मोटापा घटाना चाहते है तो इस पोस्ट को जरुर पढ़े और इस नुस्खे को अपनी डायरी में नोट करले |

मोटापा कम करने का घरेलु और 100% कारगर उपाय

आज हम आपको मोटापे को कम करने वाले एक बेहतरीन नुस्खे के बारे में बताने जा रहे है जो 100% कारगर है | दैनिक जीवन में हम बहुत सी उट पटांग चीजे खाते है जिससे हमारे शरीर में वसा की मात्रा बढ़ जाती है और परिणाम के रूप में हमे प्राप्त होता है मोटापा, जो जितना नाम से दुखी करता है उससे अधिक होने पर दुखी करता है | मोटापे के कारण आदमी को अन्य रोग भी जल्दी जकड़ लेते है जैसे – मधुमेह, हृदय रोग, श्वास फूलना, अनिद्रा, कैंसर, हाई ब्लड प्रेसर , उदर के रोग, अस्थिभंग, जॉइंट्स में दर्द और मानसिक तनाव आदि |

swadeshiupchar.in

आज की इस पोस्ट में हम रसोई में दैनिक काम आने वाले जीरे के मोटापे पर प्रयोग बताएँगे जो निश्चित ही आपको obesity की समस्या से निजात दिलवाएँगे | जीरा खाने में स्वाद और सुगंध बढाने वाला मसाला है | एक अध्यन के अनुसार जीरा वसा को घटाने में बहुत उपयोगी है , यह वजन कम करने में एक कारगर औषध साबित होता है | इसका उपयोग आप चूर्ण बना कर या जीरे का पानी बना कर इस्तेमाल कर सकते है जो दोनों रूपों में ही बेहतरीन परिणाम देता है |

उपयोग विधि 

1. जीरा पानी बना कर उपयोग में लेना 

रात्रि में सोते समय दो चम्मच जीरे को एक गिलास पानी में भिगो दे | सुबह इस पानी को अच्छी तरह उबाल कर चाय की तरह पि जावे | बचे हुए जीरे को भी चबा – चबा कर खा ले यह आपके शरीर में स्थित अनावश्यक चर्बी को गला कर बहार निकाल देगा | इस विधि का प्रयोग 15 दिन तक नियमित करे और फर्क देखे अपने मोटापे में | ध्यान दे इस पेय को पिने के बाद 1/2 घंटे तक कोई खाद्य पदार्थ न ग्रहण करे |

2. दही के साथ 

100 ग्राम जीरे को पिस कर इसका चूर्ण बना ले , अब रोज सुबह ताजा दही में 5 ग्राम की मात्रा में इस जीरे चूर्ण को मिला कर खा जावे | यह प्रयोग भी 15 – 20 दिन तक कर सकते है |इससे आपकी पाचन क्रिया भी ठीक होगी एवं अतिरिक्त चर्बी भी शरीर से बाहर निकल जावेगी |

3. अदरक और निम्बू के साथ प्रयोग 

अदरक और निम्बू का रस निकल ले और इस रस को जीरे के पानी में  मिला कर सेवन करे | जीरे के पानी में अदरक और निम्बू मिलाने से यह और गुणकारी हो जाता है जो चर्बी को जल्द ही गला कर शरीर से बाहर निकल देता है |

इस नुस्खे का आप नियमित 15 या 20 दिन तक  सेवन करे और फर्क देखे | जीरा वैसे भी पाचक गुणों से बरपुर होता है अत: जीरे के सेवन से पाचन शक्ति भी मजबूत बनती है , गैस की समस्या , अपच , बदहजमी , पेट दर्द आदि में भी जीरा फायदा पंहुचता है | हाई ब्लड प्रेसर और हार्ट के रोगी को भी इसका इस्तेमाल करना चाहिए क्योकि जीरा ख़राब कोलेस्ट्रोल को शरीर से बाहर निकलता है जिसके कारण हार्ट अटैक की समस्या से भी बचा जा सकता है |

धन्यवाद |

Related Post

अपामार्ग (चिरचिटा) क्या है || जाने इसका सम्पूर्ण प... अपामार्ग / Apamarg (Achyranthes aspera Linn.) भारत में वर्षा ऋतू के साथ ही बहुत सी वनौषधियाँ पनपने लगती है | अपामार्ग जिसे चिरचिटा, चिंचडा या लटजीरा ...
तुलसी ( ocimum sanctum ) – अनेक रोगों की एक ... तुलसी (Ocimum Sanctum) update on - 08/11/2017 तुलसी एक दिव्या पौधा है जो भारत के हर घर में मिलजाता है | भारतीय संस्कृति में तुलसी का बहुत महत्वपूर...
अविपत्तिकर चूर्ण को बनाने की विधि एवं इसके उपयोग /... अविपत्तिकर चूर्ण - हाइपर एसिडिटी एवं अजीर्ण रोग में आयुर्वेद पद्धति का सबसे विश्वनीय चूर्ण है | अधीक अम्लीय पदार्थो के सेवन एवं आहार में अम्लता की अधि...
जायफल (Myristica officinalis) के स्वास्थ्य लाभ, फा... जायफल / जातिफल (Myristica officinalis) जायफल के वृक्ष समुद्री तटों पर अधिक होते है | सिंगापूर, श्रीलंका, सुमात्रा, मलाया आदि द्वीपों पर जायफल के वृ...
Content Protection by DMCA.com