शरीर में बहुत से लाभ प्राप्त होते है | यह एंटीइन्फलामेटरी एवं एंटी ओक्सिडेंट गुणों से युक्त होने के कारण सुजन को दूर करने में फायदेमंद है |

मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति भी छुहारा खा सकते है अत: इसे खाने में कोई परहेज नहीं है | हालाँकि डायबिटीज से पीड़ित व्यक्तियों के लिए इसे एक सिमित मात्रा में ही खाना चाहिए |

#6 सफ़ेद मुसली से बढती है पुरुषों में यौनशक्ति

सफ़ेद मुसली से सभी परिचित है | यह बल एवं वीर्य बढ़ाने वाली एक अद्भुत औषधि है | आयुर्वेद में सभी बलकारक योगों में अधिकतर इसका उपयोग देखा जाता है | लम्बे समय तक सेवन की जा सकने वाली आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है | यौनशक्ति बढ़ाने के लिए सफ़ेद मुसली के चूर्ण को नित्य रात्रि एवं सुबह में गुनगुने दूध के साथ सेवन करना चाहिए |

यौनशक्ति बढ़ाने के उपाय
सफ़ेद मुसली

यह धातुओं को पुष्ट करके रोगी के शरीर में बल वर्द्धन एवं पुरुषों में कामेच्छा के साथ शुक्र की वृद्धि करने में सक्षम औषधि है |

किसे उपयोग करना चाहिए सफ़ेद मुसली

  • जिन्हें शुक्र की कमी या यौनशक्ति की कमी जैसी समस्या हो वे इसका प्रयोग कर सकते है |
  • यह उष्ण वीर्य है लेकिन फिर भी पित्त की वृद्धि नहीं करती |
  • पुरुषों में शुक्र को गाढ़ा करने में भी यह जड़ी-बूटी अत्यंत लाभदायक है |
  • जिनका शरीर क्षीण एवं कमजोर है वे इसका सेवन नित्य सुबह – शाम महीने भर तक कर सकते है |

किन्हें उपयोग नहीं करना चाहिए ?

  • कब्ज से पीड़ित रहने वालों को वैद्य सलाह से ही इसका उपयोग करना चाहिए |
  • अगर आपको एसिडिटी की समस्या है तो इसका सेवन वैद्य सलाह से कम मात्रा में ही करें |
  • अगर आपको भूख कम लगती है तो सफ़ेद मुसली का सेवन वैद्य की सलाह से ही करें |
  • अगर आपको कफ अधिक मात्रा में बनता है तो यौनशक्ति बढ़ाने के लिए आप अन्य उपायों को अपनाएं | क्योंकि सफ़ेद मुसली के सेवन से शरीर में कफ की वृद्धि होती है |

#7 अकरकरा

अकरकरा अरब मूल की जड़ी-बूटी है | यह उत्तम बलवर्द्धक एवं यौनशक्ति वर्द्धक जड़ी-बूटी है | अगर आप यौन शक्ति की कमी या कामेच्छा की कमी से झुझ रहें है तो अकरकरा के साथ अश्वगंधा, सफ़ेद मुसली एवं तालमखाना बराबर मात्रा में मिलाकर नित्य 15 दिन तक सेवन करने से आपकी खोई हुई यौनशक्ति लौट आती है |

अकरकरा
अकरकरा

यह बल्य जड़ी बूटी है | लेकिन प्रयोग से पहले आयुर्वेदिक वैद्य की सलाह ले लेनी चाहिए |

कौन अकरकरा का प्रयोग कर सकते है ?

  • अगर आपकी प्रकृति कफज है तो आप इस औषधीय जड़ी बूटी का प्रयोग यौन शक्ति बढ़ाने के लिए कर सकते है |
  • यह गरम तासीर एवं रक्तप्रवाह बढ़ाने वाला द्रव्य है अत: तनाव की कमी से पीड़ित एवं यौनशक्ति या कामेच्छा की कमी से ग्रषित व्यक्ति इसका सेवन कर सकते है |
  • बलकारक होने के कारण जिनके शरीर में बल की कमी है वे इसका सेवन कर सकते है |
  • काम्मोदिपक गुणों से युक्त होने के कारण सभी यौन कमजोरियों में उपयोगी है |

किन्हें अकरकरा का प्रयोग नहीं करना चाहिए ?

  • गरम तासीर की जड़ी बूटी है अत: पित्त की वृद्धि करती है |
  • अत: वे जिन्हें पित्त बनने की समस्या रहती वे इसका प्रयोग ना करें |
  • यह हृदय उत्तेजक है अत: हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित इसका सेवन न करें |
  • गर्भवती महिलाओं के लिए भी यह जड़ी-बूटी नुकसान दायक है |

यौनशक्ति बढ़ाने के लिए कुछ आसान टिप्स | Some Easy tricks to increase Sex time naturally without any medicine

यहाँ ऊपर हमने यौनशक्ति बढ़ाने के उपाय में कुछ घरेलु एवं उपयोगी जड़ी बूटियों के बारे में आपको बताया है | इनके अलावा भी आप कुछ बातों का ध्यान रख कर भी सहवास में समय एवं जोश को बढ़ा सकते है |

» मष्तिष्क को तनाव मुक्त रखें एवं घबराहट को नजदीक न आनें दे | यह आसान सा टिप्स आपका सहवास में समय बढ़ाएगा |

» यौनशक्ति बढ़ाने के लिए एवं सहवास में समय बढ़ाने के लिए फोरप्ले में थोडा समय व्यतीत करें |

» संभोग में जल्दबाजी न करें | हड़बड़ी करना सहवास की शक्ति को क्षीण करने का एक प्रमुख कारण है |

» पार्टनर के साथ अच्छे संबंध रखें | यौनशक्ति बढ़ाने अर्थात संभोग में पूर्णता लाने के लिए अपने साथी के साथ मनमुटाव जैसी परिस्थितियों से बचे |

» व्यायाम एवं योग के द्वारा हमेंशा एक्टिव और स्वस्थ रहें | सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के लिए आपका एक्टिव रहना भी आवश्यक है |

» नित्य सुबह मैडिटेशन करें | यह आपकी एकाग्रता बढ़ाएगा एवं आप सहवास में अच्छा परफॉर्म करेंगे | महिला एवं पुरुष दोनों के लिए मैडिटेशन लाभदायक है | सुबह 10 मिनट का अभ्यास आपको जीवन हर पहलु में काम आयेगा |

» प्रत्येक वर्ष आयुर्वेद में आने वाली कुछ वाजीकरण औषधियों का प्रयोग वैद्य सलाह से करें | यह आपको वर्ष भर यौनशक्ति की कमी नहीं होने देती |

धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *