शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि आयुर्वेद से कीजिये

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि: शीघ्र स्खलन पुरुषों में होने वाली एक आम समस्या है | इस समस्या में पुरुष अपनी महिला साथी को सहवास में पूर्ण समय नहीं दे पाते है, वे चरमस्तर पर पहुँचने से पहले ही स्खलित हो जाते है | इस लिए इसे शीघ्र स्खलन (Shighrapatan) बोला जाता है |

आयुर्वेद में शीघ्रपतन के लिए विभिन्न अचूक उपाय एवं दवाएं है | शीघ्र स्खलन का इलाज अगर पतंजलि, बैद्यनाथ या अन्य क्लासिकल दवाओं से किया जाये तो यह काफी उपयोगी साबित होता है | इसके लिए आपको अपने नजदीकी पतंजलि चिकित्सालय या किसी सरकारी आयुर्वेद अस्पताल में उपस्थित वैद्य से मिलना चाहिए |

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज घरेलु एवं आयुर्वेद के माध्यम से बड़ी आसानी से किया जाता है | इन सभी उपायों एवं दवा आदि के बारे में हम आपको आगे इसी लेख में जानकारी देंगे | अभी सबसे पहले शीघ्र स्खलन के कारण एवं लक्षण आदि के बारे में जान लेते है |

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि

शीघ्र स्खलन के लक्षण क्या है ?

यहाँ हमने शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के संभावित लक्षणों को बताया है | आप इन लक्षणों के आधार पर शीघ्रपतन की परवर्ती को समझ सकते है | निम्न सभी लक्षण शीघ्रपतन से पीड़ित रोगियों में दिखाई पड़ते है |

  • अल्प समय में ही वीर्य स्खलन होना शीघ्र स्खलन या शीघ्रपतन का प्रमुख लक्षण है |
  • संभोग करने के 60 से लेकर 90 सेकंड के अन्दर ही वीर्य निकल जाता है |
  • वीर्य में पतलापन बना रहता है |
  • तनाव में भी कमी देखने को मिलती है |
  • संभोग से पहले भी स्ख्लनीय परवर्ती का आभास होता है |

जानिए शीघ्र स्खलन होने के कारण

शीघ्र स्खलन के लिए विभिन्न कारक जिम्मेदार होते है | यह मानसिक एवं शारीरिक दोनों प्रकार के कारण से हो सकता है | यहाँ हमने इसके सभी संभावित कारणों का वर्णन किया है |

  • तनाव एवं मानसिक विकार शीघ्र स्खलन का कारण बन सकते है |
  • यौन हारमोन्स का असंतुलन |
  • अधिक एंटीबायोटिक एवं ब्लड प्रेशर की दवाओं का इस्तेमाल |
  • अधिक शराब एवं नशीली वस्तुओं का इस्तेमाल शीघ्र स्खलन का कारण बनते है |
  • अनुवांशिक कारण |
  • प्रोस्टेट ग्रंथि में सुजन या इन्फेक्शन होना |
  • मस्तिष्कीय चोट आदि लगना |
  • फ़ास्ट एवं जंक फ़ूड का अधिक सेवन करना |
  • अधिक गरम एवं वीर्य को पतला करने वाले आहार का सेवन |
  • पति – पत्नि के रिश्तों में आई किसी समस्या के कारण |
  • स्खलन के बारे में बार – बार विचार या अधिक कामुक विचारों के बारे में सोचने से |
  • यौन क्रीडा के शुरुआत में अधिक उतावलापन शीघ्र स्खलन का कारण बन सकता है |

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज है ये कुछ आयुर्वेदिक उपचार

यहाँ हम आपको शीघ्र स्खलन को ठीक करने के लिए विश्वसनीय आयुर्वेदिक उपचारों के बारे में बता रहें है | ये सभी उपचार पूर्णत: आयुर्वेदिक है | इनका उपयोग वैद्य सलाह से शीघ्रपतन को ठीक करने के लिए किया जा सकता है | इन्हें आप घरेलु नुस्खे या आयुर्वेदिक उपचार के रूप में देख सकते है |

ये सभी उपचार घर पर आसानी से तैयार किये जा सकते है एवं वैद्य सलाह से सेवन किये जा सकते है | पहले हम यहाँ पर कुछ प्रमाणिक आयुर्वेदिक योग के बारे में बताएँगे एवं साथ ही आयुर्वेद चिकित्सा की कुछ प्रमाणिक दवाओं के बारे में भी बताएँगे जो शीघ्र स्खलन को ठीक करने के लिए उपयोग की जाती है |

तो चलिए सबसे पहले जानते है कुछ घरेलु रूप से तैयार किये जाने वाले आयुर्वेदिक उपचार के बारे में

1. कामदेव चूर्ण है शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज: यह चूर्ण आसानी से घर पर तैयार किया जा सकता है एवं शीघ्रपतन एवं यौन कमजोरियों में बेहतरीन कार्य करता है | धातु दुर्बलता, वीर्य का पतलापन एवं शरीर का पोषण करके मजबूती प्रदान करता है | यह आयुर्वेदिक उपचार वीर्य को गाढ़ा करता है जिससे सहवास में वीर्य का अकस्मात निकलना रुकता है |

इसके निर्माण के लिए निम्न जड़ी – बूटियों की आवश्यकता होती है |

  • शुद्ध कौंच बीज चूर्ण – 12 ग्राम
  • सफ़ेद मुसली – 24 ग्राम
  • मखाने की ठुड्डी – 48 ग्राम
  • तालमखाना – 48 ग्राम
  • मिश्री – 60 ग्राम

इन सभी जड़ी – बूटियों का चूर्ण ऊपर बताई गई मात्रा में लेकर मिलाकर तैयार करलें | यह कामदेव चूर्ण कहलाता है | यह आयुर्वेद का शास्त्रोक्त चूर्ण है जिसका प्रयोग वैद्य सलाह से शीघ्र स्खलन की समस्या में किया जा सकता है |

2. सेमलकंद का योग: सेमलकंद सेमल पेड़ की जड़ को कहा जाता है | यह पंसारी के पास भी आसानी से उपलब्ध हो जाती है | इस योग का निर्माण करने के लिए सेमल की जड़ पंसारी से खरीद लें | इस जड़ का चूर्ण करके इसमें दुगनी मात्रा में मिश्री मिला लीजिये | इस प्रकार से आपका सेमलकंद का शीघ्र स्खलन को रोकने वाला योग तैयार है | इस चूर्ण को नित्य रात्रि में गुनगुने दूध के साथ 5 ग्राम की मात्रा में वैद्य सलाह से लिया जा सकता है |

  • सेमल कंद का चूर्ण – 50 ग्राम
  • मिश्री – 100 ग्राम

3. गोरखमुंडी का चूर्ण शीघ्रस्खलन में कारगर: अगर आपको शीघ्रपतन का बहुत ही आसान उपाय चाहिए तो गोरखमुंडी का चूर्ण उसके लिए उपयुक्त है | गोरखमुंडी के चूर्ण को गाय के मट्ठे के साथ नित्य 15 दिन तक सेवन करने से शीघ्र स्खलन की समस्या दूर हो जाती है | यह सहवास में समय बढ़ाने का सबसे सस्ता एवं रामबाण उपाय है | इस योग का उपयोग वैद्य सलाह से करना चाहिए |

4. इमली के बीजों का योग है शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि: इमली के बीजों के ऊपर का सख्त खोल उतर कर इसके अन्दर की गिरी निकाल लें | इस गिरी को पत्थर पर पीसकर इसे घी में भुन लीजिये | अब तैयार चूर्ण में बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर नित्य रात्रि में 6 – 6 ग्राम की मात्रा में दूध के साथ सेवन कीजिये | यह योग शीघ्र स्खलन को जल्द दूर करने वाला एवं वीर्य को गाढ़ा बनाकर संभोग में ज्यादा समाया प्रदान करने वाला योग है |

5. गोखरू एवं विदारीकन्द का योग: बड़े गोखरू, विदारीकन्द एवं तालमखाना इन तीनों जड़ी – बूटियों को लेकर इनका चूर्ण बना लें | इन सभी को समान मात्रा में लेना है | अब इन्हें मिलाकर इस योग को तैयार करलें | यह रामबाण इलाज भी शीघ्र स्खलन में बेहतरीन कार्य करता है |

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि की इन दवाओं से किया जा सकता है

निचे हमने पतंजलि फार्मेसी द्वारा निर्मित की जाने वाली यौन दुर्बलताओं में उपयोग दवाओ के बारे में बताएँगे | इन दवाओं का उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सक की दिशा निर्देशों में करना चाहिए | यहाँ हमने प्रमुख 5 पतंजलि सेक्स पॉवर बढ़ाने की दवा ओं के बारे में बताया है |

इन दवाओं के अलावा भी आयुर्वेद की क्लासिकल एवं अन्य पेटेंट औषधियाँ है जो शीघ्रपतन को ठीक करने में पतंजलि द्वारा निर्मित दवाओं से भी बेहतरीन कार्य करती है | इनकी सूचि भी इन 5 दवाओं के पश्चात हमने उपलब्ध करवाई है | ये सभी दवाएं वैद्य सलाह अनुसार ही सेवन की जानी चाहिए |

  1. पतंजलि यौवनामृत वटी: यह पतंजलि द्वारा बनाई जाने वाली आयुर्वेदिक दवा है | इसमें अकरकरा, अश्वगंधा, शतावरी, शिलाजीत, स्वर्ण भस्म एवं वंग भस्म जैसी जड़ी – बूटियां है | यह शीघ्र स्खलन में लाभदायक साबित हो सकती है | अगर वैद्य सलाह से इस औषधि का सेवन किया जाये तो यह अधिक लाभ देती है |
  2. पतंजलि यौवन गोल्ड कैप्सूल: शीघ्र स्खलन के रामबाण इलाज के लिए पतंजलि का यौवन गोल्ड कैप्सूल भी लाभदायक साबित हो सकता है | पतंजलि द्वारा यौवन गोल्ड कैप्सूल को भी शीघ्रपतन के लिए लाभकारी बताया गया है | शीघ्र स्खलन के उपचार के लिए इसका प्रयोग वैद्य सलाह से किया जा सकता है |
  3. पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल: अश्वगंधा एक्सट्रेक्ट से निर्मित ये कैप्सूल पुरुषों के यौन स्वास्थ्य को सुधारने का कार्य करते है | ये उत्तम टेस्टरोन वर्द्धक शरीर को बल देने वाले एवं शारीरिक रोग प्रतिरोधक क्षमता का वर्द्धन करने वाले है |
  4. पतंजलि अश्वाशिला कैप्सूल: ये कैप्सूल अश्वगंधा एवं शिलाजीत के एक्सट्रेक्ट से बनते है | इनका भी मुख्य कार्य पुरुषों में आई यौन कमजोरियों को दूर करने का होता है | premature ejaculation की समस्या में इनका प्रयोग वैद्य सलाह से किया जा सकता है |
  5. पतंजलि सफ़ेद मुसली चूर्ण: सफ़ेद मुसली को उत्तम वीर्य वृद्धक जड़ी – बूटी माना जाता है | यह चूर्ण सफ़ेद मुसली की जड़ों से निर्मित होता है | सफ़ेद मुसली को शारीरिक क्षमता वृद्धक, बल एवं वीर्य वृद्धक माना जाता है | इसका प्रयोग शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए किया जा सकता है |

सामान्य सवाल – जवाब

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज क्या है ?

इस रोग का उपचार आयुर्वेद के माध्यम से पूर्णत: किया जा सकता है | इस लेख में हमने इसके रामबाण इलाज एवं पतंजलि दवाओं के बारे में विस्तार से बताया है |

क्या इसका इलाज घर पर किया जा सकता है ?

जी, हाँ आप कुछ सामान्य घरेलु उपचार को घर पर कर सकते है | अन्य इलाज आयुर्वेद चिकित्सक की देख रेख में ले सकते है |

क्या शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि द्वारा किया जाता है ?

जी, हाँ पतंजलि चिकित्सालय में सभी रोगों का उपचार (treatment) किया जाता है |

क्या पतंजलि द्वारा कोई दवा इसके इलाज के लिए उपलब्ध है ?

जी हाँ, पतंजलि द्वारा शीघ्र स्खलन एवं यौन समस्याओं के लिए विभिन्न शास्त्रोक्त एवं पेटेंट फार्मूलेशन का निर्माण किया जाता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *