दस्त रोकने की आयुर्वेदिक टेबलेट का नाम, मूल्य, निर्माता आदि की जानकारी | loose motion tablet name in hindi

दस्त की टेबलेट का नाम उस समय बहुत जरुरी हो जाता है जब आपको अचानक से दस्त शुरू हो जाएँ | ऐसे में अगर आप किसी ऐसी जगह पर हों जहाँ पर शौचालय की व्यवस्था ना हो तो यह बहुत मुसीबत वाली बात हो जाती है | दस्त की दवा और टेबलेट ऐसे समय में बहुत जरुरी है |

मल बंध कर नहीं आना या बहुत पतला पानी के जैसा और चिकना होना दस्त लगना कहलाता है | Loose motion (tablet name in hindi) एक सामान्य उदर विकार है | यह छोटे शिशुओं से लेकर बड़े बुजुर्गो तक सबको होने वाली प्रॉब्लम है | इस रोग से पीड़ित व्यक्ति को बार बार दस्त आते हैं | अपनी प्रकृति के विरुद्ध भोजन करने एवं असंतुलित खान पान से दस्त लगने जैसे समस्या होती है | गर्मी की वजह से भी दस्त हो जाते हैं |

दस्त की टेबलेट के नाम बताएं | loose motion tablet name in hindi

दस्त लगना एक आम समस्या है | लेकिन अगर अधिक समय तक दस्त लगे तो शरीर में बहुत कमजोरी आ जाती है | बहुत ज्यादा दस्त होना जानलेवा भी हो सकता है | और किसी अवांछित समय पर दस्त लग जाये तो यह बहुत शर्मिंदगी वाला भी हो जाता है | ऐसे समय में आपको दस्त की टेबलेट या दवा का नाम पता नहीं हो तो आपको doctor के पास जाना पड़ेगा और इसमें बहुत समय लगेगा |

दस्त की टेबलेट नाम
दस्त की टेबलेट नाम

वहीँ अगर आपको दस्त की टेबलेट नाम पता हो तो आप सीधा मेडिकल स्टोर पर जाके दवा ले लेंगे और आपके दस्त रुक जायेंगे | इसी को ध्यान में रख कर यहाँ पर हम आपको loose motion tablet name in hindi (दस्त) रोकने वाली टेबलेट्स के नाम बता रहें हैं |

लूस मोशन टेबलेट नाम (दस्त की टेबलेट नाम) :-

loose motion को रोकने के लिए बाजार में बहुत सी दवाएं आती हैं | उनमें से कुछ विश्वसनीय टेबलेट के नाम ये हैं :-

  • डायरेक्स टेबलेट (Himalaya company)
  • दीपन टेबलेट
  • ओजस टेबलेट (charak pharma)
  • एंटी डिसेंट्रोल टेबलेट (Unjha)
  • अमेबिका (बैद्यनाथ)
  • ग्रहणी कपाट वटी (बैद्यनाथ)
  • डाईरोल टेबलेट
  • अतिसरान्तक कैप्सूल
  • डायोनिल कैप्सूल
  • पुदिनहरा वटी

उल्टी-दस्त की टेबलेट का उपयोग कैसे किया जाता है ?

उल्टी दस्त होना गर्मियों में आम बात है | लू लगने, पेट की गर्मी या कुछ मसालेदार गर्म खाना इन दिनों खाने से उल्टी दस्त बहुत जल्दी हो जाते हैं | ऐसे में उल्टी-दस्त की टेबलेट की बहुत अधिक जरूरत होती है | उल्टी हो या दस्त अगर जल्दी नहीं रुके तो बहुत हानिकारक होता है | इससे बहुत कमजोरी आ जाती है | इसलिए यह समस्या होती ही दवा लेके उचित खान पान करना चाहिए जिससे कमजोरी न हो |

पेट में मरोड़ और दस्त की टेबलेट एक ही होती है या अलग अलग आती है ?

पेट में मरोड़ उठना मतलब या तो आप को दस्त या अतिसार की समस्या हो सकती है या फिर अपच के कारण ऐसा हो सकता है | मरोड़ उठने पर पाचक औषधियों का सेवन करना ज्यादा सही रहता है | दस्त रोकने की टेबलेट का उपयोग मरोड़ उठने की समस्या में भी काम आता है | लेकिन यह तभी काम आती हैं जब मरोड़ उठने के साथ साथ दस्त भी हो रहें हों |

बच्चों के दस्त की दवा tablet में किन दवाओं का प्रयोग करना चाहिए |

बच्चों का शरीर बहुत संवेदनशील और नाजुक होता है इसलिए बच्चों को उल्टी दस्त होने पर दवा देते समय बहुत सावधानी रखनी चाहिए | जो दवा बड़ो के लिए उपयोग में ली जाती हैं उनमें से कुछ टेबलेट्स बच्चों के लिए भी उपयोग में ली जा सकती हैं | लेकिन इनकी dose बच्चों को बहुत कम देनी होती है |

बच्चों के दस्त रोकने की टेबलेट के नाम :-

  • दीपन टेबलेट
  • ओजस टेबलेट
  • बाल वटी
  • दुग्ध वटी
  • दाड़ीमपाक वटी (टेबलेट)
  • तक्र टेबलेट
  • चित्रकादि वटी
  • कुटजघन वटी

दस्त लगने पर टेबलेट लेते समय सावधानियां (Precautions)

उल्टी दस्त ऐसे तो आम समस्या लगती है | लेकिन सही तरह से देखभाल नहीं करने पर यह रोग बिगड़ भी सकता है और जानलेवा भी हो सकता है | इसलिए loose motion होने पर बहुत सावधानी के साथ दवा और खान पान करना चाहिए | इस समस्या में निचे बताई गयी बातों का जरुर ध्यान रखें :-

ये कभी नहीं करें (Don’ts) :-

  • दस्त लगने पर अचानक से दस्त रोकने की दवा नहीं लेनी चाहिए |
  • इस समय खाना नहीं खाना चाहिए |
  • देर से पचने वाला भोजन नहीं करना चाहिए |
  • गर्म चीजें नहीं खानी चाहिए |
  • परिश्रम वाला काम नहीं करना चाहिए |
  • शराब आदि का सेवन नहीं करना चाहिए |

ये जरुर करें (Do’s) :-

  • पानी पीते रहें |
  • ORS या निम्बू पानी में नमक मिलाकर पियें |
  • खिचड़ी या दलिया खाएं |
  • दस्त रोकने वाली टेबलेट की बजाय पाचन सही करने वाली दवा का उपयोग करें |
  • ठंडी चीजों का सेवन करें |
  • आराम करें |

ध्यान रखें यह लेख दस्त लगने पर रोकने वाली टेबलेट के बारे में जानकारी देने के लिए है | किसी भी दवा का प्रयोग करने से पहले आपको चिकित्सक की सलाह जरुर लेनी चाहिए |

धन्यवाद ||

Leave a Reply

Your email address will not be published.