अदरक (Zingiber officinale)

अदरक ( आर्द्रक ) का अर्थ है – नमी की रक्षा करने वाली | अदरक जिन्जिबेरेशी कुल का पौधा है | ज्यादातर यह उष्णकटीबंध या शीतोष्ण कटिबंध में पाया जाता है | भारत में यह बंगाल , बिहार , यूपी , मध्यप्रदेश , चेन्नई  और पंजाब में पाया जाता है |

 

ज्यादर इसका उपयोग मसाले के रूप में किया जाता है | लेकिन इसके गुण धर्म मसाले से बढ़ कर है | हम सिर्फ इसका उपयोग चाय बनाते समय या खांसी – जुकाम होने पर ही करते है | आज हम आप को बताएँगे अदरक के 15 लाभ जिनको जान कर आप भी अदरक का उपयोग करने लगेंगे |

अदरक के 15 स्वास्थ्य लाभ

अदरक की एक गाँठ पीसकर उसमे थोडा सा निम्बू निचोड़ ले | अब इसमे चुटकी भर सेंधा नमक डाल ले | इसको खाना खाने से पहले खा ले | आपकी पाचन क्रिया ठीक होगी और अजीर्ण की समस्या से छुटकारा मिलेगा |

2. अपच

भोजन के बाद एक चम्मच अदरक के रस में सेंधा नमक डाल कर लेने से भोजन शीघ्र पच जाता है | अपच की समस्या भी जाती है |

3. आफरा

5-5 ग्राम अदरक और निम्बू का रस शहद में मिला कर दिन में चार बार सेवन करे | आफर दूर हो जायेगा |

4. गठिया

अदरक की चार – पांच गांठो के छोटे – छोटे टुकडे कर ले | अब इसे देशी घी में भुन ले | भोजन से पहले दो गांठे चबाकर खाए | सोंठ के 20 ग्राम चूर्ण को तिल के तेल में पकाकर गठिया वाले जोड़ो पर मालिश करे | दोनों प्रयोगों को 40 दिन तक करने पर गठिया रोग चला जाता है |

 

5. फ्लू

एक गांठ अदरक , चार पतिया तुलसी ,और 5 दाने कालीमिर्च – इन सब को लेकर इनका काढ़ा बना ले |इस काढ़े का सुबह – शाम सेवन करे फ्लू ठीक हो जायेगा |

 

6. पेट दर्द

अदरक , कालीमिर्च , हिंग,तथा सेंधा नमक की चटनी बना कर इसका सेवन करे पेट दर्द में आराम मिलेगा |

 

7. उल्टी

अगर उल्टी हो रही हो तो – एक गांठ अदरक , 10 ग्राम अनारदाना , दो दाना मुन्नका और थोड़ी सी मिश्री  इनसब पिसकर निम्बू के रस में मिलाकर चटाने से उलटी रुक जाती है |

 

8. अम्लपित

सुखा धनिया और सोंठ दोनों को समान मात्रा में लेकर इनको कूटकर चूर्ण बना ले | इस चूर्ण से दिन में एक बार काढ़ा बना कर सेवन करे | आपके अम्लपित की समस्या चली जाएगी |

 

9. आंतो में पीड़ा

आंतो में मल सुख जाने से पीड़ा शुरू हो जाती है | एसी हालत में 2 ग्राम सोंठ , 2 ग्राम हिंग और 3 ग्राम कालीमिर्च – इन तीनो को पिस कर चूर्ण बना ले | इस चूर्ण का सेवन खाना खाने के बाद दोपहर और रात में सोते समय करे | आंते साफ़ होगी और होने वाली पीड़ा से मुक्ति मिलेगी |

 

10. कमर दर्द

सोंठ के चूर्ण को पानी में मिला कर इसका लेप बना ले और इस लेप को कमर पर लगावे |

 

11. कान्दर्द

अगर कान में दर्द हो रहा हो तो अदरक के रस को गरम करके इसकी दो बुँदे कान में डाले | आराम मिलेगा |

 

12. खुजली

प्रतिदिन रोति के साथ अदरक की चटनी का सेवन करे खुजली चली जाएगी |

 

13. खांसी

अदरक का रस और शहद को साथ मिलाकर चाटने से खांसी चली जावेगी | अगर खांसी की समस्या ज्यादा हो तो छोटा सा अदरक का टुकड़ा मुंह में रख कर चुसे तुरंत आराम मिलेगा |

 

14 . दमा

अदरक का रस और बंसा का रस बराबर की मात्रा में लगातार कुछ दिनों तक चाटने से दमा का रोग ठीक हो जाता है |

 

15. दस्त

एक कप पानी में 5 ग्राम अदरक को कूट कर चूल्हे पर चढ़ा दे | जब पानी अध रह जावे तब उतर कर ठंडा करके इसमें थोडा सा सेंधा नमक मिलाकर पिजावे | दस्त रुक जावेगे |

 

धन्यवाद 

Team – Swadeshi Upchar

adarak
adarak ke fayde
adarak ke labh
adarak
Zingiber officinale

Zingiber officinale – adarak – desi nuskhe – gharelu nuskhe

Content Protection by DMCA.com
Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Shopping cart

0

No products in the cart.