mahilao ke rog, Uncategorized

महिला गुप्तांग के ढीलेपन का प्रमाणिक उपाय – जरुर आजमाए

महिला गुप्तांग के ढीलेपन का प्रमाणिक इलाज / उपचार

 

 

वैवाहिक जीवन में आनंद और खुशियों के लिए जरुरी है की पति और पत्नी दोनों का स्वास्थ्य अच्छा हो | अगर दोनों में से कोई एक भी अस्वस्थ है अर्थात यौन दुर्बलता या यौन रोग से ग्रषित है तो वे अपना वैवाहिक जीवन सुखपूर्ण नहीं जी सकते | इसके कई कारण हो सकते है जैसे – पुरुषो की नपुंसकता , धातु दुर्बलता , वीर्य दोष आदि तो वहीँ महिलाओं के भी बहुत से रोग है जिनसे वैवाहिक जीवन पर असर पड़ सकता है | इसी कड़ी में एक प्रमुख कारण है महिलाओं की गुप्तांगो का ढीलापन |

महिलाओं की योनी के ढीलेपन के कारण

अत्यधिक सहवास , अप्राकृतिक एवं गलत आसनों में अति वेग से सहवास करने के कारण महिलाओं के गुप्तांगो में ढीलापन आ जाता है | इसके आलावा अधिक प्रसव , शरीर की कमजोरी के कारण भी महिलाओं का योनी मार्ग ढीला, पोला और विस्तीर्ण हो जाता है जिससे सहवास में आनंद नहीं आता एवं पुरुष की रूचि महिला में कम होने लगती है |

महिलाओं के गुप्तांगो के ढीलेपन में करे ये उपचार

1. भांग को कूट कर महीन चूर्ण बना ले | भांग के 5 से 6 ग्राम चूर्ण को साफ़ एवं महीन मलमल के कपडे में बांध कर पोटली बना ले और ऊपर से धागे से टाइट बांध कर धागे के एक सिरे को लम्बा छोड़ दे | रात्रि में सोते समय इस पोटली को पानी में भिगोकर गीला कर ले और अपनी योनी में अन्दर तक सरका कर रख ले | सुबह उठते ही इस पोटली को योनी से बाहर निकाल दे | इस नुस्खे का प्रयोग तब तक करे जब तक आपकी योनी पूर्व की तरह टाइट न हो जाए |

2. माजूफल का चूर्ण 100 ग्राम , मोचरस का चूर्ण 50 ग्राम और और लाल फिटकरी 25 ग्राम – इन तीनो को बताई गई मात्रा में लेकर अच्छी तरह कूट पिस कर महीन चूर्ण बना ले | अब 30 ग्राम खड़े मुंग को 3 कप पानी में उबाले , अच्छी तरह उबलने के बाद पानी को छान कर अलग रख ले | रात्रि में सोते समय रुई के फोहे को इस पानी में भिगो ले और इसके ऊपर बनाया हुआ चूर्ण छिड़क दे , अब इस फोए को अपनी योनी में रखे | जल्द ही योनी तंग और सुद्रिड बनती है |

इन दोनों नुस्खो का प्रयोग योनी के ढीलेपन की समस्या हल न हो जाए तब तक कर सकती है |

धन्यवाद |

About स्वदेशी उपचार

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.