फटे पैरों के उपचार के लिए आसान घरेलू नुस्‍खे

Deal Score0
Deal Score0

फटे पैरों के उपचार के लिए आसान घरेलू नुस्‍खे 

अगर पैरों की देखभाल अच्छे तरीके से न किया जाए तो पैर फट जाते हैं। नंगे पैर चलने के कारण या फिर खून की कमी से पैर फटते हैं। अगर आप पैरों की सफाई पर ध्यान नहीं देते हैं तो एड़ियां फट जाती हैं और उनमें दरारे आ जाती हैं। उसे बिवाई भी कहते हैं।

अगर किसी के पैर फट जाते हैं तो वह बहुत गंदा लगता है। अक्सर लोगों को फटे पैरों के कारण शर्मिंदा भी होना पड़ता है। एड़ियां फटने के बाद उनकी देखभाल न की जाए तो खून निकलने लगता और बहुत दर्द होता है। आइए हम आपको फटे पैरों के लिए कुछ घरेलू उपचार (Gharelu Nuskhe) के बारे में बताते हैं।

फटी एड़िया

फटे पैरों के लिए घरेलू उपचार

अमचूर का तेल 50 ग्राम, मोम 20 ग्राम, सत्यानाशी के बीजों का पावडर 10 ग्राम और 20 ग्राम शुद्ध घी ले लीजिए। इन सबको मिलाकर एक जार में डाल दीजिए। सोते समय पैरों को धोकर साफ कर लें और पोंछकर यह दवा बिवाई में भर दें और मोजे पहनकर सो जाइए।

त्रिफला चूर्ण को खाने के तेल में तलकर मलहम जैसा गाढ़ा कर लीजिए। रात में सोते वक्त इस पेस्ट को फटे पैरों पर लगा लीजिए। कुछ दिनों तक इस लेप को लगाने से फटी एड़ियां ठीक हो जाएंगी और पैर कोमल होंगे।

रात में सोने से पहले पैरों को अच्छी तरह से साफ कर लीजिए। उसके बाद कच्चे घी में बोरिक पाउडर मिलाकर दरारों में भर दीजिए। उसके बाद मोजे पहनकर सो जाइए। ऐसा 3-4 दिन करने पर फटी हुई एड़ियां ठीक हो जाएंगी।

एड़ियों के फटने पर आम के कोमल और ताजे पत्तों को तोडने से निकलने वाले द्रव को घावों पर लगा दीजिए। ऐसा करने से बहुत जल्दी फायदा होता है और फटी एड़ियां ठीक हो जाती हैं।

गेंदे के पत्तों के रस को वैसलीन में मिलाकर लगाने से फटी एड़ियां ठीक हो जाती हैं।

कच्चा प्याज पीसकर एड़ियों पर बांधने से बिवाईयां ठीक हो जाती हैं।

पैरों को गर्म पानी से धुलकर उसमे एरंड का तेल लगाने से फटी एड़ियां ठीक हो जाती हैं।

देशी घी और नमक को मिलाकर फटी एड़ियों पर लगाएं। ऐसा करने से फटी एड़ियां ठीक हो जाती हैं और पैरों की त्वचा भी कोमल रहती है।

मोम और सेंधानमक मिलाकर फटी एड़ियों पर मलने से बिवाईयां ठीक हो जाती हैं।

पपीते के छिलकों को सुखाकर और पीसकर चूर्ण बना लीजिए। इस चूर्ण में ग्लिसीरीन मिलाकर दिन में दो बार फटी हुई एड़ियों में लगाने से बहुत जल्दी फायदा होता है।

जब एड़ियों से खून निकल रहा हो तो उनको रात में गर्म पानी से धुलकर उनमें गुनगुना मोम लगाने से खून निकलना बंद हो जाता है और फटी एड़ियां ठीक हो जाती हैं।

जब एड़ियां फट गई हो तो नंगे पैर जमीन पर चलने से परहेज करना चाहिए और पानी में ज्यादा देर तक पैरों को नहीं भिगोना चाहिए। अगर इन नुस्खों (Gharelu Nuskhe) को आजमाने के बाद भी फायदा न हो तो चिकित्सक से संपर्क कीजिए।

धन्यवाद 
Team – स्वदेशी उपचार 
Credit – डॉ  विजेन्द्र शर्मा 

Avatar

स्वदेशी उपचार आयुर्वेद को समर्पित वेब पोर्टल है | यहाँ हम आयुर्वेद से सम्बंधित शास्त्रोक्त जानकारियां आम लोगों तक पहुंचाते है | वेबसाइट में उपलब्ध प्रत्येक लेख एक्सपर्ट आयुर्वेदिक चिकित्सकों, फार्मासिस्ट (आयुर्वेदिक) एवं अन्य आयुर्वेद विशेषज्ञों द्वारा लिखा जाता है | हमारा मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से सेहत से जुडी सटीक जानकारी आप लोगों तक पहुँचाना है |

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      Logo
      Compare items
      • Total (0)
      Compare
      0