Category: yoga

प्राणायाम 0

प्राणायाम – क्या है ? इसके प्रकार , लाभ, अवस्थाएँ एवं सावधानियां |

प्राणायाम / Pranayama अष्टांग योग में प्राणायाम का एक विशेष स्थान है | अष्टांग योग के चतुर्पद में “प्राणस्य आयाम: इति प्राणायाम:” लिखा है , इसका अर्थ है की प्राण का विस्तार ही प्राणायाम...

शीर्षासन 0

शीर्षासन / Shirshasana – विधि , फायदे एवं सावधानियां |

शीर्षासन / Shirshasana योगासनों में सबसे अधिक उपयोगी और फायदेमंद आसन है शीर्षासन | इसीलिए इस आसन को आसनों का राजा भी कहा जाता है | भले ही यह करने में थोडा कठिन हो...

पेट कम करने के लिए योगासन 0

पेट की चर्बी कम करने वाले 7 योगासन – पेट कम करने के लिए योगासन

पेट कम करने के लिए योगासन वर्तमान समय की बदली हुई जीवन शैली और शारीरिक श्रम की कमी के कारण मोटापा एक बड़ी समस्या बन कर उभरा है | पेट कम करने के लिए...

पश्चिमोत्तानासन 0

पश्चिमोत्तानासन – कैसे करे ? इसकी विधि, लाभ और सावधानियां |

पश्चिमोत्तानासन  पश्चिमोत्तानासन दो शब्दों से मिलकर बना है – पश्चिम + उत्तान | यहाँ पश्चिम से तात्पर्य है पीछे की और उत्तान का अर्थ होता है – शरीर को तानना | अत: इसका शाब्दिक...

मुर्गासन 0

मुर्गासन / मुर्गा-आसनात्मक क्रिया – विधि , लाभ और सावधानियां |

पहले स्कुलों में विद्यार्थियों को मुर्गा बनाया जाता था और आज भी यह क्रिया बहुत सी स्कुलों मे विद्यार्थियों को दण्ड देने के लिए अपनाई जाती है। जी हाँ यह वही मुर्गा बनने का...

धनुरासन 0

धनुरासन – करने की विधि, लाभ और सावधानियां

धनुरासन धनुरासन का अर्थ होता है धनुष के समान। धनुर और आसन शब्दों के मिलने से धनुरासन बनता है। यहां धनुर का अर्थ है धनुष। इस आसन में साधक की आकृति धनुष के समान...

उतानपादासन 0

उतानपादासन – विधि, फायदे और सावधानियां

योग चिकित्सा में बहुत से आसन है जो स्वास्थ्य की दृष्टि से अतिमहत्वपूर्ण है और जिन्हे हर प्रकार के लोग कर सकते हैं एवं सावधानियां भी कम रखनी पड़ती हैं। इन्ही आसनों में उतानपादासन...

भुजंगासन 0

भुजंगासन – विधि , सावधानियां और फायदे

भुजंगासन भुजंगासन दो शब्दों से मिलकर बना है – भुजंग + आसन । भुजंग का अर्थ होता है नाग या सर्प। इस आसन की आकृति फन उठाये सांप की तरह होती है इसीलिए इसे...

गोमुखासन 0

गोमुखासन – गोमुखासन करने की विधि , प्रकार और फायदे

गोमुखासन  गोमुखासन का अर्थ है गाय के मुख के समान आकृति वाला आसन। इस आसन में गाय के मुहं के समान एक सिरे पर पतला और दूसरे सिरे पर चैड़ा जैसी आकृति बनानी पड़ती...

सर्वांगासन 0

सर्वांगासन – विधि , फायदे और सावधानियां

सर्वांगासन परिभाषा- सर्वांगासन शब्द का संधि विच्छेद करने पर यह सर्व+अंग+आसन से मिलकर बना है। सर्व का अर्थ होता है सभी या पूरा और अंग का अर्थ हम शरीर से लेते हैं तो इसका...