Category: ayurveda

0

अतिस – एक चमत्कारिक औषधि | अतिस के फायदे

अतिस – एक चमत्कारिक औषधि  बच्चो के पाचन संस्थान एवं श्वसन संस्थान की यह एक उत्तम औषधि है , जो हिमालय क्षेत्र में पायी जाती है | इसका क्षुप 1 से 3 फुट ऊँचा...

0

शरपूंखा (प्लीहा शत्रु ) – सामान्य पारिचय एवं औषध उपयोग

शरपूंखा / Tephrosia purpurea pers शरपुन्खा सर्वत्र भारत में पाया जाता है | यह मटर के प्रजाति का पौधा है जो क्षुप रूप में 1 से 3 फुट तक ऊँचा होता है | यह...

0

प्रवाल (मूंगा) क्या है ? – प्रवाल पिष्टी के स्वास्थ्य लाभ

प्रवाल (मूंगा) / Corallum Rubrum आयुर्वेद में इसे जान्तव द्रव्यों में स्थान दिया गया है | वस्तुत: प्रवाल एक सामुद्रिक शैल ( चट्टान ) है जो एक विशेष समुद्री जीवो द्वारा छोड़े गए कैल्शियम...

0

Leech Therapy / जोंक थेरेपी – रक्त विकारो में है अचूक

Leech Therapy – जोंक थेरेपी  भारत में प्राचीन समय से ही जोंक थेरेपी से इलाज किया जाता रहा है | प्राचीन समय में रक्त विकारो को दूर करने के लिए रक्तमोक्षण की विधि अपनाई...

0

शिरोधारा एक प्राकृतिक मैडिटेशन – शिरोधारा से मिटाए अपने रोग |

शिरोधारा / Shirodhara  शिरोधारा मुख्यतया धाराक्रम का एक भाग है, जिसे आयुर्वेद शास्त्रों में शिरोसेक के नाम से भी जाना जाता है | आयुर्वेद चिकित्सा में उर्ध्व्जत्रूगत (गर्दन से ऊपर ) रोगों में लाभ...

0

मकोय : परिचय एवं चमत्कारिक स्वास्थ्य लाभ

मकोय का परिचय लगभग सम्पूर्ण भारत में पायी जाने वाली वनस्पति है जो अधिकतर आद्र और छायादार जगहों पर उगती है, इसके पौधे की अधिकतम लम्बाई 2 से 2.5 फीट तक हो सकती है...

0

भारत की सबसे बड़ी बीमारी – काम वासना | पढ़े इस रोचक आलेख को और सीखे कामवासना से बचने के तरीके

हमारे देश में सबसे ज्यादा कामवासना से पीड़ित व्यक्ति रहते है | यह कोई मजाक नही है है एक रिसर्च के अनुसार भारत में 100 में से 90 व्यक्ति पुरे दिन कामवासना से झुझते...

0

अश्वगंधा के फायदे : ashwagandha benefits

अश्वगंधा के फायदे / ashwagandha benefits in hindi अश्वगंधा ( Withania somnifera ) – भारत में समशीतोष्ण प्रदेशो में अश्वगंधा के पोधे अधिकतर मिलते है | राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, उत्तरप्रदेश आदि राज्यों में अश्वगंधा बहुतायत...

0

आयुर्वेद Ayurveda : आयुर्वेद की परिभाषा , आयु के प्रकार, अवतरण और आयुर्वेद के अंग

आयुर्वेद – What is Aayurveda  आयुर्वेद की व्यख्या बहुत से  विचारको के  द्वारा अलग – अलग की गई है | कुछ विचारको ने चरक, सुश्रुत और वाग्भट्ट की संहिताओ में उल्लेखित अंश को ही...

0

गेंहू के जवारे : कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी को ठीक करने वाला देशी पेय

गेंहू के बिज को जब मिटटी में बोया जाता है तो कुछ दिनों में जो छोटी – छोटी घास निकलती है वही गेंहू के ज्वारे कहलाते है अर्थात गेंहू के अंकुरित बिज ही जवारे...